बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

बाढ़-सुखाड़ को लेकर सभी प्रभारी मंत्री करेंगे जिलों का दौरा, सीएम नीतीश ने दिया निर्देश

111

पटना Live डेस्क। बिहार में हर साल बाढ़ के साथ ही सुखाड़ भी आता है। इस बार भी यह देखने को मिल रहा है। जबकि इस साल मॉनसून समय से पहले आया है और सूबे में सामान्य से अधिक बारिश हुई है। आधा से अधिक जिले इस बार बाढ़ की चपेट में रहा है, तो कुछ जिले सुखाड़ की चपेट में आ गए हैं। इसे लेकर आज शनिवार को सीएम नीतीश कुमार ने प्रभारी मंत्रियों को आवश्यक निर्देश दिए हैं।
मिल रही जानकारी के अनुसार, बाढ़ और सुखाड़ को लेकर सीएम नीतीश कुमार ने प्रभारी मंत्रियों को बड़ी जिम्मेवारी सौंप दी है। उन्होंने प्रभारी मंत्रियों को जिलों के भ्रमण का निर्देश दिया है। ये मंत्री 14 और 15 सितंबर को अपने-अपने जिलों का दौरा करेंगे। इस दौरान जिलों में क्या स्थिति है। बाढ़ और सुखाड़ वाले कौन-कौन जिले हैं। जिलों का जायजा लेने के बाद वे अपनी रिपोर्ट आपदा विभाग को सौंपेंगे। इसके बाद रिपोर्ट पर सीएम के साथ मीटिंग में होगी।
गौरतलब है कि उत्तर और पूर्व बिहार की दर्जन भर नदियां उफान पर थीं। इससे सैकड़ों गांव बाढ़ की चपेट में आ गये थे। लगभग 20 जिले बाढ़ प्रभावित हो गए थे। गंगा का भी जलस्तर बढ़ गया था। बक्सर से लेकर भागलपुर तक गंगा तट वाले शहरों को प्रभावित किया। लेकिन दूसरी ओर मध्य बिहार में कई जिले सुखाड़ की चपेट में आ गए थे।

Comments are closed.