बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

दरिन्दगी का चरम-युवक ने बुजुर्ग को मार डाला, फिर शव को जला रहा था तो भीड़ ने उसकी भी ले ली जान

दावा किया जा रहा है युवक मानसिक रूप से बीमार था फिर सवाल उठता है कत्ल के बाद शव क्यो जला रहा था? भीड़ ने उसे भी दी मौत

441

पटना Live डेस्क। कहते है हर इंसान के अंदर एक जानवर होता है। जो जब भी बाहर निकलता है दरिंदगी का चरम सामने आता है। शायद इसी तथ्य का सच बिहार के भोजपुर जिले में दिल को दहलाने वाली घटना हुई है।इस घटना की जानकारी जिसे मिल रही है, वह इस भयावह कांड के बारे में सुन कांप जा रहा है। जिले के उदवंतनगर थाना क्षेत्र के बकरी गांव में पहले एक शख्स ने बुजुर्ग को पीट कर मार दिया और फिर सूखे पत्तों के सहारे लाश में आग लगा दी।

इलाके के लोगों ने यह देखते ही उस शख्स को भी पीट-पीटकर मार डाला। यहीं नहीं जैसे को तैसा के तर्ज पर भीड़ ने उस शख्स की लाश को भी उसी तरह सूखे पत्तों के सहारे जला दिया। इस वहशीपने को बाकायदा रिकॉर्ड भी किया गया। वीडियो वायरल होते ही चंद मिनटों में हड़कंप मच गया। पुलिस पहुंची और जले हुए दोनों शवों को अपने कब्जे में कर लिया।

मिली जानकारी के अनुसार डिगरी चौधरी नाम के 70 वर्षीय बुजुर्ग घटना के वक्त वह अपने आम के बाग की रखवाली कर रहा था। इसी दौरान बगल के ज्ञानचक गांव का करीब 35 वर्षीय मुटुर यादव वहां पहुंचा। वह मानसिक विक्षिप्त बताया गया है। उसने बुजुर्ग को पीटना शुरू कर दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। मुटुर यादव इसके बाद बगल के ही खेत में पड़े सूखे पत्तों के सहारे बुजुर्ग के शव को जला रहा था। इस दौरान गांव के अन्य लोगों की नजर पड़ गई। लोगों ने पहले तो बुजुर्ग के शव को बचाया फिर मुटुर के साथ भी वही किया, जैसा वह बुजुर्ग के साथ कर चुका था।

                  9घटना की जानकारी मिलते ही आरा सदर एसडीपीओ पंकज रावत दलबल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस टीम ने आग में जल रहे मुटुर के शव को निकाला। इसके बाद दोनों शवों को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराने के लिए रवाना हो गई। घटना पर प्रशासन की ओर से कोई भी कुछ बोलने को तैयार नहीं है।

Comments are closed.