बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

अब मंदार पर्वत जाना होगा आसान, सीएम नीतीश ने दी बिहार को दुसरे रोपवे की सौगात

284

पटना Live डेस्क। बिहार में पर्यटन के क्षेत्र में काफी काम किया जा रहा। और साकार की इस मद्देनजर पहल बखूबी नजर भी आ रही है।बांका जिले में स्थित मंदार पर्वत पर बिहार के दूसरे रोपवे का आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उद्घाटन किया। बिहार में पर्यटन स्थलों को बढ़ावा देने के लिए यह प्रयास सरकार के द्वारा किया गया है। मंदार पर्वत से लोगों की धार्मिक आस्था जुड़ी हुई है और यहां पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते हैं। रोपवे नहीं होने के कारण पहले घंटों की चढ़ाई करनी पड़ती थी लेकिन अब रोपवे बन जाने के बाद मिनटों में लोग पहाड़ के ऊपर पहुंच जाएंगे।

Image
इस रोपवे में में कुल 8 केबिन दिए गए हैं, जिसमें प्रत्येक केबिन में 4 लोगों के बैठने की व्यवस्था है। इस रोपवे की दूरी लगभग 400 मीटर है। बेस स्टेशन के बाद बीच में सीताकुंड में पहला पड़ाव है और सबसे ऊपर जैन के 12 वें तीर्थंकर वासुपूज्य का मंदिर है जिसमें उनका चरणपादुका रखा हुआ है जहां पूरे देश से जैन धर्मावलंबी पहुंचते हैं। इस रोपवे को बनाने में करीब आठ वर्ष का वक्त लगा है।दरअसल मंदार पर्वत वन विभाग के अंतर्गत आता है। इसको बनाने के लिये राज्य सरकार की ओर करीब साढ़े आठ करोड़ की राशि दी गई है। राइट्स कंपनी द्वारा इस रोपवे को बनाया गया है जो फिलहाल एक वर्ष तक उसी को ऑपरेट भी करना है। अभी रोपवे का किराया निर्धारण नहीं हो पाया है।

Image
बता दें कि मंदार पर्वत की सबसे ऊंची चोटी पर जैन धर्म के 12वें तीर्थंकर भगवान वासुपूज्य का चरण पादुका अवस्थित है। जहां बड़ी संख्या में देश के कोने-कोने से जैन धर्म के अनुयायी पहुंचते हैं। वहीं पर्वत के बीच में भगवान नरसिंह का मंदिर है। जहां हिंदू धर्म के लोग पूजा अर्चना के लिए पहुंचते हैं। इसके अलावा मंदार की तराई में सफा धर्मावलंबियों का सेंटर है। जहां भारत के अलावा नेपाल से बड़ी संख्या में श्रद्धालु प्रत्येक वर्ष मकर सक्रांति के अवसर पर पूजा-अर्चना के लिए जुटते हैं।

Comments are closed.