बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Fact Finding (CCTv Video)जानिए कौन है वो रंगबाज जिसके निशाने पर है ज्वेलर्स,मांगता हैं फ़ोन पर रंगदारी फिर चलवाता है गोली

708

पटना Live डेस्क। राजधानी में बुधवार को दिनदहाड़े  राजीवनगर थाना क्षेत्र में 2 बाइक से आए अपराधियों ने सर्राफा दुकान के मालिक राजेश कुमार को गोली मारकर जख्मी कर दिया है। पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हैं।

                 खूंरेजी की यह वारदात राजीवनगर थाना क्षेत्र के रोड नंबर 16 में स्थित सुहागन ज्वेलर्स में बुधवार की दोपहर में 2 बाइक पर सवार होकर आए अपराधियों ने दुकान मालिक राजेश कुमार पर 2 गोलिया दागी। एक गोली जहां सिर में रगड़ती हुई निकल गई वही दूसरी गोली कमर में जा लगी।गोली लगते ही दुकानदार जख्मी होकर दुकान की फर्श पर गिर गये। वही, घटना को अंजाम देकर अपराधी फायरिंग करते फरार हो गए। स्थानीय लोगों के सहयोग से जख्मी दुकानदार राजेश कुमार को इलाज के लिए रूबन हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया हैं,जहां स्थिति चिंताजनक बनी हुई है।

घटना की सूचना पाकर पुलिस मामले की छानबीन में जुट गयी हैं। इधर घायल दुकानदार के परिजन ने बताया की पखवारे पहले जेल में बंद इलाके कुख्यात अपराधी और रंगबाज पंकज शर्मा ने रंगदारी की मांग की थी। एक साल पहले यानी 8 जनवरी 2021 की शाम के समय सर्राफा दुकानदार राकेश कुमार पर बाइक सवार अपराधियों ने फायरिंग की थी पर गोली एक शिक्षक को लग गई थी।

वही,राजीवनगर थाना पुलिस ने रंगदारी की मांग से अपनी अनभिज्ञता जताते हुए तर्क दिया कि पूर्व में रंगदारी की कोई शिकायत प्राप्त नहीं हुई है। ऐसी बात रहती तो पुलिस एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई जरूर करती। हालांकि पुलिस ने जो हर बार दावा करती हैं उसको दुहराते हुए पुनः एक बार कहना है की घटना में जो भी अपराधी शामिल होंगे उन्हें पुलिस जल्द गिरफ्तार करेगी। वही इस घटना के बाद स्थानिए लोगो का गुस्सा भड़क उठा और उन्होंने टायर जलाकर सड़क जाम कर पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगाए। पुलिस ने मान मनव्वल और आश्वास देकर जाम खत्म करवाया।

कौन है वो रंगबाज पंकज शर्मा ?

वही, एसएसपी ने भी परिजनों द्वारा एक अपराधी के नाम बताए जाने और घटना के पीछे रंगदारी के कारण होने की बात की तस्दीक की हैं। वही पीड़ित दुकानदार के परिजनों ने बताया कि कुछ दिनों पहले जेल में बंद कुख्यात पंकज शर्मा नामक अपराधी ने रंगदारी की मांग की थी। आइए जानते है आखिर कौन है पंकज शर्मा जो फ़ोन से मांगता है रंगदारी।

पंकज शर्मा उर्फ धर्मेंद्र उर्फ करण मूल रूप से राजधानी से सटे वैशाली जिले के बिदुपुर का रहने वाला है। लूट, रंगदारी सहित तीन दर्जन से अधिक संगीन मामलों में शामिल पटना का टॉप टेन बदमाश पंकज शर्मा के खिलाफ दानापुर, शास्त्रीनगर, राजीवनगर, दानापुर, एसकेपुरी सहित अन्य थानों में तीन दर्जन से मामले दर्ज है। पटना में यह एजी कॉलोनी में रहता है।

रंगदारी में मांगी थी सोने की चेन और कैश

पंकज शर्मा पहली बार पटना पुलिस के हत्थे 6 जुलाई वर्ष 2015 को चढा जब इनसे शास्त्रीनगर थाना क्षेत्र के एक ज्वेलर्स से रंगदारी की डिमांड की थी। दुकानदार कि शिकायत पर पुलिस ने इसे ताबड़तोड एक्शन लेते हुए धरदबोचा था।लेकिन जेल से कुछ माह बाद ही वह जमानत पर बाहर आ गया। और फिर से जरायम की दुनिया मे एक्टिव हो गए। तब से लेकर अबतक लगातार बेउर जेल आना जाना लगा रहता है।बिहार और झारखंड के विभिन्न थानों में इस पर 28 मुकदमें दर्ज हैं।

शातिर के टारगेट पर सराफा कारोबारी

दरअसल, कुख्यात पंकज शर्मा जेल से बाहर आने के बाद वह गुर्गों के साथ लूटपाट और चेन स्नेचिंग करने लगा। जिन आभूषण दुकानदारों को वह चोरी का माल बेचता था।बाद में उन्हीं ज्वेलर्स मालिकों से वह रंगदारी वसूलने लगा। वही, शुरुआती सफलता के बाद तो अब रंगदारी को मुख्य धंधा बना लिया और बेउर जेल को अपना दूसरा घर।

 जक्कनपुर थाने ने लूट के मामले भेजा जेल 

 उल्लेखनीय है कि पंकज शर्मा को 9 जुलाई 2020 को जक्कनपुर थाना क्षेत्र के बंगाली टोला समता पथ में बंधन बैंक के कर्मी अभ्यानंद कुमार से 35 हजार 500 नकदी लूट में पुलिस ने कुख्यात पंकज शर्मा और उसके गुर्गे सुजीत कुमार को गिरफ्तार कर जेल भेज था। बेउर जेल से भी अपने गैंग को ऑपरेट करता रहा है।वही, उक्त मामलेमें बेल मिलने के बाद सप्ताह भर पहले जेल से बाहर निकला है। बाहर आते ही इलाके में कोहराम मचाना शुरू कर दिया है।

Comments are closed.