बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News – सुशासन पुलिस पर लगे दरिंदगी के आरोप, सॉफ्टवेयर इंजीनियर को पीट पीटकर उतारा मौत के घाट

थानेदार समेत 4 पुलिस वालों पर मामूली बात पर मकतूल को पहले सड़क पर पीटा फिर थाने लेजाकर कहर बरपा कर दिया जिससे अस्पताल पहुचने से पहले उसकी मौत हो गई

403

पटना Live डेस्क।बिहार में जारी सियासी घमासान के बीच नीतीश कुमार लगातार सूबे में सुशासन की बात कहते नही अघा रहे है।लेकिन इसी बीच पुलिस जिला नवगछिया में एक थानेदार समेत 4 पुलिस वालो में बेहद गभीर आरोप आरोप लगे है। दरअसल, इनपर आरोप है कि इनसभी ने एक युवक को थाने में ददीदगी का चरम पार करते हुए इस कदर पीटा की उसकी दर्दनाक मौत हो गई। जिसको लेकर काफी बवाल हो गया है। परिजन और स्थानीय लोगों ने शव सड़क पर पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए सभी आरोपियों पुलिसवालों पर हत्या का मुकदमा दर्ज करने की मांग करते रहे। 

                         दरअसल, रक्षकों के भक्षक बनने के पीछे का सच जानकर आप यह सोचने पर मजबूर हो जाएंगे कि क्या बिहार पुलिस से महज मुहाठेठी की कीमत शख्स को अपनी जान गवाँ कर देनी पड़ेगी। मामला पुलिस जिला नवगछिया के बिहपुर थाना क्षेत्र के मड़वा का है। जहां भागलपुर के बूढ़ानाथ निवासी आशुतोष पाठक की पुलिस ने बेरहमी से पिटाई कर उनकी जान ले ली है।

इस मामले में मृतक आशुतोष के भाई सूरज पाठक ने बताया कि आशुतोष कुमार सॉफ्टवेयर इंजीनियर था। वह अपनी पत्नी और बच्ची के साथ नवरात्रि में पूजा-पाठ करने के लिए पुश्तैनी घर गया हुआ था।इसी क्रम में बैरियर हटाने को लेकर एक स्थानीय युवक से उनका विवाद हो गया। देखते ही देखते वहां पुलिस पहुंच गई। लेकिन दोनों को समझाने के बजाय पुलिसकर्मियों ने आशुतोष को पीटना शुरू कर दिया।बेरहम पुलिसवालों का जब इससे भी मन नहीं भरा तो उन्होंने आशुतोष लगभग घसीटते हुए थाना के लाकर जमकर पीटा है। हाजत में आशुतोष पर दरीदगी का कहर बरपा करते हुए आरोपी थानेदार और सिपाहियों तबतक उसको पीटा जब तक वो सुदबुध न खो बैठा। इस दौरान आशुतोष लहूलुहान हो गया। जब उसकी स्थिति गंभीर होगई तो आननफानन में उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया। लेकिन इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

               घटना से मर्माहत और पुलिसिया गुंडई  से आक्रोशित मृतक के परिजनों और स्थानीय लोगों ने शव को मुख्य सड़क पर रखकर प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है। प्रदर्शन कर रहे परिजनों ने आरोपी थानेदार पर सख्त कार्रवाई की मांग की है।

Comments are closed.