बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News – Bihar कैडर के एक वरीय IPS के बॉडीगार्ड का Corona टेस्ट आया पॉजिटिव, मचा हड़कंप

440
  • बिहार मिलिट्री पुलिस-14 बैरक से बिहार पुलिस मुख्यालय सरदार पटेल भवन तक पहुचा कोरोना वायरस
  • बिहार पुलिस में सबसे पहले बीएमपी 14 बटालियन ही कोरोना के चपेट में है आया
  • सर्वप्रथम 31 मार्च को रिटायर्ड झारखंड निवासी 60 वर्षीय हवलदार कोरोना पॉजिटिव पाए गए
  • अबतक बीएमपी के 14 जवान आ चुके है कोरोना वायरस के संक्रमण की जद में
  • सोमवार को कोरोना पॉज़िटिव पाए गए 8 जवानों में एक वरीय आईपीएस का है बॉडीगार्ड

पटना Live डेस्क। 22 मार्च से बिहार में शुरू हुआ कोरोना का संक्रमण अब पूरे सूबे को अपने चपेट में ले चुका है।बिहार में सोमवार की देर रात तक 53 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले। सुबे में अबतक कोविड-19 पीड़ितों की संख्या बढ़कर 749 हो गई है। वही बात अगर पटना के खाजपुरा में स्थित बीएमपी-14 बटालियन की करे, हवलदार बैरक ने बिहार पुलिस की टेंशन बढ़ा दी है। गुरुवार से लेकर अबतक कुल 14 जवान कोरोना संक्रमित पाए गए है। वही, कोरोना पीड़ित छह में से तीन जवानों ने छह मई तक ड्यूटी दी थी। वहीं बीएमपी परिसर के हॉट स्पॉट में बदलने से BMP कर्मी दहशत में हैं। इधर,सोमवार को 24 साल से लेकर 50 साल तक के 8 पुलिसकर्मी संक्रमित मिले। इन 8 जवानों में एक जवान बिहार कैडर के एक वरीय आईपीएस के बॉडीगार्ड के तौर पर तैनात है।

BMP से PHQ पहुचा Corona Virus

कोरोना के कहर से बिहारवासियों को बचाने की मुहिम यानी लॉक डाउन की अगुवाई करते हुए बिहार पुलिस के मुखिया ]से लेकर होमगार्ड के जवान तक लगातार बिना डरे अपनी जिम्मेदारी निभा रहे है। लेकिन सोमवार को बीएमपी के 8 जवानों को कोरोना पॉजिटिव पाया गया हैं। इन जवानों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने की खबर से पुलिस मुख्यालय में हड़कंप मच गया। वही, दूसरी तरफ जैसे ही यह खबर वरीय आईपीएस अधिकारियों को मिली उनके चेहरे पर भी चिंता की लकीरें नुमाया हो गई।
आप सोच रहें होगे की BMP-14 के जवानों के संक्रमित होने से आईपीएस अधिकारी और सरदार पटेल भवन में क्यो हड़कंप मच गया, सवाल उठा है तो जवाब भी जान लीजिए। दरअसल, संक्रमित 8 जवानों में से एक बिहार कैडर के एक वरीय आईपीएस का बॉडीगार्ड हैं।

उल्लेखनीय है उक्त सुरक्षकर्मी के संग आईपीएस अधिकारी PHQ आते जाते रहे है। यानी कोरोना वायरस ने बिहार पुलिस मुख्यालय की चौखट लांघ अंदर प्रवेश कर लिया है।

उक्त आईपीएस लगातार अपने बॉडीगार्ड के साथ एक ही ‘वाहन’ PHQ आते रहे है। साथ ही मुख्यालय में ऐसा बताया जाता हैं की उक्त आईपीएस अधिकारी कई वरिष्ठ आईपीएस अधिकारियों से बाबस्ता कार्य निष्पादन ख़ातिर मिलते रहे है। यानी मुख्यालय में तैनात कई IPS अधिकारियों पर भी कोरोना संक्रमित होने का खतरा मंडराता नज़र आ रहा है।
वही, कोरोना संक्रमण की पुष्टि और PHQ भवन में इंट्री का सच पता चलने के बाद उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही मुख्यालय मे तैनात सभी अधिकारी , पदाधिकारी एवं जवानो की कोरोना टेस्ट की प्रकिया शुरू कर दी जाएगी।
इधर, कोरोना संक्रमित जवान किसके संपर्क में कब कब कहा कहा गया और किस किस के संपर्क में रहा इत्यादि को ट्रेस कर कोरोना चेन को ट्रेस करने की कवायद जारी है।

उल्लेखनीय है कि इधर, एक के बाद एक लागतार 14 जवानों साथ के कोरोना पाॅजिटिव आने के बाद बीएमपी-14 परिसर में ही स्थित बीएमपी-5 व 10 कैंपस में भी खलबली मच गई है। तीनाें बीएमपी कैम्प्स में तीन हजार के लगभग जवान रहते हैं। जाे नए 8 जवान पाॅजिटिव हुए हैं, सभी बीएमपी -14 में ही रहते हैं।

Comments are closed.