बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Bihar Election 2020: इंदु सिन्हा – पूर्णिया की बदहाली को दूर करने के लिए संकल्पित हूं

बिहार की राजनीति में बेहद मह्त्वपूर्ण स्थान रखने वाले जिलों में एक पूर्णिया जिला में भी चुनाव प्रचार पूरे रंग में है। भाजपा ने वर्तमान विधायक विजय खेमका (Vijay khemka) को फिर से टिकट दिया है वहीँ महागठबंधन की और से इंदु सिन्हा कांग्रेस (Indu Sinha - congress) के टिकट पर चुनाव लड़ रही है। 

1,031

बिहार में चुनाव प्रचार जोर शोर से जारी है। सभी नेता चुनावी मैदान मैदान में पूरे दम ख़म के साथ जुटे हुए हैं । तमाम राजनीतिक दलों के स्टार प्रचारक भी ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे हैं। बिहार की राजनीती में बेहद महत्वपूर्ण स्थान रखने वाले जिलों में से  एक पूर्णिया जिला में भी चुनाव प्रचार पूरे रंग में है। भाजपा ने वर्तमान विधायक विजय खेमका (Vijay khemka) को फिर से टिकट दिया है वहीं महागठबंधन की और से इंदु सिन्हा कांग्रेस (Indu Sinha – congress) के टिकट पर चुनाव लड़ रही हैं।

पटना लाइव से बातचीत के दौरान इंदु सिन्हा ने कहा कि पिछले कई दशक से पूर्णिया में कोई विकास कार्य नही हुआ है। पूर्णिया शहर की हर गली और सड़क की हालत बहुत ख़राब है। खासतौर पर पूर्णिया बस स्टैंड की व्यवस्था बदहाल है। कोरोना के दौर में भी साफ़ सफाई के दिशा-निर्देशों को ताक पर रख दिया गया है। लोग बदहाली में सफर करने को मज़बूर हैं । शिक्षा, चिकित्सा चौपट हो चुकी है। किसान अपनी बदहाली पर रो रहे हैं। शहर में जाम की समस्या ऐसी है कि मरीज़ समय पर अस्पताल नही पहुंच पा रहे हैं। दस मिनट की दूरी घंटों में तय हो पाती है। युवक बेरोजगार हो चुके हैं। कानून व्यवस्था अपने सबसे ख़राब दौर से गुज़र रही हैं। कोई भी सुरक्षित नहीं है खासकर लड़किया और महिलाएं। समाज में आपसी वैमनस्य और सामाजिक विद्वेष फ़ैल रहा है। इंदु सिन्हा ने कहा कि अगर उन्हें लोगों का आशीर्वाद मिला तो वे इन समस्याओं के निदान के लिए जी जान से काम करेंगी।

उन्होंने कहा कि वे सिर्फ कह नहीं रही उसे धरातल पर उतारना ही उनका लक्ष्य है। इंदु सिन्हा ने कहा कि जनता को अपनी समस्याओं के निदान के लिए उनके पास आने की कोई जरूरत नही होगी अपितु वे खुद उनके दरवाज़े पर आएँगी। उन्होंने कहा कि मजदूरों के पलायन रोकने तथा विद्यार्थियों को शिक्षा के लिए राज्य से बाहर जाने की जरूरत नहीं होगी। इंदु सिन्हा पूर्णिया में उच्च शिक्षा को बेहतर बनाने का काम करेंगी।

गौरतलब है कि इस सीट से 43 नामांकन दाखिल हुए हैं। इसमें 38 स्वीकार किया गया है, जबकि 3 रिजेक्ट और 2 उम्मीदवारों ने नामांकन वापस ले लिया है। मुख्य मुकाबला विजय कुमार खेमका(भाजपा) और इंदु सिन्हा(कांग्रेस) के बीच माना जा रहा है।

आपको यह भी बता दें कि पूर्णिया पूर्वोत्तर बिहार का सबसे बड़ा शहर है। कृषि पूर्णिया के लोगों का मुख्य व्यवसाय है। इस क्षेत्र में उगाए जाने वाली फसल धान, जूट, गेहूं, मक्का, मूंग, मसूर, गन्ना और आलू हैं। पूर्णिया जिले की जूट प्रमुख नकदी फसल है।

Comments are closed.