BiG Breaking(Exclusive वीडियो) घूसखोर MVI को निगरानी में दबोचा, पटना स्थित आवास हुई 6 घंटे तक रेड, देखिये Live निगरानी का छापा

489

बृजभूषण कुमार, ब्यूरो प्रमुख,पटना सिटी

पटना Live डेस्क। घूसखोर सरकारी कर्मचारियों और अधिकारियों के खिलाफ बिहार निगरानी (Vigilance) विभाग की कारगर मुहिम लगातार जारी है। इसी क्रम एक बार फिर निगरानी के दस्ते ने तमाम जांचोपरांत MVI सुजीत कुमार द्वारा गया में ट्रक से घुस में 12000 रुपये लेते रंगे हाथ धर दबोचा है। घूसखोर एमवीआई (Motor Vehicle Inspector) के साथ ही सहयोगी डाटा ऑपरेटर (Data Operator) ध्रुव कुमार भी निगरानी के हत्थे चढ़ा है। दोनो को गिरफ्तार करने के बाद दोनों को लेकर पटना पहुची। फिर पटना स्थित एमवीआई के एक अपार्टमेंट में स्थित फ्लैट पर भी छापेमारी की गई। छापेमारी में निगरानी दस्ते के हाथ इन्वेस्टमेंट समेत कई जगह संपति खरीदने से जुड़े कागजात मिला है। साथ ही एक अन्य घर का भी पता मिला है।साथ ही 83000 रुपये बरामद किया गया है।

घूसखोर MVI गया से दबोचा गया 

बिहार सरकार के घूसखोर अधिकारी पर एक बार फिर निगरानी विभाग ने शिकंजा कसा है। गया में निगरानी की टीम ने एमवीआई सुजीत कुमार को घूस लेते रेड हैंड गिरफ्तार किया है। निगरानी टीम को लीड कर रहे डीएसपी ने बताया कि गया एमवीआई कार्यालय में 4 गाड़ियों के फिटनेस सर्टिफिकेट बनाने के नाम पर 11 हजार बतौर नजराना मांगा जा रहा था। इसके लेकर आवेदक रणजीत कुमार ने निगरानी विभाग से संपर्क साधा। बस मालिक की शिकायत पर मामले का सत्यापन किया गया। इसके बाद उसके साथ मिलकर निगरानी विभाग ने टीम गठि​त की।

जानकारी के अनुसार निगरानी डीएसपी गोपाल सिंह के नेतृत्व में गया के एमवीआई सुजीत कुमार को 11 हजार रुपये घूस लेते हुए गुरुवार को समाहरणालय स्थित एमवीआई कार्यालय से धर दबोचा लिया गया। एमवीआई के साथ डाटा ऑपरेटर ध्रुव कुमार को भी रिश्वत के मामले में निगरानी विभाग ने अधिकारियों ने पकड़ा है। एमवीआई और डाटा ऑपरेटर से निगरानी की टीम ने गया के सर्किट हाउस में पूछताछ की।

एक साथ ऑफिस और निजी आवास पर हुई रेड
वही, इस ट्रैप में निगरानी दस्ते को कई टीमें बनाकर अंजाम दिया गया। सूत्रों की मानें तो निगरानी विभाग की दूसरी टीम ने एमवीआई सुजीत कुमार के कार्यालय और निजी आवास की भी जांच की है। बताया जाता है कि एमवीआई सुजीत के गया स्थित किराये के घर से 11 लाख रुपए एवं कार्यालय से चार लाख रुपए मिले हैं। हालांकि, इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। निगरानी की टीम ने रंगे हाथ एमवीआई सुजीत कुमार और डाटा ऑपरेटर ध्रुव कुमार को गिरफ्तार कर लिया और अपने साथ लेकर राजधानी लौट गई।

 पटना आवास पर 6 घंटे चली छापेमारी 

वही दूसरी तरफ राजधानी स्थित MVI के आवास पर  डीएसपी निगरानी आशा ठाकुर के नेतृत्व में छापेमारी की गई। दरअसल, दस्ते को एमवीआई सुजीत कुमार के पटना स्थितअगमकुआं थाना क्षेत्र के चाणक्य नगर इलाके के राधेश्याम अपार्टमेंट में फ्लैट होने की जानकारी मिली थी। गिरफ्तार एमवीआई सुजीत कुमार के इस आवास पर 6 घंटे तक छापेमारी की गई। इस दौरान टीम ने फ्लैट की सघन तलाशी ली तो कैश रुपये के साथ ही कई लाख रुपयों के इन्वेस्ट से जुड़े कागज़ात के अलावे 83 हजार कैश मिला है।

Loading...