बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

दिल्ली में गिरफ्तार आतंकी अशरफ का बिहार से है कनेक्शन,जानिए

141

पटना Live डेस्क। दिल्ली में गिरफ्तार आतंकी अशरफ अली के खुलासे से बिहार पुलिस मुख्यालय में हड़कंप मच गया है। आंतकी के बिहार कनेक्शन के खुलासे के बाद मुख्यालय ने सीमावर्ती जिलों के एसपी को अलर्ट कर दिया है। अशरफ को संरक्षण देने वाले और उसकी सहायता करने वालों की पहचान करने का आदेश दिया गया है। साथ ही बिहार के पते पर बनाए गए फर्जी आईडी की भी जांच करने को कहा गया है।
दिल्ली के लक्ष्मीनगर इलाके से आतंकी अशरफ को गिरफ्तार किया गया है। उसे आज पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया गया। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल उसे 14 दिनों की रिमांड पर लेने के फिराक में है। आईएसआई के इशारे पर दिल्ली के भीड़ भाड़ वाले इलाके में आतंकी अशरफ हमला करने के फिराक में था। लेकिन इसके पहले ही दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को भनक लग गयी। और उससे समय रहते धर दबोचा गया।

राजधानी दिल्ली के लक्ष्मी नगर इलाके से गिरफ्तार पाकिस्तानी आतंकवादी मोहम्मद अशरफ भारत में 10 वर्षों से भी ज्यादा वक्त से रह रहा था। यह सनसनीखेज खुलासा उसने शुरुआती पूछताछ में किया है। दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुशवाहा ने बताया कि शुरुआती पूछताछ में पता चला है कि वो पिछले 10 से भी ज्यादा वर्षों से भारत में रहकर आतंकियों की स्लिपर सेल की तरह काम कर रहा था।
उन्होंने कहा, ‘अशरफ एक दशक से भी ज्यादा वक्त से दिल्ली में रह रहा था। वो यहां एक भारतीय के रूप में रह रहा था। उसने अहमद नूरी के फर्जी नाम से कई तरह के पहचान पत्र बना लिए हैं।’ उसने पूछताछ में बताया कि वो अतीत में जम्मू-कश्मीर और देश के अन्य इलाकों में कई आतंकी घटनाओं में शामिल रहा है।

अशरफ ने अहमद नूरी के नाम से पासपोर्ट भी बना लिया था और दो बार विदेशों का दौरा भी कर चुका है। इसने भारतीय पहचान पत्र बनाने के लिए उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद स्थित वैशाली इलाके में एक भारतीय महिला से शादी भी कर ली थी और बिहार से पहचान पत्र भी बना लिया था। उसी पहचान पत्र के आधार पर उसने बाकी के पहचान पत्र बनवाए। उसने भारतीय दस्तावेज जुटा लेने के बाद उस महिला को छोड़ दिया जिससे उसने शादी की थी।

                       दिल्ली पुलिस का कहना है कि पाकिस्तानी नागरिक अशरफ ने अब तक किन-किन आतंकवादियों को अंजाम दिया है, इसकी जांच हो रही है। साथ ही, यह किन-किन लोगों की मदद ले रहा था, इसकी भी पड़ताल हो रही है। अब तक की पूछताछ से पता चला रहा है कि यह आतंकवाद से जुड़ी कई तरह की वारदातों को अंजाम दिया है। वह स्लीपर सेल से लेकर आतंकी वारदातों में सक्रिय भूमिका तक निभा चुका है।

Comments are closed.