बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Super Exclusive -पटना में बिस्कोमान परिसर से गाड़ी में बरामद 74 लाख रुपये कैश का क्या है बिस्कोमान व होटल पनाश का कनेक्शन? जानिए कौन है संजय कुमार सिंह?

926

पटना Live डेस्क। बिहार में विधानसभा चुनाव की तिथियों की घोषणा हो चुकी है। लेकिन सूबे के तमाम बड़े दलों ने अबतक अपने उम्मीदवारों की घोषणा नही की है। टिकट की चाह रखने वाले की भीड़ पार्टी ऑफिस से लेकर दलों के तमाम बड़े लीडरान के घरों के चक्कर लगा रही है। साथ ही ये केन प्रकेण अपना टिकट कन्फर्म करने की जुगत में भिड़े है। ऐसे ही कवायद में जुटे है #सासाराम के 208 विधानसभा क्षेत्र सदर से राजद(राष्ट्रीय जनता दल)की टिकट पर चुनावी समर में भाग्य आज़माने को आकुल व्याकुल हैं संजय कुमार सिंह।

सासाराम सदर ही क्यो ?

दरअसल, बिहार विधानसभा Election 2020 खतिर सासाराम सीट के लिए राजद में जबरदस्त होड़ मची हुई है। 208 विधानसभा सासाराम सदर टिकट को होड़ की वजह बनी है वर्त्तमान विधायक डॉ अशोक कुशवाहा के राजद छोड़कर जदयू में शामिल हो जाना। इस वजह से स्थानीय नेताओं में टिकट पाने की होड़ मची है।

स्थानीय नेता कर रहे हैं हर तरह से आजमाइश

आपको बता दें कि यहां से राजद से टिकट ख़ातिर अपने अपने दावे के साथ स्थानीय चेहरे सामने आने लगे हैं। सासाराम के विभिन्न चौक चौराहों पर खासकर राजद कार्यकर्ताओं के बैनर पोस्टर दिख रहे हैं। इसी पोस्टरों के बीच आपकी नजर एक पोस्टर पर पड़ेगी तो बीती रात पटना के बिस्कोमान भवन परिसर से मिले वाहन से बरामद कैश का सच आप समझ जाएंगे। पहले आप यह पोस्टर देखिए

जानकारों की मानें तो डॉ. अशोक कुमार के राजद छोड़कर जदयू में चले जाने के बाद राजद कोटे से इस सीट पर कई स्थानीय नेता अपना भाग्य आजमाना चाह रहे हैं। जिसके लिए सासाराम से लेकर पटना तक के दौड़ लगाना जारी है। इसी होड़ में एक नाम शामिल है संजय कुमार सिंह का। चुकी सियासत में टिकट पाने की होड़ में संजय सिंह हर पहलू से सबल है। यथाशक्ति टिकट की जुगाड़ में लगे है।

इसी बीच राजधानी पटना में बुधवार को एक के नेता की गाड़ी से लाखों रुपये कैश बरामद हुआ है। साथ ही गाड़ी से पार्टी का झंडा और बैनर भी मिला है। मिली जानकारी अनुसार बिस्कोमान भवन के नीचे पटना पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए एक यूपी नम्बर की लग्जरी SUV से लगभग 74 लाख रुपये से ज्यादा कैश बरामद किए हैं।

इनकम टैक्स के अधिकारियों को दी गई सूचना

इधर, इतने बड़े अमाउंट में कैश मिलने की सूचना के बाद पटना पुलिस के बड़े अधिकारी मौके पर पहुंच गए। इनकम टैक्स के अधिकारियों को सूचना दी गई। वहीं मौके से एक व्यक्ति को गिरफ्तार भी किया गया जो खुद को वाहन का ड्राइवर सोनू के रुप में परिचय दे रहा था। पुलिस हर बिंदु पर जांच कर रही है। फिलहाल जिस शख़्स के नाम से गाड़ी रजिस्ट्रेशन की गई है उसका नाम संजय है जो बनारस के लंका इलाके में रहते हैं और गाड़ी भी वहीं के पते पर रजिस्टर्ड है। बताया जा रहा है कि पैसा बिहार विधानसभा चुनाव से जुड़ा हो सकता है। ख़ैर,

होटल मालिक की है गाड़ी

मौके से हिरासत में लिए गए वाहन के ड्राइवर सोनू ने बताया कि गाड़ी किसी संजय सिंह नाम के व्यक्ति की है। बताया जा रहा है की संजय सिंह व्यवसायी परिवार से हैं और इनके पिता का भी सासाराम में बड़ा होटल है।संजय सिंह सासाराम स्थित बीएनएस होटल के मालिक हैं। वोही इस गाड़ी से पटना आए थे।

संजय सिंह का इलाके में राजद नेता के तौर ओर रसूख है। चौक चौराहों पर पोस्टरों बैनरों में इनकी तस्वीरें राजद नेता के तौर पर चस्पा रहती है। वही, मिली जानकारी के अनुसार सासाराम सदर से चुनाव लड़ने की चाहत पिछले कई चुनावो से पाल रखे है। लेकिन इस बार सासाराम सदर इलाके में इन्हें आरजेडी से टिकटमिलने की भी चर्चा जोरदार और जबरदस्त ढंग से पसरी है। स्वजातीय एक MLC जिनका लालू परिवार से बेहद करीबी रिश्ता है के आशीर्वाद से गोटी लाल होने ख़ातिर एड़ी चोटी का जोड़ लगाये हुए है। उसी प्रयास के तहत संजय सिंह पूरी तैयारी संग पटना स्थित उस MLC के दफ्तर के नीचे गाड़ी पार्क कर पास के ही एक होटल के कमरे में बैठे थे। जहाँ विगत एक सप्ताह से पार्टी के “राजकुमार” 5 कमरों को बुक कराकर अपने लोगो से न केवल मिल बैठ रहे है बल्कि बाकायदा टिकट फाइनल भी कर रहे है। ये दावा है होटल में मौजूद पार्टी से जुड़े कार्यकर्तों का।

जांच के बाद कि जाएगी पुष्टि

इधर, घटना के संबंध में सिटी एसपी विनय तिवारी ने कहा कि जो गाड़ियां रन कर रहीं हैं, सबकी तलाशी ली जा रही है। सर्च अभियान चलाया जा रहा है. इसी क्रम में एक गाड़ी से कैश बरमाद किया गया है। मजिस्ट्रेट और अन्य अधिकारी भी मौके मौजूद हैं। गाड़ी को सीज कर जांच किया जा रहा है।किसकी गाड़ी है? कितने पैसे हैं? इन सब बिंदुओं की जांच की जा रही है। जांच के बाद ही किसी तरह की पुष्टि की जा सकेगी।

 

Comments are closed.