Super Exclusive(CCTv और घायलो का बयान) तारापीठ में बिहार के मंत्री पर हमला,बचाव के दौरान सुरक्षाकर्मी घायल

205

पटना Live डेस्क। नए साल के आगमन पर माँ तारा का आशीर्वाद लेने पश्चिम बंगाल के तारापीठ गए बिहार के नगर विकास व आवास मंत्री सुरेश कुमार शर्मा पर सोमवार को पश्चिम बंगाल के तारापीठ में एक होटल से जुड़े दबंगों ने हमला कर दिया। मंत्री पर हुए हमले में उन्हें बचाने में बिहार पुलिस का सुरक्षाकर्मी भी घायल हो गए। वही घटना की सूचना के बावजूद पश्चिम बंगाल सरकार उदासीन बनी रही। हालांकि, स्‍थानीय पुलिस का कहना है कि प्रथमदृष्‍टया गलती दोनों पक्ष की है।                                             जानकारी के अनुसार मंत्री सुरेश शर्मा पश्चिम बंगाल के तारापीठ में पूजा करने गए थे। पूजा-अर्चना के बाद वे अपने होटल ‘सोनार बांग्ला’ पहुंचे। वहां होटल कर्मियों से कमरा दिखाने को लेकर विवाद हो गया।आरोप है कि इसके बाद मंत्री के सुरक्षाकर्मियों ने होटल कर्मियों पर हमला किया।पूरी कवायद सीसीटीवी में कैद हो गई है।सिर्फ पटना Live पर

इस दौरान मंत्री का परिचय देने पर होटल कर्मियों ने कहा कि ऐसे न जाने कितने मंत्री होटल में ठहरने आते हैं। तकरीबन 3 मिनट 43 सेकेंड का सीसीटीवी फुटेज भी होटल ने मीडिया से साझा किया है जो मंत्री के साथ रहे लोगो की दबंगई की कहानी को बयान करता है। वही जब मामल बढ़ा तो फिर जवाब में होटल कर्मियों ने मंत्री के काफिले पर हमला कर दिया। हमले के दौरान मंत्री सुरेश शर्मा का बचाव करने के दौरान उनके साथ रहे सरकारी सुरक्षाकर्मी मनीष कुमार और ड्राइवर गणेश को चोट आई है। इस वारदात में बिहार पुलिस का जवान जो मंत्री की सुरक्षा में था उसका हाथ टूट गया है।घटना के बाद घायलों को स्थानीय अस्पताल में इलाज के लिए भेजा गया। इलाज के दौरान घायल बिहार पुलिस के जवान मनीष का बयान कुछ इस तरह का रहा..

वही इस घटना के बाबत मीडिया से बातचीत में पश्चिम बंगाल के वीरभूम जिले के एसपी ने कहा है कि बिहार सरकार के मंत्री के स्टाफ ने होटल सोनार बंगला के स्‍टाफ के साथ पहले जमकर दबंगई एयर मारपीट की फिर मामला बिगड़ गया। बकौल एसपी के मंत्री के गार्ड और समर्थकों ने होटल स्टाफ ने पहले बदसलूकी की फिर से न केवल हाथ  के बाद होटल के स्‍टाफ को गोली मार देने की धमकी दी। मंत्री महोदय के स्टाफ की तमाम दबंगई के बाद होटल स्टाफ भी बिफर उठा और फिर घटना घटित हुई।

वही दूसरी तरफ मंत्री के आप्त सचिव संजीव कुमार ने बताया कि पश्चिम बंगाल सरकार ने मामले का संज्ञान नहीं लिया। उसने प्रोटोकॉल का भी पालन नहीं किया। पूर्व सूचना के बावजूद मंत्री को सुरक्षा उपलब्ध नहीं कराई गई थी। उन्‍होंने बताया कि घटना के बाद स्‍थानीय थाना को सूचना दी गई, लेकिन पुलिस नहीं पहुंची। घटना में मंत्री का ड्राइवर गणेश कुमार का सर फट गया है। वही सरकारी सुरक्षाकर्मी मनीष कुमार गंभीर रूप से घायल हो गए।इसके बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय को घटना की सूचना दी गई। गृह मंत्रालय ने घटना को गंभीरता से लिया। इस बीच घटना की जानकारी मिलने पर स्थानीय बिहारी एकत्र हो गए। उन्होंने मंत्री को पूरी तरह सुरक्षित बताया। इस बीच मंत्री से पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने बात की है। वही वीरभूम जिले के एसपी ने बताया कि घटना की जांच आरंभ कर दी गई है।

Loading...