बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News – पिता रामविलास पासवान आईसीयू में एडमिट पर बेटी को दिल्ली आने की मनाही, सोशल मीडिया पर लिखी व्यथा

PM मोदी ने रामविलास पासवान की तबीयत का लिया हाल-चाल, चिराग ने दी जानकारी, सोशल मीडिया बना व्याकुल बेटी आशा पासवान की व्यथा का साझा करने का मंच

852

पटना Live डेस्क।केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की तबीयत खराब है और वह फिलहाल आईसीयू में एडमिट हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रामविलास पासवान की तबीयत के बारे में हाल-चाल लिया है प्रधानमंत्री ने खुद फोन कर रामविलास पासवान की तबीयत के बारे में जानकारी ली है. इतना ही नहीं उन्होंने पासवान का इलाज कर रहे डॉक्टरों से भी बातचीत की है।एलजेपी अध्यक्ष और सांसद चिराग पासवान ने इस बात की जानकारी दी है।

चिराग पासवान ने खुद ट्वीट करते हुए लिखा है कि “आदरणीय प्रधानमंत्री मोदी जी का दिल से धन्यवाद। कल और आज में कई बार प्रधानमंत्री जी ने पापा का हाल जानने के लिए फ़ोन पर बात की। पापा के इलाज में लगे डॉक्टरों से भी माननीय प्रधानमंत्री जी ने बात की। इस घड़ी में माननीय प्रधानमंत्री जी का साथ में खड़े रहने के लिए सहृदय धन्यवाद।”

इधर, पिता की नासाज तबियत और उनके आईसीयू में एडमिट होने की खबर पर उनसे मिलने को व्याकुल बेटी आशा पासवान ने सोशल मीडिया के मंच के जरिए जो शब्द लिखे है वो आपको सोचने पर मजबूर कर देंगे की क्या सियासत खून के रिश्तों पर भारी है? ख़ैर आशा पासवान ने अपने पति के सोशल मीडिया अकाउंट के जरिए लिखा है कि …..

आज अहले सुबह आदरणीय अभिभावक श्री रामविलास पासवान जी के काफी खास “परिजन” का कॉल मेरे निकट सम्बन्धी के पास आया और दिल्ली आने से मना कर दिया गया।

अन्य सभी निकटतम परिजन लोग एस्कॉर्ट अस्पताल जा रहे हैं और पिताजी से मिल भी रहे हैं, पर मुझे दिल्ली आने से रोक दिया गया है । जबकि मैंने देर रात माँ जी को 02 बार कॉल किया जिसे उन्होंने रिसीव नहीं किया । इसके बाद एक मेरे निकट सम्बन्धी को कॉल कर कहा गया कि साधु और आशा यहां नहीं आएं अन्यथा ठीक नहीं होगा।

● मैं मानती हूं कि मेरे पिता और पति के बीच राजनीतिक मतभेद पिछले कुछ सालों से रहे हैं पर क्या इससे #खून_का_रिश्ता खत्म हो जाता है ?

●क्या मैं श्री रामविलास पासवान की #संतान नहीं हूं ?

●क्या मुझे अपने बीमार पिता से मिलने का हक नहीं है ?

●मुझे अपने बीमार पिता से मिलने से क्यों रोका जा रहा है, मेरी समझ से परे है !

●मेरा कसूर सिर्फ इतना ही है न कि मैं बेटी हूं ! मेरा दिल्ली आने का कार्यक्रम तो रद्द हो गया पर यहीं से ईश्वर से प्रार्थना करती हूं ” पापा आप जल्दी से ठीक हो जाएं, मुझे और कुछ नहीं चाहिए “

पर एक बात जरूर कहूंगी, ज़्यादा #निष्ठुरता इंसान को सर्वनाश की ओर ले जाता है। जिस तरह से एक बेटी को उसके बीमार पिता से मिलने से रोका जा रहा है न, उसकी हाय रोकने वाले को ज़रूर लगेगी।

” #आशा_पासवान “

इस मार्मिक परंतु सियासी तंज और सवालों के जरिए आशा पासवान ने एक तीर से कई निशाने साधने की कोशिश की है। सोशल मीडिया पर आशा ने पति अनिल कुमार साधु जो खुद को “राजद के कार्यकर्ता” कहलाना ज्यादा पसंद करते है के माध्यम से यह बातें साझा की है।

कौन है आशा पासवान

आशा पासवान केंद्रीय मंत्री की पहली पत्नी राज कुमारी देवी के बेटी है। अपनी दूसरी पत्नी रीना के साथ 1983 में शादी करने से पहले पासवान राजकुमारी से 1981 में अलग हो गए थे।आशा के पति साधु पासवान पिछले साल राजद में शामिल हो गये थे। पिछले साल साधु पासवान ने घोषणा की थी कि आरजेडी द्वारा टिकट दिए जाने पर वे हाजीपुर लोकसभा सीट से रामविलास के खिलाफ लड़ने के लिए तैयार हैं। सियासी बयानबाजियों के बीच बाप बेटी के रिश्तें तल्ख हुए हो सकते है पर क्या खून का रिश्ता खत्म ही गया है? ये कहना है बिमार पिता से मिलने से मना किये जाने पर

Comments are closed.