बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

त्रासद शर्मनाक! सड़क किनारे फेंका मिला 4 वर्ष का अबोध मासूम देखने को जुटी भीड़ चाइल्ड होम के हवाले

आखिर माँ की ममता और पिता के स्नेह से वंचित तिरस्कृत इस दिव्यांग अबोध मासूम का गुनाह क्या है? आखिर क्यों इसे सड़क पर लावारिस छोड़ गए?

320

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना के नेउरा कॉलोनी में मानवता को शर्मसार करने वाला दृश्य सामने आया है। जहां लावारिस हालत में चार वर्ष के दिव्यांग अबोध बच्चे को फेंक दिया गया। वह खुली आँखों से टकटकी लगाए सड़क किनारे पड़ा मिला। उसे देखने के लिए काफी संख्या में भीड़ जुट गई। लोग अभागी उस माँ और निर्दयी बाप को कोसते गरियाते उन्हें लानतें देते हुए तमाम तरह की चर्चा करते रहे। इसी बीच किसी के द्वारा मिली सूचना मिलने पर खगौल थाना की पुलिस मौके पर पहुंची। ख़ाकीवालों ने आसपास के लोगों से पूछताछ की। लेकिन, तमाम कवायदों के बावजूद किसी ने उस बच्चे के बारे में कोई जानकारी नहीं दी।पुलिस ने उस बच्चे को चाइल्ड होम को सौंप दिया है।

                    खगौल थाना प्रभारी तरुण कुमार ने बताया कि स्थानीय लोगों के माध्यम से सूचना प्राप्त हुई कि लावारिस हालत में एक चार साल का बच्चा सड़क किनारे पड़ा हुआ है। उन्होंने बताया कि बच्चा विकलांग है और मानसिक रूप से कमजोर प्रतीत हो रहा है। उन्होंने बताया कि आसपास के सीसीटीवी कैमरा को खंगालने का प्रयास किया जा रहा है। लेकिन आसपास में वहां पर कोई भी सीसीटीवी कैमरा लगा हुआ प्रतीत नहीं हो रहा है। उन्होंने पटना के चाइल्ड होम के लोगों को इसकी सूचना दे दी है।अबतक बच्चे के परिजन का कोई पता नहीं लगा है।

मासूम अबोध की आँखें पूछ रही है सवाल आखिर क्यों?.माँ की ममता और पिता के स्नेह से वंचित कर तिरस्कृत कर क्यों मुझ दिव्यांग अबोध मासूम को सड़क और फेक दिया गया? इन नन्ही खुली आँखों के सवाल का है कोई जवाब? 

 

Comments are closed.