BiG News – उधर मैनचेस्टर में टूटा भारत का तीसरी बार वर्ल्ड कप जीतने का सपना इधर किशनगंज में अशोक की टूट गई साँसों की डोर 

612

पटना Live डेस्क। आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 में मैनचेस्टर में 2 दिन तक खेले गए पहले सेमीफाइनल मुकाबले में  न्यूजीलैंड ने टीम इंडिया को 18 रनों से हरा दिया। इसी के साथ ही भारत का तीसरी बार वर्ल्ड चैम्पियन बनने का सपना भी टूट गया। भारतीय टीम का तीसरी बार वर्ल्ड कप जीतने का सपना टूटा तो बिहार के  एक क्रिकेट दीवाने की ज़िंदगी की डोर ही टूट गई। दरअसल, वर्ल्ड कप क्रिकेट के सेमीफाइनल मुकाबले में टीम इंडिया की हार ने एक प्रशंसक की जान ले ली है।

बिहार के किशनगंज जिले के सदर अस्पताल में ड्रेसर के पद पर नियुक्त अशोक पासवान को भारतीय क्रिकेट टीम की हार का ऐसा झटका लगा कि उनका हार्ट फेल हो गया। जिससे उनकी मौत हो गई। अशोक की अचानक हुई मौत से पूरा परिवार सदमे की हालात में है। वही उनके जानकर और दोस्तो का कहना है क्रिकेट के दीवाने अशोक को विराट के वीरों की हार के सदमे ने असमय लील लिया। गौरतलब है कि अशोक पासवान क्रिकेट के बड़े प्रशसंक थे। भारतीय क्रिकेट टीम के हर मैच के बाबत न केवल जानकारी रखते थे बल्कि बड़े चाव से मैच देखते थे। वर्ल्ड कप के दौरान क्रिकेट के प्रति उनकी दीवानगी चरम पर थी। मैनचेस्टर में पहले सेमी फाइनल का मैच पूरी एकाग्रता से देख रहे थे। न्यूजीलैंड ने भारत के सामने 240 रन का लक्ष्य रखा था। लेकिन टीम इंडिया का शीर्ष क्रम लड़खड़ा गया। शुरुआती झटकों के बाद भी वह एक पल को भी टीवी स्क्रीन से नज़रे नही हटा रहे थे। दस ओवर के बाद जब स्कोर चार विकेट पर 24 रन था तथा आउट होने वाले बल्लेबाजों में रोहित शर्मा और कोहली भी शामिल थे। इसके बाद रविंद्र जडेजा (77) और महेंद्र सिंह धोनी (50) ने उम्मीद जगाई। एमएस धौनी और रवींद्र जडेजा की शानदार  बल्लेबाजी शुरू हुई तो जीत की उम्मीद के साथ अशोक हर एक शॉट पर बेहद रोमाचिंत हो रहे थे। बीच बीच में चौके छक्के लगने पर पटाखे भी फोड़ रहे थे। जैसे जैसे मैच आगे बढ़ रहा था। अशोक पासवान के चेहरे से रौनक गायब होती जा रही थी। खुशी मातम तब बदल गई जब टीम इंडिया 221 रन पर ऑल आउट हो गई और 18 रनों से भारत मैच हार गया।  हार का सदमा अशोक पासवान पर भारी पडा और उधर मैनचेस्टर में भारत का तीसरी बार वर्ल्ड कप जीतने का सपना टूटा इधर किशनगंज में अशोक की साँसों की डोर भी टूट गई और रह गया तो बस क्रिकेट के दीवाने अशोक पासवान का निर्जीव शरीर और परिजनों की सिसकियों का शोर।

Loading...