बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Super Exclusive (वीडियो) पटना में चालीसवाँ के जुलूस में ताबड़तोड़ फायरिंग से थर्राया इलाका, 2 युवकों को लगी गोली,एनएमसीएच में भर्ती,स्थानीय थाने का घटना से इनकार

288

बृजभूषण कुमार, ब्यूरो प्रमुख, पटना सिटी 

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना में पैगम्बर हजरत मोहम्मद के नवासे हजरत इमाम हुसैन की शहादत की याद में शनिवार को नगर में चालीसवां के अवसर पर ताजिया जुलूस निकाला गया।जुलूस को बाजे गाजे ढोल नगाड़े के संग तय मार्गो पर निकाला गया।                                           पटना सिटी इलाके में भी विभिन्न मुहर्रम कमिटियों के द्वारा भी चालीसवाँ का जुलूस निकाला गया।लेकिन तमाम सुरक्षा प्रबंधों और पुलिस की भारी तैनाती के बावजूद भी पटना में चालीसवाँ के जुलूस के दौरान एक बड़ी वारदात घटित हो गई। घटना शनिवार की देर रात को हुई।हद, तो ये की थानाअध्यक्ष खाजेकलां लगातार इस घटना को छिपाते रहे है। फ़ोन पर सम्पर्क करने पर एक ही जवाब देते मैं स्वयं डीएसपी साहब समेत तमाम पुलिस कर्मी के संग मौजूद हूँ कोई घटना नही घाटी है।सब कुछ नार्मल है। यानी बक़ौल थानाध्यक्ष खाजेकलां चालीसवाँ के जुलूस में कोई घटना या दुर्घटना नही हुई है।खैर अब पटना Live न्यूज़ आपको बताएगा दिखायेगा आखिर हुआ क्या और कैसे ? साथ ही करेंगे खुलासा थानेदार के जुलूस में तथाकथित रूप से मौजूदगी के दावे का असली सच भी..

                       शनिवार की रात्रि तकरीबन 10 बजे के आसपास पटना सिटी के पश्चिम दरवाजा से चालीसवाँ
का एक जुलूस निकला। गाजे बाजे के संग तमाम लोगो के संग जुलूस पहलाम ख़ातिर तय रास्ते पर चल पड़ा।शहर का एक शानदार बैंड और उसके कारिंदे जुलूस में शामिल थे। गायक वाद्य यंत्रों की मदद से इबदती गाने गा रहा था।
तय रूट पर जुलूस नई सड़क,सुदर्शन पथ वाया गुरहट्टा होते हुए चैली टाल सह-बाकर तकिया पर पहलाम को जाने को निकला। तय रास्ते पर आगे बढ़ते हुए जुलूस जैसे ही खाजेकलां थाना क्षेत्र के गुरहट्टा चौक के समीप पहुचा अचानक अफ़रातफ़री मच गई जब एक युवक ने अपनी फरमाइश का गाना गायक से गाने और बजाने केे ख़ातिर जुलूस में ही ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी।
बक़ौल जुलूस में शामिल रहे चश्मदिदों के जुलूस के साथ कुछ पुलिस वाले भी साथ चल रहे थे, लेकिन जुलूस में शामिल युवकों के एक दल की दबंगई लागतार जारी थी। वो खुलेआम अवैध हथियार लहराये चमकाए जा रहे थे। यह प्रोसेसन आहिस्ता-आहिस्ता आगे बढ़ रहा था। जुलूस में शामिल बैंड पर गाना भी बज रहा था।माहौल सामान्य था लेकिन जैसे ही जुलूस का कारवा खाजेकलां थाना के आगे गुरहट्टा चौक पहुचा जुलूस में ही शामिल रहे एक युवक ने अपनी पसंद के गाने की साथ चल रहे बैंड के गायक से फरमाइश की तो गायक ने कहा इस गाने को खत्म तो कर लूं इतना सुनते ही युवक ने कमर सेे पिस्तौल निकालकर ताबड़तोड़ कई राउंड फायरिंग कर दी।फ़ायरींग होते ही अफ़रातफ़री मच गई और लोग बाग इधर उधर भागने लगे हद तो ये की इस दौरान जैसा कि थानाध्यक्ष खाजेकलां का दावा है वो स्वयं एएसपी सिटी के संग मौजूद थे फिर भी युवक ने दुःसाहस का चरम पार करते हुए तकरीबन 5-6 राउंड फ़ायरींग करते हुए जुलूस में शामिल लोगों में भगदड़ मचा दी और जब फ़ायरींग बन्द हुई तो पता चला कि 2 युवक ज़मीन पर गिरे पड़े है जिनको गोली लगी है। तो सवाल उठता है जब थानेकदार जैसे कि वो दावा कर रहे थे फ़ोन पर की लागतार चौक पर बने हुए है तो सवाल उठता है उन्होंने लड़के को ने पकड़ा क्यो नही ?शायद लिए उनका घटना से ही इनकार है? खैर,

                  जुलूस में शामिल युवक द्वारा इस फ़ायरींग से 2 युवक घायल हुए है। जिसमे से एक युवक का इलाज एनएमसीएच में जारी है। वही घटना के बाबत गोली लगने से जख्मी युवक मो राजन और उसके रिश्तेदार तज़्ज़मूल ने बताया कि ….

आप ने सुना जुलूस में गोली लगने से घायल युवक का बयान जो साफ कह रहा है कि कुल 2 लोगो को गोली लगी है। साथ ही उसका स्पष्ट कहना है कि घटना के वक्त पुलिस नही थी। वही जब पटना Live की टीम एनएमसीएच पहुची उस वक्त भी पुलिस का कही अता पता नही था फिर भी थानेदार खाजेकलां कहते है कि किसी प्रकार की कोई वारदात नही हुई साथ ही यह भी दावा करते रहे फ़ोन पर की मैं डीएसपी साहब के साथ स्वयं मौजूद था चौक पर कोई ऐसी घटना घटी ही नही है। यानी खुद तो गलत बोल ही रहे है डीएसपी साहब को भी लपेटे में ले कर उनको भी अपने झूठ में शामिल कर ले रहे है।

 

Comments are closed.