बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

बिहार में कई नदियां उफान पर, इन इलाकों में दोबारा गहराया बाढ़ का खतरा

287

पटना Live डेस्क। बिहार में एक बार फिर से भारी बारिश के बाद खतरा बढ़ गया है। कई नदियां उफान पर है जिसके वजह से बाढ़ की आशंका दोबारा बढ़ गई है। खास कर उत्तर बिहार के साथ कोसी क्षेत्र में संकट फिर गहराता जा रहा है। नेपाल से निकलने वाली अदिकांश नदियां लाल निशान से ऊपर बह रही हैं। गंडक का डिस्चार्ज भी काफी बढ़ गया है। नेपाल से बिहार में इस नदी के माध्यम से सोमवार को वाल्मीकिनगर बराज पर तीन लाख 53 हजार घनसेक पानी आ रहा है। राज्य में सोमवार को कुल दस बड़ी नदियां लाल निशान से ऊपर बह रही हैं।

bihar floods: Latest News, Videos and bihar floods Photos | Times of India
कोसी से भी बराह क्षेत्र में एक लाख 787 हजार और बराज पर दो लाख 38 हजार घनसेक पानी आ रहा है। उधर गंगा भी बक्सर से भागलपुर तक एक बार फिर बढ़ने लगी है। हालांकि हाथीदह और कहलगांव को छोड़कर सभी जगहों पर लाल निशान से नीचे है। कोसी और गंडक का डिस्चार्ज बढ़ने के साथ इन दोनों नदियों का जलस्तर भी लाल निशान से काफी ऊपर है। कोसी खगड़िया में लाल निशान से पौने दो मीटर ऊपर बह रही है। कटिहार में यह नदी लाल निशान से 70 सेमी ऊपर है। गंडक भी गोपालगंज में 142 और मुजफ्फरपुर में 54 सेमी ऊपर है। इन जिलों में इसका बढ़ना अभी जारी है।
हालांकि पूर्वी चंपारण में यह नदी उतर रही है और वहां लाल निशान से मात्र तीन सेमी ऊपर है। बागमती नदी सीतामढ़ी में 64, शिवहर में 99, मुजफ्फरपुर में 172 और दरभंगा में 84 सेमी लाल निशान से ऊपर है। बूढ़ी गंडक समस्तीपुर में लाल निशान से तीन और रोसड़ा में 101 तथा खगड़िया में 80 सेमी लाल निशान से ऊपर है। लालबकेया पूर्वी चम्पारण में 25 सेमी ऊपर है। अधवारा सीतामढ़ी के सुंदरपुर में 145 सेमी, महानंदा पूर्णिया में 98 और घाघरा सीवान में छह सेमी ऊपर है।

Comments are closed.