बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG Breaking(वीडियो)पटना में बेखौफ अपराधियों ने अपार्टमेंट की गेट पर इंडिगो एयरलाइन्स के मैनेजर को मारी ताबड़तोड़ कई गोलियां मौत

राजधानी में अपराधियों का तांडव पुनाईचक स्थित कुसुम वीला अपार्टमेंट निवासी इंडिगो एयरलाइन्स के स्टेशन हेड पर गोलियों की बौछर। बाइक सवार अपराधियों ने मारी ताबड़तोड़ कई गोलियां। सियासी गलियारों से लेकर पुलिस महकमें में मचा कोहराम

8,370

पटना Live डेस्क।राजधानी के पुनाईचक के मोहन नगर में पटना एयरपोर्ट से अपनी ड्यूटी खत्म कर अपनी कार से कुसुमविला अपार्टमेंट स्थित घर लौटे इंडोगो एयरलाइन्स के स्टेशन हेड रूपेश सिंह को अपराधियों ने अंधाधुन्ध गोलियां मारकर मौत के घाट उतार दिया है। अपार्टमेंट के बेसमेन्ट में कार पार्क करने ख़ातिर जैसे गेट पर हॉर्न बजाया काली बाइक पर सवार अपराधियों ने अचानक ड्राइविंग सीट पर बैठे रूपेश पर ताबड़तोड़ गोलियों की बौछार कर दिया। अचानक धाय धाय से घबराए लोग बाग जब तक उस ओर दौड़े तब तक अपराधी वारदात को अंजाम देकर फरार हो चुके थे। हत्या के वक्त अपार्टमेंट का गार्ड नहीं था।जिसका फायदा उठाते हुए अपराधियों ने आराम से चलते बने।

गोली लगने के बाद आनन-फानन में उन्हें पास के पारस अस्पताल में ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। घटना उस समय हुई जब रूपेश ड्यूटी खत्म कर अपने कुसुमविला अपार्टमेंट स्थित फ्लैट आ रहे थे।घटना की सूचना के बाद मौके पर आईजी सेंट्रल,एसएसपी उपेंद्र शर्मा, सिटी एसपी विनय तिवारी समेत कई अधिकारी मौके पर पहुंचे।

मिली जानकारी के अनुसार विगत रविवार को ही रूपेश सपरिवार गोवा से नये साल की छुट्टी मनाकर पटना लौटे थे। वारदात को अंजाम देकर बदमाश मौके से आराम से बाइक से फरार हो गए।सूचना मिलते ही स्थानिए शास्त्रीनगर थाना पुलिस पहुंची उधर,जख्मी रूपेश सिंह को अस्पताल में डॉक्टरों द्वारा मृत घोषित कर दिया गया।

पुलिस के आलाधिकारी घटनास्थल पहुंचे हैं।पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। रूपेश मूल रूप से छपरा(सारण)जिले के जलालपुर के संवरी गांव निवासी थी। गोलियां उन्हें उनके पुनाईचक मोहल्ले के मोहनपुर स्थित अपार्टमेंट के गेट पर मारी गई।

वही, बकौल एक चश्मदीद के 2 बाइक पर सवार 4 युवक रूपेश के आने से पहले से ही उक्त सड़क पर राउंड लगा मार रहे थे। लेकिन खुरेजी की वारदात को काली बाइक जिसे हेलमेट लगाया युवक चला रहा था के पीछे बैठे युवक ने अंजाम दिया। वो बाइक से उतरा और ड्राइविंग सीट पर बैठे रूपेश पर उसने पूरी मैगजीन खाली कर दी और फिर तेजी से पलटा और बाइक पर सवार होकर फरार हो गए। रूपेश अपनी पत्नी व दो बच्चों के साथ अपार्टमेंट के 303 नंबर फ्लैट में रहते थे।

घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस महकमे से लेकर सियासी गलियारों तक में हड़कंप मच गया। विपक्ष ने जहां सरकार पर निकम्मेपन का तोहमत जड़ दिया वही पूर्व सांसद पप्पू यादव शोक संतप्त परिजनों से मिलने पारस हॉस्पिटल पहुच गए।

दरअसल,बेहद व्यवहार कुशल व हरदिल अज़ीज़ रूपेश कुमार सिंह इंडिगो एयरलाइन्स के शुरुआती दौर से ही स्टेशनहेड तौर पर कार्यरत थे। सियासतदान हो या फिल्मी हस्तियां या फिर ब्यूरोक्रेसी के हेविवेट्स या फिर कोई आम आदमी सब से रूपेश बेहद गर्म जोशी से मिलते थे। अचानक मंगलवार की शाम 7 बजकर 15 मिनट पर उनपर गोलियो की बौछर कर उनकी हत्या कर दिए जाने से सभी स्तब्ध है और सभी के जुबान पर बस एक ही सवाल है ऐसा क्यों? ऐसा क्या हुआ?

Comments are closed.