BiG News – निगरानी दस्ते ने “भ्रष्टाचार को शिष्टाचार” बना रखे गया के घूसखोर SDO को दो लाख रुपए लेते रंगे हाथ दबोचा

322

पटना Live डेस्क। बिहार के सरकारी अधिकारियों व कर्मचारियों जिन्होंने “भ्रष्टाचार को शिष्टाचार” में तब्दील कर रखा है के खिलाफ निगरानी विभाग ने जबदरस्त अभियान चला रखा है। इस अभियान के तहत बिहार निगरानी दस्ते द्वारा लगातार उन सरकारी ओहदेदारों, अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। इसी क्रम डीएसपी गोपाल पासवान के नेतृत्व में पटना से गये विजिलेंस दस्ते ने गया सदर एसडीओ सूरज कुमार को गुरुवार की रात तकरीबन 8 बजे उनके आवास से दो लाख रुपये कैश घूस लेते रंगे हाथ धर दबोचा है। गिरफ्तार एसडीओ को निगरानी कोर्ट में पेश किया जाएगा।

क्या है पूरा मामला 

दरअसल, निगरानी विभाग को गया के जदयू नेता शारिम अली ने 16 अप्रैल को लिखित शिकायत करते हुए उल्लेखित किया था कि वजीरगंज के भिंड़स इलाके की सात-आठ एकड़ जमीन पर धारा 144 नहीं लगाने के एवज में पांच लाख रुपये की डिमांड कर रहे है।दरअसल उक्त ज़मीन को लेकर कोर्ट में कांड संख्या 262/18 में कानूनी प्रक्रिया चल रही है। मामला चुकी एक बड़े सरकारी पदाधिकारी से जुड़ा था तो दूसरी तरफ मामला चुकी सत्ताधारी दल के नेता से जुड़ा था, अपर पुलिस महानिदेशक, निगरानी के आदेश पर डीएसपी गोपाल पासवान के नेतृत्व में एक टीम गठित किया गया और मामले की जांच शुरू कर दी गई। शुरुआत जांच पड़ताल में ही मामला सच साबित हुआ।मामले के सत्यापित होते ही निगरानी दस्ते से हरी झंडी मिलने पर शिकायतकर्ता ने एसडीओ सदर से बातचीत करते हुए गुरुवार को दो लाख रुपये देने की बात तय हुई।

2 लाख में हुआ था मामला सेट

तय राशि लेकर पीड़ित पक्ष एसडीओ के गया स्थित आवास पहुचा साथ ही निगरानी दस्ता भी पूरी तैयारी के साथ आवास के बाहर तैनात हो गई। तकरीबन रात 8 बजे जैसे ही एसडीओ ने तय राशि लिया निगरानी दस्ते ने धावा बोलते हुए घुस की रकम के साथ उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

वही, गिरफ्तार अधिकारी को लेकर निगरानी दस्ता पटना के लिए रवाना हो गया है। जहाँ कल सुबह सबेरेगिरफ्तार एसडीओ को निगरानी कोर्ट में पेश किया जाएगा। इस बाबत निगरानी डीएसपी गोपाल प्रसाद ने बताया कि जमीन से जुड़े एक मामले में गिरफ्त में आये अधिकारी द्वारा घूस मांगी जा रही थी। इसी क्रम में एसडीओ को घूस लेते पकड़ा गया है।

Loading...