बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News – बख्तियारपुर के लाल 21 वर्षीय कमलेश कश्मीर में शहीद,आतंकियों से लोहा लेते हुए चिर निद्रा में सोया लखनपुरा का वीर

9

पटना Live डेस्क। बिहार की जरखेज माटी के लाल देश की सीमाओं की रक्षा में हँसते हँसते अपने प्राणों को न्यौछावर करते चले आ रहे है। बिहार के बेटों द्वारा कर्तव्य की बलि वेदी पर प्राणों की आहुति देने की अद्वितीय परंपरा में एक और नाम अमरत्व पा गया है। महज 21 साल की उम्र में शहीद हुए कमलेश कुमार उर्फ भोला ने कश्मीर के कुपवाड़ा में आतंकियों से लोहा लेते हुए अपने प्राणों को मुल्क पर कुर्बान कर शहादत पाई।

शहीद कमलेश कुमार उर्फ भोला मूल रूप से बख्तियारपुर के लखनपूरा के रहने वाले थे। पिता अनिल सिंह गांव में ही रहते है। कमलेश ने 14 महिने पूर्व ही सेना में भर्ती होने में सफलता पाई थी। ट्रेनिंग के बाद कुपवाड़ा में कमलेश की पहली पोस्टिंग हुई थी। जैसा उपनाम था भोला बिल्कुल वैसे ही बेहद हसमुख और मिलनसार स्वभाव के थे।

आतंकियों से लोहा लेते हुए कमलेश के शहीद होने की जानकारी सेना द्वारा परिजन को दी गई। खबर मिलते ही कोहराम मच गया परिजनो का रो रो कर बुरा हाल हो गया। वही कमलेश के शहादत की खबर आग की तरह फैल गई और उनके आवास पर लोगो की भीड़ उमड़ पड़ी। पूरे गांव में मातमी सन्नाटा पसर गया। वही मिली जानकारी के अनुसार शहीद कमलेश का शव शनिवार की दोपहर तक गाँव लाये जाने की सम्भवना है। तदुपरान्त उनका अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा।

Comments are closed.