BiG News – हाजीपुर बना पटना के व्यवसायियों का “किलर जोन” अबतक गुंजन खेमका समेत 5 की हो चूकी है हत्या

13
#हाजीपुर बना अपराधियों का “आखेट स्थल”

#पटना के अबतक 5 व्यवसायियों की हत्या हो चुकी है हाजीपुर में
#गुंजन खेमका भी हाजीपुर में बने अपराधियों के सॉफ्ट टारगेट

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना का बेडरूम टाउन कहा जाने वाला हाजीपुर पटना के व्यपारियों का कत्लगाह साबित हो रहा है। सूबे की सरकार ने हाजीपुर में इंडस्ट्रियल एरिया का निर्माण राज्य में उद्योगों को बढ़ावा देने के खातिर स्थापित किया था। लेकिन कालांतर में जब इस इलाके में अपराधियों ने फ़ैक्ट्री मालिकों और व्यवसायियों पर गिद्ध दृष्टि डाली और ताबड़तोड़ आपराधिक वारदातों को अंजाम देकर रंगदारी की मांग करने लगे तो सुरक्षा के दृष्टिकोण से इंडस्ट्रियल एरिया थाना की स्थापना की गई। लेकिन इसका कोई फायदा नही हुआ। अपराधियों और लोकल दबंगों की करतूतों से आज़िज़ आकर कई तो फ़ैक्ट्री बंद हो गई तो कई ने अपराधियों से समझौता कर लिया। फिर क्या था वसूली के पैसे से लोकल अपराधियों ने हथियार खरीदकर अपने गिरोह को न केवल संगठित कर लिया बल्कि समय समय पर अपने मारकर क्षमता का खुलेआम मुजाहिरा करना शुरू कर दिया। इसकी बानगी उसवक्त देखने को मिली थी जब एटलस साइकल की फैक्ट्री से अपराधियों ने रंगदारी की न केवल मांग कर दी बल्कि अपने लोगो को काम पर रखने के फरमान जारी कर दिया था। चुकी मामल बड़ा था पुलिस ने ताबड़तोड़ छामेपारी कर 2-4 छोटे मोटे अपराधियों को धर दबाचा था। लेकिन कुछ वक़्त बाद फिर वही सिलसिला शुरू हो गया। वही बात अगर पटना के व्यापारियों की हत्या की बात करे तो अबतक हाजीपुर में 5 बड़े व्यापारियों की हत्या हो चुकी है।

गुंजन खेमका की हत्या                      इसी कड़ी में गुरुवार को पटना के बड़े व्यवसायी गोपाल खेमका के बेटे गुंजन को दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी। घटना हाजीपुर के पासवान चौक के पास की है। वारदात को अंजाम देने के बाद हमलावार मौके से भाग गया।स्थनीय लोगों गुंजन को तुरंत सदर अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। फायरिंग में गुंजन की कार का ड्राइवर भी घायल हो गया। उसकी हालत गंभीर है।
घटना के बबात बताया जाता है कि गुंजन गुरुवार को हाजीपुर स्थित कार्टून फैक्ट्री गए थे। दाेपहर करीब 1 बजे पासवान चाैक के पास जैसे ही वह अपनी फैक्ट्री के गेट पर कार से उतरे, पहले से घात लगाकर बैठे हमलावर ने उनपर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। पुलिस ने बताया कि गुंजन को तीन गोली लगी। वह तुरंत जमीन पर गिर पड़े। वहीं, फायरिंग में एक गोली ड्राइवर को लगी है।प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि हमलावर अकेला था। वारदात को अंजाम देने के बाद वह बिना नंबर प्लेट वाली बाइक से भाग गया। घटना की सूचना पर एसपी वैशाली समेत कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने तुरंत आसपास के इलाकों की नाकेबंदी करवा दी।

अलीगढ़ लॉक्स और लोहा कारोबारी की हत्या

उल्लेखनीय है कि पूर्व भी हाजीपुर में राजधानी के चर्चित लोहा कारोबारी सुशील वार्ष्णेय को अपराधियों ने दिन-दहाड़े हाजीपुर में गंगा ब्रिज थाने के गर्दनिया चौक के पास बाइक सवार अपराधियों ने गोलियों से भून डाला था।व्यवसायी सुशील वार्ष्णेय से लगातार वैशाली जेल से रंगदारी मांगी जा रही थी और इसी सिलसिले में वे इसकी शिकायत करने हाजीपुर गए थे। एसपी से कम्प्लेन करने के बाद वे पटना लौट रहे थे कि कुछ बाइक सवार अपराधियों ने उनपर ताबड़तोड़ गोलियां चलाईं और फरार हो गए। गोली लगने से उनकी मौके पर ही मौत हो गई थी।

इससे पहले भी पटना के कई व्यवसायी हाजीपुर की हत्या हो चुकी है। जिसमे सिटी के दो बड़े मशाला कारोबारियों की भी हत्या कर दी गई थी। पिछले 2 वर्षो के अंदर वैशाली के जिला मुख्यालय हाजीपुर शहर पटना के व्यवसायियों ख़ातिर “किलर ज़ोन” बन चुका है। पटना के बड़े कारोबारियों की हत्या के लिए हाजीपुर अपराधियों के लिए बेहद “मुफीद” ज़ोन बन चुका है। आज भी जिस जगह गुंजन की हत्या की गई उस जगह से 100 कदम की दुरी पर औद्योगिक थाना है। लेकिन फिर भी बड़े आराम से गुंजन खेमका की हत्या कर अपराधी फरार हो गया। ये बताता है वैशाली पुलिस का खौफ अपराधियों पर बिल्कुल भी नही रह गया है।

Loading...