बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News (वीडियो) नही लुटा गया कैश फिर भी मास्टर साहब को दे दी गई मौत, खुलेगा राज़ तो चौक जाएंगे हम और आप

पटना में एक शिक्षक की सरेआम हत्या कर दी गई, बाइक की डिक्की लाखों रुपए रह गए Untouch,पत्नी और बेटी भी थी स्कूटी से साथ साथ

620

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना के फतुहा थाना क्षेत्र के शुकुलपुर स्थित फोरलेन पर दिनदहाड़े बाइक सवार हथियारबंद अपराधियों ने बाइक सवार एक शिक्षक को गोली मार दी, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गयी। परिजनों और स्थानीय लोगों द्वारा घटना की जानकारी पुलिस को दिए जाने के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को अपने कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम के लिए नालंदा मेडिकल कॉलेज भेज दिया।

मक़तूल शिक्षक नालन्दा के मूल निवासी थे 

मक़तूल की पहचान नालंदा जिले के कराए परशुराय निवासी अमरेंद्र कुमार के रूप में की गई है, जो महेंद्रु स्थित गौतम बुद्ध मध्य विद्यालय में शिक्षक के पद पर पदस्थापित थे। बताया जाता है कि अमरेंद्र कुमार रामकृष्ण नगर थाना क्षेत्र के जकरियापुर में अपना घर बना कर अपने परिवार के साथ रहते थे। बताया जाता है कि अमरेंद्र कुमार अपनी पत्नी और बेटी के साथ अपने गांव कराय परसुराय जा रहे थे। शिक्षक अमरेंद्र कुमार जहां अकेले बाइक चलाकर अपने गांव जा रहे थे। वही उनकी पत्नी और बेटी एक अन्य परिजन के साथ बाइक पर सवार थी। नालंदा जाने के क्रम में ही फतुहा थाना क्षेत्र के फोर लेन स्थित वाटर पार्क के समीप बाइक पर सवार अपराधियों ने उन्हें गोली मार दी, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गयी। हत्या का कारण अब तक स्पष्ट नहीं हो सका है।परिजनों ने भी हत्या के कारणों को बताने में असमर्थता जताई है।

                      वहीं पुलिस ने हत्या की पुष्टि करते हुए जल्द ही पूरे मामले का उद्भेदन कर लिए जाने का भरोसा दिलाया है। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की गहन छानबीन में जुटी है। वही, मक़तूल की हत्या की वजह परिजनों के समझ से बाहर है तो वही फतुहा थानेदार भी किसी गहरे राज़ के प्रति कयास लगा रहे है।

टावर डंप से खुलेगा राज़ 

वही, इस वारदात को लेकर तमाम सवाल उठ रहे है। घटना के वक्त मक़तूल मास्टर साहब के पास 2 लाख कैश मौजूद था, वही पत्नी और बेटी एक स्कूटी से साथ साथ थे। वाइफ के पास भी कैश था पर अपराधियों ने दोनों को मिलाकर रहे 4 लाख को हाथ भी नही लगाया इससे स्पष्ट होता है कि उनका मक़सद मास्टर साहब की हत्या करना ही था।

पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) कांतेश मिश्र  इस घटना के बाबत कहते है कि अमूमन पुलिस षड्यंत्र का सिद्धांत (कांस्पीरेसी थ्योरी) जो मूलतः 5 डब्लू वन एच के सिद्धांत पर जांच में सॉल्व करती है।कौन (Who),क्या(What),कब(When),कहाँ(Where) और क्यो (Why) और कैसे (How)इसमे कई सवाल के जवाब हमारे पास है।लेकिन कई महत्व कड़ियों को जोड़ना है।इस कांड से जुड़े तमाम ऐसे बिंदु है जो ग्रामीण एसपी भी बारीकी से कड़ी से कड़ी जोड़ने की कवायद में जुटे है। साथ ही काण्ड का उद्भेदन करने खातिर ग्रामीण एसपी ने SIT का गठन किया गया है।

फतुहा थानाध्यक्ष बोले जल्द होगा खुलासा 

वही वारदात के वक्त का टावर डंप बेहद महत्वपूर्ण सुराग बनेगा इस अबतक बिल्कुल ब्लाइंड मर्डर लग रहे हत्याकांड खातिर। वही घटना के बाबत थानाध्यक्ष फतुहा मनोज कुमार भी कई बिंदुओं पर जांच कर 5 डब्लू की खोज में जुटे है। शुरुआती जांच में थानाध्यक्ष को कुछ सुराग मिले है जो काण्ड के अनुसंधान में बेहद सहायक साबित होंगे।

वही, तमाम बिंदुओं को अगर जोड़ने की कोशिश की जाय तो लगभग स्पष्ट होता है कि मामले का खुलासा कई चौकाने वाले तथ्ययो के साथ आएगा इसका अंदेशा जताया जा रहा है।

Comments are closed.