बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News-राजधानी की सड़क पर तेजश्वी यादव के भाई को रगेद रगेद के दागी ताबड़तोड गोलियां, फूटा कार का शीशा बाल बचे रणधीर यादव

529

पटना Live डेस्क। सूबे के मुखिया नीतीश कुमार राज्य में पहले सुशासन और अब जनताराज का दावा करते है। लेकिन बेलगाम अपराधियों की गरजती बन्दूकों ने सूबे को पुनः एक बार खौफ़जदा करना शुरू कर दिया है। वही कानून व्यवस्था से जुड़े विपक्ष के दावों और सवालों को अमूमन सीएम और डिप्टी सीएम तेजश्वी यादव को सियासी कह कर नकार देते है। लेकिन हक़ीक़त का तफ़सरा करें तो सुदूर जिलो की क्या बात की जाए जब सरकार की नाक के नीचे राजधानी में अपराधियों ने कोहराम मचा रखा है और पुलिस महज बयानबाजियों में सुरक्षित पटना का दावा पेश कर फ़ारिग हो जाती है। पूरी तरह बेक़ाबू और बेख़ौफ़ अपराधी न दिन देखते है न रात न सुबह न शाम जब मर्जी तब धाय धाय यह महज कयास नही वो सच्चाई है जिसके भुक्तभोगी सूबे के डिप्टी सीएम तेजश्वी यादव के सगे ममेरे भाई रणधीर यादव बने जब वो अपने ससुराल से वापस पटना वाया जेपी सेतु से अटल पथ होते हुए लौट रहे थे। मामले में रणधीर ने पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई है। पुलिस अनुसंधान में जुटी है। पुलिस वारदात स्थल के आसपास समेत उस रूट के सीसीटीवी फुटेज खंगालने में जुटी है।

डिप्टी सीएम के सगे मामा है सुभाष यादव

दरअसल,रणधीर यादव बिहार के डिप्टी सीएम तेजश्वी यादव के सगे मामा पूर्व राज्यसभा सांसद सुभाष यादव के बेटे है। रिश्ते में डिप्टी सीएम के ममेरे भाई रणधीर पर राजधानी की सड़क पर अपराधियों ने फायरिंग की है। इस घटना में रणधीर यादव बाल-बाल बच गए हैं। हालांकि उनकी कार क्षतिग्रस्त हो गई है। विगत लंबे समय भांजे डिप्टी सीएम और मामा सुभाष यादव के परिवार में संबंध अच्छे नही और दोनों परिवारों में रिश्ते सहज भी नही है।

कब कहा कैसे हुई रणधीर पर फायरिंग

राजधानी की सड़क पर रणधीर पर फ़ायरिंग की यह घटना उस वक्त हुई जब वो वैशाली जिले के महुआ स्थित अपने ससुराल से एयरपोर्ट थाना इलाके के विधायक कॉलोनी स्थित अपने आवास लौट रहे थे। बकौल रणधीर के अपनी कार में सवार होकर वो जेपी सेतु को पार कर अटल पथ की ओर आगे बढ़े थे। तभी बेहद तेजी से दौड़ रही एक कार और रणधीर की कार आपस मे टकराने से बाल बाल बची। इस परवाह किए बगैर उक्त कार तेज रफ्तार से आगे निकल गई।

खैर,दुर्घटना से बचकर जब रणधीर की गाड़ी अटल पथ से होकर विधायक कॉलोनी स्थित आवास की ओर बढ़ी तो वो कार जिससे टक्कर होते होते रह गई को ओवरटेक कर आगे निकल गई। फिर तो उक्त कार में सवार अपराधियों ने रणधीर की कार को रगेद दिया और फिर दनादन फायरिंग कर दी। इस हमले में रणधीर बाल बाल बच गए लेकिन कार का पिछला शीशा भी टूट गया। रणधीर के मुताबिक अपराधियों ने उनकी गाड़ी के ऊपर ताबड़तोड 4-5 गोलियां दागी।

Comments are closed.