बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Bihar Crime-बेख़ौफ़ अपराधियों का तांडव महज कुछ घंटों में बिहार में अंधाधुंध फायरिंग कर 12 लोगो उतारा मौत के घाट

बिहार पुलिस का इक़बाल ख़त्म,बिहार में खूंरेजी से हाहाकार, इंजीनियर-ठेकेदार-दुकानदार-नर्स समेत अबतक कुल 12 लोगो की हत्य,दुःसाहस ऐसा की गोलियां मारकर तबतक खड़े रहे जब तक यक़ीन नही हुआ कि शख़्स अब जिंदा नही है। 

1,155

पटना Live डेस्क। बिहार में अपराधियों का तांडव रुकने का नाम नही ले रहा है। लगातार अपराधियों की बंदूके शोले उगल रही है।वही दूसरी तरफ बिहार पुलिस महज बयानों के जरिए अपराधियों पर लगाम लगाने की कोशिश में मुतमइन नज़र आ रही है। हालात का अंदाजा इस बात से लगा सकते है कि सूबे में पिछले कुछ ही घंटे में रेलवे के ठेकेदार, नर्स, इंजीनियर और दुकानदार समेत 12 लोगों की हत्या अपराधियों ने कर दी है तो वही सीतामढ़ी में एक डॉक्टर 3 गोलियों खाकर मौत और जिंदगी के बीच एक निजी नर्सिंग होम में इलाजरत है। सूबे में खाकी का इक़बाल पूरी तरह खत्म होता प्रतीत हो रहा है।

सनद रहे कि बिहार के समस्तीपुर और कैमूर में तीन-तीन लोगों को मौत के घाट उतारा गया है। साथ ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा समेत गया, पूर्णिया, सहरसा,सीतामढ़ी और मुजफ्फरपुर जिले में बदमाशों ने एक-एक शख़्स को मौत की नींद सुला दिया है। महज कुछ ही घंटे में ताबड़तोड़ दर्जन भर लाशें गिरने के बाद नीतीश की सुशासन सरकार और बिहार पुलिस की कार्यशैली पर बेहद गंभरी सवाल खड़ा हो रहे हैं।

रेलवे ठेकेदार को हत्या

रेलवे ठेकेदार-Gaya

गया के नई गोदाम मोहल्ले में 4 से 5 की संख्या में आये हथियार बंद अपराधियों ने रात 10 बजे घर के बाहर बैठे ठेकेदार संतोष यादव को ताबड़तोड़ गोलियां मार दी। अपराधी इतने दुःसाहसी थे कि ठेकेदार को गोलियों से भून कर तबतक खड़े रहे जब तक ठेकेदार ने दम नहीं तोड़ दिया। जब वो कन्फर्म हो गए कि संतोष की मौत हो गई है तब अपराधी तुरंत फरार हो गए। घटना के बाद डीएसपी राज कुमार साह ने आगे बताया कि मामले की जांच चल रही है।

सीतामढ़ी -डॉक्टर नर्स फायरिंग

उधर सीतामढ़ी जिले में बदमाशों ने नामी डॉक्टर डॉ. शिवशंकर महतो और पर गोलियों की बौछार कर दी।शहर के रोजपट्टी रोड में मंगलवार की देर रात तकरीबन 1 बजे 5 की संख्या में आए बदमाशों ने डॉक्‍टर शिवशंकर महतो को 3 और नर्स को 5 गोलियां दाग दी।घटनास्थल पर ही नर्स की मौत हो गई।जबकि जख्मी हालत में डॉक्टर को बगल के एक निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया है,जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है।सदर डीएसपी रामाकांत उपाध्याय ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। बदमाशों को पकड़ने के लिये पुलिस छापेमारी कर रही है।

समस्तीपुर में 6 घण्टे में 3 लोगो की हत्या 

वहीं समस्तीपुर जिले में अपराधियों ने अलग-अलग जगहों पर तीन लोगों को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। बिहार का समस्तीपुर जिला इन दिनों क्राइम कैपिटल बनने की राह पर नजर आ रहा है। पिछले दिनों हुए लगातार अपराधिक वारदातों का खुलासा समस्तीपुर पुलिस कर भी नहीं पायी थी कि सोमवार की शाम महज 6 घंटे के भीतर अपराधियों ने ताबड़तोड हत्या की तीन वारदातों को अंजाम दे दिया जिससे से पूरा जिला दहला दिया।

10 रुपए खातिर नाविक की हत्या 

हत्या की पहली वारदात बिथान थाना इलाके के बनभौरा गांव की है जहां नााव चलाने वाले युवक केे द्वारा भाड़े के तौर पर 10 रुपए मांगनेे पर उसकी गोली मारकर हत्या कर दी गई।इस मामले में पुलिस जांच भी ठीक से शुरू नहीं कर पाई थी की दिन के लगभग 1 बजे बाइक सवार तीन की संख्या में अपराधियों ने समस्तीपुर जिला के दलसिंहसराय अनुमंडल क्षेत्र को गोलियों की तड़तड़ाहट से दहला दिया. अपराधियों ने दिनदहाड़े लूट और डबल मर्डर की वारदात को अंजाम देकर समस्तीपुर पुलिस को खुल्लम खुल्ला चैलेंज कर दिया।

लूट के दौरान डबल मर्डर

दूसरी वारदात दलसिंहसराय थाना क्षेत्र के एनएच 28 पर हुई। यहां डबल मर्डर की वारदात को अंजाम दिया गया।मामला दलसिंहसराय अनुमंडल क्षेत्र के दलसिंहसराय नवादा चौक का है जहां बीच बाजार में दो बाइक सवार तीन की संख्या में बेखौफ अपराधियों ने सुधा मिल्क पार्लर के अंदर घुस कर पहले मिल्क पार्लर के संचालक सुनील कुमार की ताबड़तोड़ 5 गोलियां मारकर हत्या कर दी इसके बाद अपराधी मौके से भाग रहे थे उसी दौरान मिल्क पार्लर के कर्मी मोहम्मद पप्पू ने जब अपराधियों का  पीछा किया तो अपराधियों ने पप्पू को भी गोली मार दी, जिसकी उसकी भी मौत समस्तीपुर सदर अस्पताल लाने के दौरान रास्ते में हो गई। इस घटना के बाबत दलसिंहसराय एसडीपीओ दिनेश कुमार पांडेय ने बताया कि वारदात में शामिल बदमाशों का पता लगाने के लिए सीसीटीवी फुटेज खंगाला जा रहा है। सूत्रों की मानें तो सुधा पार्लर से अपराधियों ने 12 से 15 लाख रुपए की लूट की। इस वारदात के बाद आक्रोशित परिजनों और ग्रामीणों के द्वारा दलसिंहसराय में एनएच 28 को जाम कर वारदात में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग की गई।

कैमूर में तीन हत्याएं

वही, कैमूर जिले के भभुआ थाना क्षेत्र के गाँव  सोनडीहरा में एक पति ने अपनी गर्भवती पत्नी और दो बच्चों की कुदाल से काट कर निर्मम हत्या कर दी।घटना मंगलवार देर रात की है।इसकी सूचना मिलते ही गांव वालों ने सनकी पति को घर में ही कैद कर दिया और उसकी पत्नी के मायके वालों को इसकी सूचना दे दी।अल सुबह पहुंचे मायके वालों ने भभुआ थाने को इसकी जानकारी दी।आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।वहीं, शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

बताया जाता है कि आरोपी लालबाबू ने इस घटना को उस समय अंजाम दिया जब घर में इन लोगों के अलावा कोई और मौजूद नहीं था।देर रात करीब 12 बजे के आसपास घटना को अंजाम दिया गया है। ग्रामीणों ने बताया कि देर रात पति-पत्नि में घरेलू विवाद हुआ था। इसी में उसने अपनी गर्भवती पत्नी, एक बेटा और एक बेटी को कुदाल से काट दिया।

इंजीनियर की हत्या

वही, पूर्णिया शहर के मधुबनी ओपी इलाके के मंझली चौक पर मंगलवार को सरेआम दिनदहाड़े इंजीनियरिंग के एक छात्र हर्ष कुमार झा की गोली मारकर हत्या (Murder In Purnia) कर दी गई। घटना के पीछे की वजह स्मैकरों से अदावत बताई जा रही है। मृतक हर्ष कुमार झा पूर्णिया जिले के सुखसेना गांव का निवासी था। वह भुवनेश्वर में इंजीनियरिंग (Engineering Student) में पढ़ता था. उसके पिता कमलेश झा और चाचा मिथिलेश झा मशहूर कलाकार हैं।

File Photo

मृतक के दोस्त सोनू ने बताया कि रात में हर्ष अपने दोस्त के बर्थडे में गया हुआ था. रात में वो वहीं रुक गया था। सुबह जब हर्ष, सोनू और एक अन्य दोस्त तीनों एक ही बाइक से घर लौट रहे थे तभी मंझली चौक के पास अपराधियों ने उसे गोली मार दी। गोली लगते ही हर्ष बाइक से नीचे गिर गया। इसके बाद उसे सदर अस्पताल लाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सोनू ने बताया कि पांच दिन पहले कुछ स्मैकरों से उनका झगड़ा हुआ था। उन लोगों ने उसे ही मारने के लिए गोली चलाई थी लेकिन गोली उसे नहीं लग कर उनके बाइक के पीछे बैठा हर्ष केे सीने में लग गई जिस कारण उसकी मौत हो गई।

                 साथ ही सूबे के नालंदा समेत सहरसा और मुजफ्फरपुर जिले में भी बदमाशों ने एक-एक शख़्स को मौत की नींद सुला दिया है। इन तमाम खूंरेजी की वारदातों के बाद बिहार में हाहाकार जैसे हालात बन गए है। वही,11 चरणों में पंचायत चुनाव की प्रक्रिया भी सूबे में शुरू हो चुकी है जिस को लेकर बिहार पुलिस का कहना है शान्तिपूर्ण चुनाव सम्पन्न कराने खातिर तमाम तैयारियां कर ली गई। लेकिन सूबे में बेख़ौफ़ अपराधियों का तांडव रुकने का नाम नही ले रहा है।

Comments are closed.