बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BIG News-पूर्व जिला पार्षद पिता को उनके अवैध संबंधों से चिढ़े नाबालिक बेटे ने ही उतारा था साइलेंसर वाले पिस्टल से मौत के घाट,गिरफ़्तार

अगर मैं नही मारता तो वो मेरी माँ को मार डालते ,पिता गुड्डू शर्मा को उनकी ही आलमारी से पैसे निकालकर पिस्टल खरीदकर बेटे ने सोते वक्त मारी थी गोली पटना Live के खुलासे पर लगी पटना पुलिस के अनुसन्धान के जरिए सच की मुहर, नाबालिक बेटा दोस्त के साथ गिरफ़्तार, मारने से पहले की गोली चलाने की प्रैक्टिस

437

पटना Live डेस्क। आखिकार पटना Live के खुलासे पर मुहर लगाते हुए पटना के नौबतपुर के पूर्व जिला पार्षद गुड्डू शर्मा उर्फ राकेश कुमार हत्याकांड मामले में सनसनीखेज खुलासा हुआ है। हत्यारा कोई और नहीं, बल्कि मृतक का इकलौता नाबालिग बेटा ही निकला है। नाबालिक बेटा अपने पिता के अन्य महिलाओं से अवैध संबंधों से परेशान रहता था। साथ उसको डर था कि उसके पिता कभी भी उसकी माँ की हत्या कर सकते है।इसलिए बीते 5 जुलाई की सुबह पिता के सिर में गोली मारकर हत्या कर दी थी। वारदात के करीब चार घंटे बाद पुलिस को सूचना दी गई थी। शुरुआत से ही इस क़त्ल की सुई फ्लैट 102 के अंदर ही घूम रही थी।

बेटे पर तानी थी गुड्डू शर्मा ने पिस्तौल

मक़तूल पूर्व पार्षद के बाबत बेटे ने बताया कि पिता का दूसरी औरतों के साथ संबंध था। इसको लेकर उसके पिता और मां के बीच अक्सर विवाद होता रहता था। घटना से लगभग  20 दिन पहले बेटे ने अपने पिता राकेश कुमार को किसी दूसरी औरत के साथ कार में देखा था। पिता की इस हरकत के बाबत बेटे ने घर आकर माँ को बताया और जब माँ ने इस बाबत पूर्व पार्षद से दरयाफ़्त किया तो गुस्सा पिता राकेश कुमार ने बेटे पर ही अपनी लाइसेन्सी पिस्टल तान दिया था। तब माँ द्वारा हाथ पैर जोड़कर किसी तरह पति को समझा बुझाकर मामले को शान्त कराया था। लेकिन लाख समझाने के बावजूद जब  राकेश कुमार की आदते नही बदली और घर मे लगातार बढ़ते कलह से आज़िज़ आकर बेटे ने अपने दोस्त अभिनव के साथ मिलकर पिता की हत्या की योजना बना डाली।

पिता के आलमारी से निकले पैसे खरीदी पिस्तौल

बेटे ने पुलिस को बताया है कि पिता गुड्डू शर्मा के आलमारी से करीब 60 हजार रुपए निकाले थे। फिर अपने दोस्त अभिनव नारायण सिंह की मदद से गया से साइलेंसर युक्त देसी पिस्तौल खरीदा था। इसी पिस्टल से उसने अकेले ही रात में जब पिता सो रहे थे तब बिल्कुल नज़दीक से सिर में गोली मार दी थी। आरोपी किशोर अभी स्कूल में पढ़ाई करता है।

हम नही मारते तो मेरी माँ को मार डालते

दरअसल, पूछताछ में गिरफ़्तार नाबालिक ने जब ये कहा कि वह कुछ दिन पहले अपनी गाड़ी में एक महिला को बिठाए हुए थे। इसको लेकर काफी विवाद हुआ था। हमने जब विरोध किया तो हमारे पिताजी ने अपना लाइसेंस रिवाल्वर हम पर तान दिए थे। अगर हम उनकी हत्या नहीं करते तब हमारी मम्मी को मार डालते। तब मैंने  अपने दोस्त अभिनव के साथ मिलकर हत्या की प्लानिंग रची। अधिवक्ता का पुत्र अभिनव नारायण सिंह ने ही हथियार उपलब्ध कराया और आरपीएस मोड स्थित एक मकान के छत पर फायरिंग करना सिखा उसके बाद 2-3 जुलाई को अभ्यास के बाद बैग में हथियार लेकर घर आ गए। 5 तारीख की रात जब मां गहरी नींद में सो गई तो रात 12-1 बजे गोली मारकर हत्या कर दी।पुलिस ने मामले में बेटे और उसके एक दोस्त अभिनव नारायण सिंह को गिरफ्तार कर लिया है।

पटना के SSP मानवजीत सिंह ढिल्लों ने गुरुवार को दानापुर में यह जानकारी दी है। पुलिस ने आरोपी के पास से एक साइलेंसर युक्त देसी पिस्टल, टूटा हुआ डीवीआर, एक मोबाइल, सोने की चेन और हाथ का कड़ा बरामद किया है।बताया कि पूर्व जिला पार्षद का कई महिलाओं से अवैध संबंध था। इस कारण उनके परिवार में हमेशा कलह रहता था।

SSP के अनुसार, पुलिस जांच में देखा गया कि घटना के दौरान पूर्व जिला पार्षद के रूपसपुर फ्लैट के अंदर कोई बाहरी व्यक्ति नहीं आया था। इसके बाद पुलिस को बेटे पर शक हुआ तो उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। सख्ती करने पर सब कुछ उगल दिया। बताया कि इस मामले में मृतक की पत्नी पूरी तरह अनभिज्ञ थी। पुलिस अब मृतक के बेटे एवं उसके दोस्त को स्पीडी ट्रायल चलाकर जल्द से जल्द सजा दिलाने के प्रयास में जुट गई है।

Comments are closed.