बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

चीन ने 21 हजार किलो के बेलगाम रॉकेट से झाड़ा पल्ला धरती पर कहीं भी गिरने की आशंका

कुछ वैज्ञानिकों ने कहा है कि पृथ्वी के दो तिहाई हिस्से में पानी है, ऐसे में उम्मीद की जानी चाहिए कि चीन का बेकाबू हो चुका ये रॉकेट किसी ना किसी समुन्द्र में गिर सकता है। हालांकि, इसके जमीन पर गिरने से भी इनकार नहीं किया जा सकता है।

624

पटना Live (इंटरनेशनल) डेस्क। अंतरिक्ष में बेकाबू हो गये लॉंग मार्च-5 रॉकेट को लेकर चीन ने कहा है कि उससे दुनिया के किसी भी हिस्से को खतरा नहीं है। शुक्रवार को चीन ने लॉंग मार्च-5 रॉकेट के अंतरिक्ष से धरती पर गिरने को लेकर कहा कि इस रॉकेट के धरती पर गिरने से ज्यादा नुकसान नहीं होगा जबकि एक्सपर्ट्स का कहना है कि चीन का बेकाबू हो चुका ये रॉकेट दुनिया के किसी भी हिस्से में गिर सकता है और ये धरती पर जहां भी गिरेगा, वहां काफी नुकसान होने की आशंका है।

चीन ने झाड़ा पल्ला

बीजिंग में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेन ने कहा कि ‘अंतरिक्ष में बेकाबू हो चुका लॉंग मार्च-5 रॉकेट जब धरती पर वायुमंडल के संपर्क में आएगा तो वो काफी ज्यादा जल चुका होगा और उससे पृथ्वी पर कुछ खास नुकसान नहीं होगा।’ हालांकि, आगे चीनी विदेश मंत्री के प्रवक्ता ने ये भी जोड़ दिया कि अगर ये धरती पर गिरा भी तो इससे ज्यादा खतरा नहीं है। चीनी विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है कि ‘चीन अपने रॉकेट पर सावधानीपूर्वक नजर रख रहा है और जहां तक हमें पता है कि ये रॉकेट स्पेशल मेटेरियल से बना है और इसका ज्यादातर हिस्सा जल जाएगा और धरती पर किसी चीज, किसी विमान या किसी हिस्से से इसके टकराने की उम्मीद काफी कम है।’ सबसे दिलचस्प बात ये है कि चीनी विदेश मंत्रालय ने ये बयान रूसी स्पेस एजेंसी के हवाले से दिया है। जबकि, इस रॉकेट के अमेरिका पर गिरने की काफी आशंका है। वहीं कई एक्सपर्ट्स ने कहा कै कि 21 हजार किलो की ये रॉकेट अगर धरती पर गिरता है तो भारी तबाही मचा सकता है।

वहीं, यूएस डिफेंस डिपार्टमेंट ने कहा है कि वो चीन के बेकाबू हो चुके रॉकेट लॉंच मार्च 5बी को ट्रैक करने की कोशिश कर रहा है जो पृथ्वी पर कहीं पर भी गिरने वाला है। आशंका जताई जा रही है कि चीन का ये बेकाबू रॉकेट लॉंच मार्च 5बी 8 मई को पृथ्वी के वातावरण में आ जाएगा लेकिन ये पृथ्वी पर कहां गिरेगा इसको लेकर अभी कुछ नहीं अंदाजा नहीं लगाया जा सका है। सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक 21 हजार किलो के इस रॉकेट का मलबा पृथ्वी पर जहां भी गिरेगा वहां नुकसान पहुंचा सकता है। ऐसे में यूएस स्पेस कमांड लगातार रॉकेट की स्थिति का पता लगाने की कोशिश कर रहा है।

दो दिन पहले अमेरिका के पेंटागन स्थिति स्पेस कमांड ने कहा है कि वो पूरी कोशिश कर रहा है कि चीनी रॉकेट लॉंच मार्च 5बी को ट्रैक कर सके लेकिन इस वक्त तक उसके बारे में कुछ भी पता नहीं लगाया जा सका है। चीनी रॉकेट लॉंच मार्च 5बी पृथ्वी के वातावरण में कहां से प्रवेश करेगा इस बात की जानकारी कुछ घंटे पहले ही मिल सकेगी, ऐसे में बेहद सतर्क रहने की जरूरत है। उस वक्त तक रॉकेट को लेकर हर जानकारी 18वां स्पेस कंट्रोल स्क्वाड्रन शेयर कर रहा है। अमेरिकी रक्षामंत्रालय ने कहा है कि जैसे ही इस रॉकेट बारे में सारी जानकारी मिलेगी उसे लोगों के साथ शेयर किया जाएगा।

समुन्द्र में गिरने की संभावना

कुछ वैज्ञानिकों ने कहा है कि पृथ्वी के दो तिहाई हिस्से में पानी है, ऐसे में उम्मीद की जानी चाहिए कि चीन का बेकाबू हो चुका ये रॉकेट किसी ना किसी समुन्द्र में गिर सकता है। हालांकि, इसके जमीन पर गिरने से भी इनकार नहीं किया जा सकता है। वहीं, फॉक्स न्यूज ने वैज्ञानिकों के हवाले से कहा है कि ‘ये रॉकेट न्यूयॉर्क के उत्तरी हिस्से में या फिर चीन की राजधानी बीजिंग में या फिर न्यूजीलैंड के दक्षिणी हिस्से में गिर सकता है।’ वहीं, हॉवर्ड यूनिवर्सिटी के एयरोस्पेस के प्रोफेसर जोनाथन मैकड्वेल ने कहा कि ‘मुझे नहीं लगता है कि इस रॉकेट को लेकर ज्यादा चिंता करने की बात है, ये रॉकेट थोड़ा बहुत नुकसान कर सकता है। किसी शहर को नुकसान पहुंचा सकता है लेकिन इसका रिस्क बहुत कम लग रहा है। लिहाजा इस रॉकेट की चिंता को लेकर मैं अपनी नींद खराब नहीं करूंगा’

बेकाबू हुआ चीन का रॉकेट चीन के इस रॉकेट का नाम लॉंग मार्च 5बी रॉकेट है और इसका वजन 21 टन यानि 21 हजार किलो है। इसे पिछले हफ्ते यानि 29 अप्रैल को ही लॉन्च किया गया था लेकिन अंतरिक्ष में जाने के बाद ये ऑउट ऑफ कंट्रोल हो गया है। जिसके चलते अब इस रॉकेट पर नियंत्रण बनाना काफी मुश्किल हो रहा है और वैज्ञानिकों ने आशंका जताई है कि ये रॉकेट कहीं पर भी गिर सकता है। आशंका इस बात को लेकर सबसे ज्यादा है कि अगर ये रॉकेट आबादी वाले हिस्से में गिरता है तो फिर क्या होगा? वैज्ञानिकों ने आशंका जताई है कि अगर 21 हजार किलो का ये रॉकेट किसी शहर के ऊपर गिरता है तो ये भारी तबाही मचा सकता है और सैकड़ों लोगों की जान ले सकता है। सबसे दिक्कत की बात ये है कि ये रॉकेट दुनिया के किस हिस्से में गिरेगा, इसकी सटीक जानकारी नहीं लग पा रही है।

कैसे अनियंत्रित हुआ चीनी रॉकेट?

बेकाबू हुआ चीन का रॉकेट चीन के इस रॉकेट का नाम लॉंग मार्च 5बी रॉकेट है और इसका वजन 21 टन यानि 21 हजार किलो है। इसे पिछले हफ्ते यानि 29 अप्रैल को ही लॉन्च किया गया था लेकिन अंतरिक्ष में जाने के बाद ये ऑउट ऑफ कंट्रोल हो गया है। जिसके चलते अब इस रॉकेट पर नियंत्रण बनाना काफी मुश्किल हो रहा है और वैज्ञानिकों ने आशंका जताई है कि ये रॉकेट कहीं पर भी गिर सकता है। आशंका इस बात को लेकर सबसे ज्यादा है कि अगर ये रॉकेट आबादी वाले हिस्से में गिरता है तो फिर क्या होगा? वैज्ञानिकों ने आशंका जताई है कि अगर 21 हजार किलो का ये रॉकेट किसी शहर के ऊपर गिरता है तो ये भारी तबाही मचा सकता है और सैकड़ों लोगों की जान ले सकता है। सबसे दिक्कत की बात ये है कि ये रॉकेट दुनिया के किस हिस्से में गिरेगा, इसकी सटीक जानकारी नहीं लग पा रही है।

Comments are closed.