बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Gopalganj के महागठबंधन प्रत्याशी के खिलाफ आयोग पहुची BJP कहा रद्द हो नामांकन शपथ में फैक्ट छुपाया

गोपालगंज के महागठबंधन प्रत्याशी पर फैक्ट छुपाने का भाजपा ने लगाया गंभीर आरोप महागठबंधन प्रत्याशी को बताया शराब माफिया, सीएम नीतीश कुमार से पूछा क्या शराब माफिया का करेंगे चुनाव प्रचार?

148

पटना Live डेस्क। बिहार के मोकामा और गोपालगंज विधानसभा उपचुनाव के मतदान की तिथि जैसे-जैसे नजदीक आ रही है। वैसे-वैसे दोनो गठबंधन के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी तेज हो गया है। इसी बीच भाजपा ने महागठबंधन प्रत्याशी के खिलाफ चुनाव आयोग का दरवाजा खटखटाया है। भाजपा द्वारा गोपालगंज से महागठबंधन के प्रत्याशी का नामांकन रद्द करने की मांग की गई है। अपनी लिखित शिकायत में भाजपा ने कहा है कि राजद उम्मीदवार के खिलाफ शराब कंपनी से जुड़े मामले में पडोसी राज्य झारखंड के गिरिडीह में एक FIR एफआईआर दर्ज है। लेकिन उन्होंने इसकी जानकारी अपने चुनावी शपथ पत्र में नहीं दी है। साथ ही भाजपा ने मुख्यमंत्री से पूछा है कि क्या,शराब व्यापारी का प्रचार करेंगे नीतीश?

भाजपा ने मांग की है कि गोपालगंज सदर से महागठबंधन के प्रत्याशी मोहन प्रसाद के नामांकन पत्र की जांच की जाए। जांच के बाद अगर उनकी शिकायत सही पाई जाती है तो उनके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाए। बीजेपी ने आरोप लगाया है कि चुनाव के नियमों के मुताबिक ये वोटर्स से फैक्ट छुपाने की श्रेणी में आता है।

सिल्वर हेरिटेज स्प्रिट (LLP) कंपनी

भारतीय जनता पार्टी के आरोप के मुताबिक मोहन प्रसाद गुप्ता सिल्वर हेरिटेज स्प्रिट (LLP) कंपनी (शराब बनाने वाली सह वितरक) में डायरेक्टर हैं। यहाँ LLP का मतलब है लिमिटेड लायबिलिटी पार्टनरशिप है। भाजपा के इस आरोप के बाबत जब पटना Live ने कंपनी के बाबत तहक़ीक़ात की तो पता चला कि यह कपनी इसी वर्ष 11 फरवरी 2022 को कानपुर से इन -कॉर्पोरेट हुई है। इसके LLP में 4 पार्टनर है अखिलेश कुमार सिंह, दीपक कुमार, महेशकुमार भूरालाल टन्ना और मोहन प्रसाद। वही सिल्वर हेरिटेज स्प्रिट (LLP) कंपनी प्रयागराज (इलाहबाद) के 55 एचआईजी मम्फोर्डगंज हाउसिंग स्कीम के पते पर रजिस्टर्ड है। वही इस कंपनी मोहन प्रसाद बाहैसियत इंडिविजुअल पार्टनर के तौर पर उल्लेखित है। भाजपा का दावा है की इसी कंपनी पर पहले से ही मामला दर्ज है। उल्लेखनीय है इसी DIN ने करिए मोहन प्रसाद एक और कंपनी में डायरेक्टर है जो मिलन मेगा मार्ट प्राइवेट लिमिटेड नाम से दिल्ली के एड्रेस पर निबंधित है।

भाजपा ने कहा है कि राजद उम्मीदवार मोहन प्रसाद उर्फ मोहन प्रसाद गुप्ता पर शराब कंपनी से जुड़े मामले में पडोसी राज्य झारखंड के गिरिडीह में एफआईआर दर्ज है। लेकिन उन्होंने इसकी जानकारी अपने चुनावी शपथ पत्र में नहीं दी है। शपथ पत्र में खुद पर सिर्फ 2 मामलों का उल्लेख किया है।

इस मुद्दे पर विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष सम्राट चौधरी ने सीएम नीतीश कुमार पर तंज कसा है। उन्होंने कहा, ‘क्या शराब माफिया का करेंगे चुनाव प्रचार? उन्होंने कहा, नीतीश कुमार अपने वसूलों से डिग गए हैं। अब वो सिर्फ रबड़ स्टांप रह गए हैं।

बोले मोहन गुप्ता 

वहीं बीजेपी के आरोपों पर आरजेडी प्रत्याशी ने कहा कि चुनाव के वक्त उनकी छवि को खराब करने और लोगों के बीच में भ्रम की स्थिति पैदा करने के लिए मनगढ़ंत आरोप लगाए जा रहे हैं।राजद प्रत्याशी ने कहा जिस शराब कंपनी का जिक्र किया जा रहा है। उस कंपनी से उन्होंने पहले ही इस्तीफा दे दिया है। अब इस्तीफा देने के बाद उस कंपनी के सदस्य के ऊपर क्या एफआईआर हुआ है। और क्या मामला है। उन्हें इसकी जानकारी नहीं है।

Comments are closed.