बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

आईपीएस दया शंकर के पटना समेत कुल 7 ठिकानों पर एसवीयू की रेड, आय से अधिक 71 लाख 42 हजार के सबूत,पूर्णिया के एसपी है दया शंकर कोर्ट से सर्च वारंट मिलने के बाद एसवीयू की कार्रवाई, भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत FIR दर्ज़

521

पटना Live डेस्क। बिहार में भ्रष्टाचार के खिलाफ एक वरीय आईपीएस अधिकारी के नेतृत्व में शुरू किए गए मिशन क्लीन ने अबतक सरकारी महकमों में बैठे उन तमाम काली भेड़ों को लगातार बेनक़ाब किया है जो कहलाते लोकसेवक है पर इनका एक ही मकसद रहा कि धनसेवन में मुल्लवीज़ रहें। इन्ही सरकारी  महाभ्रष्टाचारियों और भष्मासुरों के खिलाफ पुनः एक बार फिर से आम आदमी की उम्मीदों विश्वास के रहबर और घूसखोरों व भ्रष्टाचारियों के काल वरीय आईपीएस एडीजी नैय्यर हसनैन खां के नेतृत्व में एसवीयू ने पूर्णिया के एसपी दया शंकर के मिली जानकारी के अनुसार 7 ठिकाने पर एक साथ रेड किया हैं। आईपीएस दया शंकर के यहां आय से अधिक 71 लाख 42 हजार रूपये के सबूत मिले है। एसवीयू ने भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज कर कोर्ट से सर्च वारंट मिलने के बाद कार्रवाई किया हैं।

सरकारी महकमे में भ्रष्टाचार के मामले पर बिहार में एक और अधिकारी के ऊपर गाज गिरी है। आय से अधिक संपत्ति मामले में पूर्णिया के एसपी दया शंकर इस बार घिरे हैं। मंगलवार को निगरानी की विशेष टीम एसपी आवास पर पहुंची।छापेमारी टीम में बिहार मिलेट्री और बिहार सशस्त्र पुलिस के जवान भी शामिल हैं। विजलेंस की टीम ने अंदर जाकर छापेमारी की है।

यह रेड पूर्णिया में एसपी के सरकारी आवास समेत दो अन्य जगहों पर छापेमारी चल रही है। पुलिस लाइन में भी ईओयू की टीम पहुंची है और रेड मारा है। वहीं सदर थाना के थानाध्यक्ष के किराये के मकान में छापेमारी की गयी है।आय से अधिक संपत्ति मामले में ये कार्रवाई की गयी है।

मिली जानकारी के अनुसार, पूर्णिया में एसपी आवास के साथ-साथ पुलिस लाइन में भी रेड मारा गया है। पुलिस लाइन में एसपी के गोपनीय शाखा के कॉन्स्टेबल सावन कुमार के सरकारी आवास में छापेमारी करने टीम पहुंची। वहीं पूर्णिया के सदर थाना के थानाध्यक्ष के किराये के मकान में भी विजलेंस की टीम ने रेड मारा है। ऐसी जानकारी सामने आ रही है कि स्पेशल विजिलेंस यूनिट के अलावा आर्थिक अपराध इकाई की टीम भी इस कार्रवाई में शामिल है।पूर्णिया एसपी के सरकारी आवास में एसयूवी की टीम तो पटना के ठिकानों पर आर्थिक अपराध इकाई की टीम छापेमारी कर रही है।

बिहार कैडर के 2016 बैच के आईपीएस अधिकारी दया शंकर वर्त्तमान पुर्णिया पुलिस अधीक्षक के पद पर तैनात है। दयाशंकर अबतक सूबे के 3 जिलो में बतौर एसपी तैनात रह चुके है। जिलो में इनकी तैनाती के दौरान इनकी विवादित कार्यशैली और तमाम भ्रष्टाचार की शिकायतें मिलती रही हैं।

एसवीयू में मिल रही शिकायतें के बाद एडीजी नैय्यर हसनैन खां ने एक जांच टीम गठित किया था। जांच में यह पुष्टि हुई की आईपीएस दया शंकर ने कई चल -अचल सम्पत्ति बनाया है जो इनके आय श्रोत से अधिक हैं।

प्रथम दृष्टा में यह मामला भ्रष्टाचार से जुड़ा और आय से अधिक पाया गया है। प्राथमिक जांच में 71 लाख 42 हजार के सबूत एसवीयू के हाथ लगा हैं । कोर्ट से सर्च वारंट मिलने के बाद एसवीयू की टीम ने मंगलवार के सुबह से ही पूर्णिया एसपी दया शंकर के पटना स्थित घर आदी जगहों पर रेड किया हैं । जो देर तक चलने की सम्भावना है, इनसे जुड़े लोग और भ्रष्टाचार में साथ देने वाले से ही एसवीयू की टीम पूछताछ कर सकती है। देखा जाएं तो लंबे समय के बाद बिहार के किसी आईपीएस के ठिकाने पर रेड हो रही है। एसवीयू के कार्रवाई के बाद भ्रष्ट पुलिस पदाधिकारियों में हलचल हो गया है

Comments are closed.