बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News-नीतीश कुमार करेंगे जनता से सीधा संवाद फिर से जनता दरबार की होगी शुरुआत

आम लोगो से सीधे संवाद न करना और जनता से दूरी पड़ी है भारी,अंदरखाने में मंथन से निकला सीटों के नुकसान का असल कारण

274

पटना Live डेस्क।बिहार के 37वें मुख्यमंत्री के तौर पर नीतीश कुमार के शपथ ग्रहण करते ही एक बार फिर से एनडीए की सरकार बन गई है। लेकिन विधानसभा चुनाव 2020 के नतीज़े जनता दल (यूनाइटेड) ख़ातिर बेहद नुकसानदेह साबित हुए है। दरअसल, वर्ष 2015 में हुए विधानसभा चुनाव में महागठबंधन के साथ रहे जदयू ने 71 सीटें पर जीत दर्ज की थी। लेकिन इसबार जदयू को काफी सीटों का नुकसान हुआ और पार्टी महज 43 सीटों पर ही अपना कब्जा बरक़रार रख पाई है। साथ ही अबतक NDA गठबन्धन में बड़े भाई की भूमिका से जदयू को महरूम होना पड़ा है। वही, प्रीपोल एलायंस के तहत NDA (जदयू, भाजपा,वीआईपी और हम) ने 125 सीटों पर जीत कर बहुमत हासिल कर लिया और पूर्व से निर्धारित व घोषित मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में सूबे नई सरकार बन गई है। लेकिन सियासी तौर पर और विधानसभा सीटों के तगड़े नुकसान की भरपाई के लिए जदयू के अंदरखाने में जमकर न केवल मंथन किया गया बल्कि नुकसान के कारणों को चिन्हित कर भविष्य ख़ातिर व वर्त्तमान ख़ातिर तैयारी शुरू कर दी गई है।

पार्टी के सूत्रों की माने तो चुनावी नतीजे आने के बाद पार्टी के अंदरखाने में मंथन का दौर चालू हुआ। जानकार बताते हैं कि इस मंथन में कई चीजें बाहर निकल कर आईं लेकिन पार्टी के रणनीतिकारों को यह मानना है कि जनता से दूरी नुकसान के पीछे की बड़ी वजह है। लिहाजा अब पार्टी दूरी पाटने की कवायद में जुट गई है। इसके लिए बकायदा जदयू ने कई सार्थक पहल के साथ कई योजनाएं को अमलीजामा पहनाने के लिए तैयारियों की रूप रेखा भी सेट किया है।

कैबिनेट मीटिंग के बाद जेडयू दफ्तर पहुंचे

सीएम नीतीश कुमार ने सोमवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली और मंगलवार को कैबिनेट की पहली बैठक की. इस बैठक में दो एजेंडो पर मुहर लगी। 23 से 27 नवंबर तक विधानसभा सत्र चलाने की सहमती बनी और दूसरा जीतन राम मांझी को प्रोटम स्पिकर बनाने का फैसला लिया लगा। कैबिनेट मीटिंग के बाद सीएम नीतीश कुमार जदयू दफ्तर पहुंचे। जदयू दफ्तर में सीएम नीतीश ने नेताओं और कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। सीएम नीतीश के जदयू दफ्तर जाकर नेताओं और कार्यकर्ताओं से मिलने को लेकर राजनीतिक जानकारों का ये मानना है कि जेडयू दूरी पाटो मिशन पर अभी से ही काम करना शुरू कर चुकी है।

फिर से जनता दरबार?

चुनाव में मिली कम सीटों के आकलन के बाद जदयू यह बात जान गई है कि जनता से उनकी दूरी ही इसकी वजह है।लिहाजा सीएम नीतीश कुमार एक बार फिर से अपने पुराने स्टाइल में लोगों से डायरेक्ट जुड़ते हुए दिख सकते हैं।

ऐसी चर्चा है कि सीएम नीतीश कुमार एक बार फिर से जनता दरबार लगा सकते हैं। जनता दरबार के जरिए लोगों से सीधा संवाद कर सकते हैं।

Comments are closed.