बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News-DM साहब तो फेमस हो गए आइए जानते है काहे? दरअसल मेंम साहब दीपावली की शॉपिंग करने गई थी फिर…

डीएम साहब की पत्नी पहुची शॉपिंग करने,लाव लश्कर साथ था,दुकानदार से किसी बात को लेकर बात तू तू मैं मैं हो गई, मेम साहब भड़की तो दुकानदार समेत अन्य स्टाफ को जमकर कूट दिया गया,जेल भी जाना पड़ा,यूपी पुलिस ने CCTV लेकर अपने पास रख लिया,6 मोबाइल भी ज़ब्त कर लिए ताकि वीडियो मीडिया तक न पहुँचे,मतलब बुझे?

772

पटना Live डेस्क। 2014 बैच के IAS अधिकारी व पहली बार जिलाधिकारी के तौर पर तैनात मूल रूप से बिहार निवासी एक डीएम साहब को पत्नी की शॉपिंग ने जमकर सोशल मीडिया पर Viral कर दिया है।हुआ यूं कि दीवाली से एक दिन पहले (बुधवार) को मेम साहेब शॉपिंग करने गई,एक दुकानदार मैडम के प्रोटोकॉल को समझ नही पाया और उन्हें नाराज़ कर बैठा,फिर तो मेम साहब का गुस्सा सातवें आसमान पर आ गया नतीजतन दुकानदार समेत अन्य स्टाफ को जमकर कूट दिया गया। डीएम साहब की पत्नी का मामला था पुलिस भी जांबाजी दिखाने को आतुर दिखी पुनः एक बार दुकानदार और स्टाफ की मेहमान नवाजी करते हुए न केवल जेल जाना पड़ा बल्कि पुलिस ने मामले को मीडिया से दूर रखने ख़ातिर दुकान की CCTv का हार्ड डिस्क व DVR लेकर अपने पास रख लिया साथ ही सुताई के दौरान सभी 6 मोबाइल भी ज़ब्त कर लिए। लेकिन बात निकली तो दूर तक यानी पटना Live तक आ पहुची।

उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद के जिला अधिकारी की पत्नी होने का धौंस दिखाने वाला एक मामला खूब चर्चा का विषय बना हुआ हैं। दरअसल फिरोजाबाद के जिलाधिकारी रवि रंजन की पत्नी बुधवार को शॉपिंग के लिए गई हुई थी। इस दौरान सामान गाड़ी में रखवाने को लेकर उनकी दुकानदार के साथ नोकझोक हो गई थी। जिसके बाद उन्होंने और उनके साथ मौजूद पुलिस कर्मियों ने दुकानदार के साथ बदतमीजी की और पिटाई भी की। साथ ही साथ दुकान में लगे CCTV कैमरे और पूरे स्टाफ के मोबाइल भी साथ ले गए।

रवि रंजन बिहार से हैं …

विगत 4 महिने पूर्व ही फिरोजाबाद के जिलाधीश बनकर आए 2014 बैच आईएएस अधिकारी रवि रंजन की बतौर डीएम यह पहली तैनाती है। रवि रंजन मूल रूप से बिहार के गया ज़िले के निवासी है।

IIT खड़गपुर के छात्र रहे रवि रंजन फिरोजाबाद के जिलाधिकारी के रूप में कार्यभार ग्रहण करने से पहले मिर्जापुर में ट्रेनिंग के बाद बतौर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट 2016 से 2018 तक आजमगढ़ में तैनात रहे हैं। डेढ़ साल जिसमें अप्रैल 2018 से अक्टूबर 2019 तक वह लखीमपुर खीरी में सीडीओ के पद पर तैनात रह चुके हैं। 14 अक्तूबर 2019 को यूपी शासन ने उन्हें नगर आयुक्त बनाकर प्रयागराज भेजा था। वहाँ ढाई वर्ष का कार्यकाल बतौर नगर आयुक्त प्रयागराज में रहा है। फिरोजाबाद में में बतौर जिलाधिकारी आईएएस महोदय की पहली तैनाती है।

मेमसाहब का गुस्सा DM साहब हो गए फेमस

घटना की जानकारी जैसे स्थानिए थाना को हुई आनन फानन में पुलिस का अमला पहुचा। मामला डीएम साहब की पत्नी का मामला था पुलिस नेलभी जांबाजी दिखाने को आतुर दिखी और दुकानदार और पूरे स्टाफ को थाने भी उठा ले गई। पुनः एक बार दुकानदार और स्टाफ की मेहमान नवाजी करते हुए न केवल हाजात में बंद कर दिया। बल्कि पुलिस ने मामले को मीडिया से दूर रखने ख़ातिर दुकान की CCTv का हार्ड डिस्क व DVR लेकर अपने पास रख लिया साथ ही सुताई के दौरान सभी 6 मोबाइल भी ज़ब्त कर लिए। साथ ही पुलिस ने उस दुकान के खिलाफ केस में दर्ज किया हैं।

              इस घटना की जानकारी मिलते ही दुकानदार भड़क उठे, जिसके बाद गुस्साए व्यापार मंडल ने भी इस केस में नाराजगी जताई है।अभीतक जिलाधिकारी का कोई बयान सामने नहीं आया हैं। न उन पर कोई एक्शन लिया गया है। लेकिन मैडम की शॉपिंग ने अपने पति DM फिरोजाबाद को खबरों के फर्स्ट पेज पर तो ला ही दिया है।

Comments are closed.