बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

बड़ी खबर – भाजपा के 200 करोड़ के घोटाले की पोल खोलने वाली कमिश्नर को ईमानदारी की मिली सज़ा, आईएएस का छुट्टी के दिन तबादला

327

पटना Live डेस्क। पीएम भले ही भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की बात कहते है पर एमपी में भाजपा सरकार को ईमानदार अफसर बिल्कुल भी रास नही आते है या यूं कहें कि फूटी आँख भी नही सुहाते है। इस की बानगी फिर दिखी है। सीए शिवराज सिंह चौहान किसी ऐसे तेजतर्रार ईमानदार अफसर को नहीं बख्स रहे है, जो पार्टी नेताओं के नाजायद दबाव बर्दाश्त नहीं कर पाता है। तभी तो शिवराज सिंह अपने राज मे एक-एक कर उन सभी अफसरों को हटा दे रहे, जो साहस दिखाकर घोटाले उजागर कर कार्रवाई की कोशिश करते हैं। पूर्व में कटनी के एसपी गौरव तिवारी को सौ करोड़ का हवाला कारोबार एक्सपोज करने पर शिवराज ने हटाया तो जनता भी सड़क पर उतर पड़ी थी। यह तो महज बानगी भर थी।

                          अब शिवराज ने पार्टी नेता के दबाव में भोपाल नगर निगम की कमिश्नर छवि भारद्वाज का तबादला कर दिया है।जिसके बाद मध्यप्रदेश की सियासत गरमा गई है। युवा आईएस छवि भारद्वाज की छवि बेहद ईमानदार और तेजतर्रार अफसर की है।मगर उन्हें शिवराज सरकार में ईमानदारी की सजा मिली है।

क्या है मामला

मध्य प्रदेश के भोपाल नगर निगम में दो सौ करोड़ रुपये का घोटाला कमिश्नर छवि भारद्वाज ने पकड़ा था। सूत्र बताते थे कि महापौर आलोक शर्मा मामले को दबाना चाहते थे। यह घोटाला स्मार्ट पार्किंग और होर्डिंग्स के ठेके से जुड़ा था। मगर छवि भारद्वाज कार्रवाई को रोकने के पक्ष में नहीं थे। सूत्र बताते हैं इस पर मेयर ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से शिकायत की। जिसके बाद  ज्य सरकार ने भोपाल नगर निगम कमिश्नर छवि भारद्वाज को हटा दिया है, उनके स्थान पर टीकमगढ़ कलेक्टर प्रियंका दास को नगर निगम का नया कमिश्नर बनाया गया है। छवि भारद्वाज की नई पदस्थापना पर्यटन विकास निगम में बतौर प्रबंध संचालक की गई है। इसके शनिवार को देर शाम आदेश जारी कर दिए। इसके साथ ही चार आईएएस अफसरों के भी ट्रांसफर किए गए हैं।

 

नगर निगम कमिश्नर छवि भारद्वाज को हटाए जाने पर विपक्षी दल कांग्रेस ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर हमला बोला है। नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की बात करते हैं,लेकिन उनकी कथनी और करनी में अंतर एक बार फिर सामने आया है। भोपाल नगर निगम की वाहन शाखा में 200 करोड़ रुपये का घोटाला सामने लाने वाली आयुक्त छवि भारद्वाज को अचानक छुट्टी के दिन हटाना इस बात का प्रमाण है कि इस घोटाले में शामिल लोगों को मुख्यमंत्री बचाना चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि चाहे कटनी के पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी हों या सतना नगर-निगम के आयुक्त कथूरिया की पोस्टिंग हो,इन दोनों ईमानदार अफसरों को पहले भी हटाकर सीएम शिवराज ने संदेश दिया है कि वह दल के भ्रष्टाचारियों का समर्थऩ करते हैं।

Comments are closed.