बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Motihari News|मेयर चुनाव पैसे की बरसात ! डिप्टी CM का आशीर्वाद व कुख्यात अपराधी का सिपेहसालार चुनाव में की शिरकत सहमा शहर

जरा देखिए इन तस्वीरों को क्या लगता है? आपको है न ग़ज़ब का कॉन्ट्रास्ट, एक तस्वीर राजद सुप्रीमो लालू यादव के साथ तो दूसरी तरफ डिप्टी CM के बगल में खड़ा है शख़्स, तो तीसरी तस्वीर आपके जेहन में बिजली कौंधाने में हो जाएगी कामयाब क्यो? बताते है पूरी बात आखिर क्यों सहमा है शहर

1,066

पटना Live डेस्क। बिहार में वर्षो तक कथित जंगलराज़ ख़ातिर आम लोगो से लेकर विपक्षियों के निशाने पर रहने वाले दल राष्ट्रीय जनता दल की कमान जब से सुप्रीमो लालू यादव के छोटे बेटे व वर्त्तमान में सूबे के डिप्टी CM के हाथो में आई है तब से अपने पास्ट (अतीत) से पीछा छुड़ाने की उनकी कवायद को सूबे की जनता ने हाथों हाथ लिया था। उल्लेखनीय है कि पूर्व में वर्त्तमान उपमुख्यमंत्री ने अपराध और अपराधियों को लेकर जो रुख अपनाया और उचित दूरी बनाई थी उसका बेहद सकारात्मक असर पड़ा था विशेषकर युवा वर्ग पर। लेकिन महज कुछ समय के बाद ही राजद के अघोषित सुप्रीमो व डिप्टी CM तेजश्वी यादव के साथ एक अतिदाग़दार कि तस्वीर का वायरल होना कई गंभीर सवाल खड़े कर रहा है। पहले आप यह वायरल तस्वीर देखिए फिर आपको इस तस्वीर के बाबत सच्चाई बताते हैं कि आखिर क्यों यह तस्वीर वायरल हो रही है।

दरअसल,तस्वीर में राजद सुप्रीमो व डिप्टी CM के संग खड़ा शख़्स की पहचान चम्पारण के अति दागदार बेहद बदनाम भूमाफिया व महागठबंधन में शामिल मोतिहारी के निवासी वरीय कॉन्ग्रेस नेता के बेटे छोटू जायसवाल की सरेआम दिनदहाड़े 25 नवम्बर 2017 को हुई हत्या का नामजद अभियुक्त स्पीडी ट्रायल में नामित देवा गुप्ता के तौर पर की जा रही है।

कौन है देवा गुप्ता? 

मोतिहारी ही नही चंपारण के अपराध जगत का चर्चित नाम देवा गुप्ता मूल रूप से छतौनी थाना क्षेत्र के स्पोर्ट्स क्लब के पीछे बढ़ई टोला का निवासी। इसी वर्ष 20 मार्च 2022 को पुलिस ने गोविंदगंज थाना क्षेत्र के खजुरिया गांव में 12 दिसंबर 2020 में जिले के कुख्यात अपराधी राहुल सिंह उर्फ राहुल मुखिया के भाई के शादी में उसके दरवाजे पर हर्ष फायरिंग करने के मामले में फरार देवा गुप्ता को दो थानों छतौनी और गोविंदगंज पुलिस ने छापेमारी कर उस वक्त धर दबोचा था जब वो अपने पैतृक घर पहुचा था। देवा गुप्ता को गिरफ्तार कर पुलिस ने काण्ड के बाबत पूछताछ कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। देवा गुप्ता के कानून के खिलाफ करतूतों की महज एक बानगी भर है। वर्तमान में जेल से बेल पर निकलकर सियासी ठेक बनाने में जुटा है।

देवा गुप्ता की जरायम की दुनिया मे कितनी बड़ी ठेक है यह मोतिहारी का बच्चा बच्चा जानता है। देवा गुप्ता की दबंगई गुंडई की कहानियों के बीच कथित तौर पर इसकी जमीन हड़पने की दर्ज़नो कारकर्दगी की गुज़ चहुओर सुनाई देती है। वर्त्तमान में इलाके का बेहद दबंग और विख्यात भूमाफिया के तौर पर लगातार न केवल सक्रिय और मक़बूल है। दरअसल, यह तो महज वो कहानियां है जो आम आवाम की जुबान पर है और शहर में चर्चा का विषय है।

लेकिन देवा गुप्ता की सबसे बड़ी धमक शहर मोतिहारी ने तब महसूस किया था जब वर्ष 2017 के नवम्बर महीने में नगर थाना क्षेत्र में हैदरी बाजार के कांग्रेस नेता मुनमुन जयसवाल के बेटे और वार्ड संख्या 12 की पार्षद रानी जायसवाल के देवर संजीव कुमार जायसवाल उर्फ छोटू जायसवाल को 25 नवम्बर को शहर के ज्ञानबाबू चौक स्थित चाय दुकान पर सुबह सबेरे गोलियों से छलनी कर दिया गया था। इस हत्याकांड़ की गूंज मोतिहारी से लेकर राजधानी पटना तक सुनाई दी थी। शहर के आमजन से लेकर व्यवसायी वर्ग ने सड़क पर उतर कर न केवल उग्र प्रदर्शन किया था बल्कि कई दिनों तक आंदोलन करते रहे थे। तब यह मामला राजद विधायकों द्वारा विधान सभा में भी जोरदार ढंग से उठाया गया था।

वक्त पलटा RJD में शामिल हुआ देवा गुप्ता

इसी बीच बिहार में नगर पालिका कानून में 15 वर्षों के बाद संशोधन किया गया। इसका असर बिहार के सभी 19 नगर निगम समेत 263 नगर निकायों पर पड़ा और इस बार शहरी निकायों में होने वाले नगर निगम में मेयर व डिप्टी मेयर जबकि नगर परिषद और नगर पंचायतों में मुख्य पार्षद और उप मुख्य पार्षद का चुनाव अप्रत्यक्ष न होकर प्रत्यक्ष होगा। यानी कानून में संशोधन के बाद अब मतदान के दौरान आम जनता ही अपने शहरी निकाय के प्रमुख का चुनाव करेगी।इस अवसर को अपने फायदे और हित में इस्तेमाल कर खादी पहनने की कवायद के तहत मोतिहारी के मिस्कॉट निवासी देवा गुप्ता ने शुक्रवार, 9 सितंबर को पटना में 10 सर्कुलर रोड़ स्थित पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवासीय परिसर में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव व बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव से मुलाकात कर पार्टी के नीति व सिद्धांतों में आस्था जताते हुए दल में शामिल होकर पूर्वी चंपारण जिला में राष्ट्रीय जनता दल को और मजबूत करने की बात कही।

तदुपरांत राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के निर्देश पर शनिवार 10 सितम्बर को राजधानी स्थित राजद के प्रदेश कार्यालय में देवा गुप्ता को पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। राजद में शामिल होने के बाद मोतिहारी पहुचे देवा गुप्ता का उसके समर्थकों ने जोरदार स्वागत किया

छोटू जायसवाल हत्याकांड ने शहर को कई दिनों तक अस्तव्यस्त कर दिया था।बीतते वक्त के साथ पुलिस ने इस हत्याकांड की गुत्थी सुलझाते हुए बीतते वक्त के साथ पुलिस ने इस हत्याकांड की गुत्थी सुलझाते हुए चार लोगों के खिलाफ स्पीडी ट्रायल चलाने न्यायालय से अनुरोध किया। जिनके खिलाफ स्पीडी ट्रायल चलना है उनमें रोहित सिंह उर्फ चंदन सिंह, देवा गुप्ता, सुबोध यादव, गोलू डी उर्फ आदित्य राधे शामिल हैं। इस अतिचर्चित हत्याकांड में नामजद आरोपी सह स्पीडी ट्रॉयल में उल्लेखित देवा गुप्ता ने अपने कुकर्मो और माफियागिरी को छुपाने ख़ातिर राज्य सत्ता में सशक्त राजद की सदस्यता ग्रहण कर लिया है ताकि खादी की आड़ में अपनी करतूतों को छुपा सके।

इस तमाम मय होते सुबूत खुलासे और देवा गुप्ता के कर्मकांडों की लंबी फेरहस्ति के होते नित नए खुलासे के बाद अब सवाल उठता है कि क्या राजद के अघोषीत सुप्रीमो व डिप्टी सीएम सूबे में सुशासन के दावों की लाज रखते हुए कोई एक्शन लेगे?

Comments are closed.