बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG Exclusive News – हाजीपुर जेल में कुख्यात गोल्ड लुटेरे की ताबड़तोड़ 5 गोलियों मार कर हत्या से सकते में सुशासन

297

पटना Live डेस्क। बिहार में सुशासन है ये दावा है नीतीश सरकार का, लेकिन ज़मीनी हक़ीक़त क्या है इससे आम आदमी खौफ़ के साये में जीने को मजबुर है।क्या गांव क्या शहर क्या कोर्ट क्या जेल हर जगह पर अपराधियों की बंदूकें शोले उगल रही है। इसी क्रम सूबे में विधि व्यवस्था और सुरक्षा के तमामदावों की धज्जियां उड़ाते हुए अपराधियों ने हाजीपुर जेल के अंदर ही हत्या के खूनी वारदात को अंजाम दे दिया। जेल के अंदर हुए गैंगवार में सोना लूट गिरोह के सरगना मनीष कुमार को अपराधियों ने गोली मार के ढेर कर दिया।

वैशाली जिले में अपराधियों का तांडव चरम पर है हत्याओं के दौर रुकने का नाम नही ले रहा है। इसी बीच हाजीपुर जेल में गोलीबारी की सूचना से जिला प्रशासन के होश उड़ गया।

बताया जा रहा है कि एक कैदी को अपराधियों ने जेल के अंदर ही गोली मार दी है। इस घटना के बाद से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है। बहुचर्चित मानसरोवर सोना लूट कांड के सरगना मनीष को अपराधियों ने गोली मार दी। जिससे उसकी मौत हो गई।इस घटना के बाद से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है।खबर के अनुसार, कैदी मनीष सिंह को अपराधियों ने 5 गोली मारी है. मनीष राजापाकड़ के तैलिया का रहने वाला था।मनीष मानसरोवर लूटकांड का आरोपी था।इसका गैंग बिहार से लेकर राजस्थान तक चलाता था।

मनीष कुमार उर्फ कालिया

कुछ दिन पहले ही वैशाली पुलिस ने सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न करने को लेकर मनीष उर्फ कालिया को गिरफ्तार किया था,।इसके बाद जेल भेज दिया गया था। कोर्ट बंदी के कारण जमानत की कार्रवाई टल गयी थी। एक-दो दिनों में मनीष उर्फ कालिया को जमानत मिल जाती और वह जमानत पर छूट जाता। कोर्ट बंदी के दौरान हाजीपुर जेल में मनीष उर्फ कालिया को साथी कैदी अनु सिंह और राजा के बीच वर्चस्व को लेकर विवाद हो गया । जेल में बंद बंदियों ने पूछताछ में अधिकारियों को बताया की दोनों ने एक दूसरे को देख लेने की धमकी भी दिया था।

शुक्रवार के दोपहर के समय जेल में मनीष उर्फ कालिया टहल रहा था की पूर्व से घात लगाएं कैदी अनु सिंह व राजा ने देशी कट्टा से गोली चला दिया, गोली लगते ही मनीष उर्फ कालिया ने घटना स्थल पर ही दम तोड़ दिया।
हाजीपुर जेल में कैदी की गोली मारकर हत्या की घटना से पुरे पुलिस मुख्यालय से लेकर कारा मुख्यालय तक सकते में हैं । सूचना मिलते ही जेल आईजी मिथलेश मिश्रा व हाजीपुर एसडीपीओ राघव दयाल जेल पहुंचे और मामले की जानकारी ली। वही घटना में इस्तेमाल किया गया पिस्तौल को पुलिस ने बरामद कर लिया है । आईजी ने जेल में हत्या को लेकर वैशाली डीएम और एसपी के नेतृत्व में एक टीम गठित कर जांच रिपोर्ट की मांग किया हैं ।

Comments are closed.