BiG News – खौफ़नाक ! बाढ़ में 2 मासूमों की गला दबाकर हत्या से मचा कोहराम, ASP ने संभाला मोर्चा अपराधियों की जल्द गिरफ्तारी का दावा

469

पटना Live डेस्क।पटना के बाढ़ अनुमंडल के बाढ़ थाना अंतर्गत आठ और दस वर्षीय दो बच्चों की गला दबाकर हत्या कर दिए जाने की बात सामने आई है। घटना के बाद से इस पूरे मामले की एएसपी लिपि सिंह खुद मॉनिटरिंग कर रही हैं। साथ ही बाढ़ पुलिस का दावा है कि घटना को कारित करने वाले अपराधियों को जल्द से जल्द से गिरफ्तार कर लिया जाएगा है।

वही, इस बेहद खौफ़नाक घटना के बाबत मिली जानकारी के अनुसार यह घटन बाढ़ थाना क्षेत्र के ढेलवा गोसाई मोहल्ले में शिव मंदिर के सामने एक अल्पसंख्यक परिवार की ईद की खुशियों पर उसवक्त तुषारापात हो गया जब उक्त परिवार के दो मासूम बच्चों की गला दबाकर हत्या कर दी गई। घटना की जानकारी मिलते ही सनसनी मच गई और आननफानन में बाढ एएसपी के नेतृत्व पुलिस टीम मौके पर  कैम्प कर रही है। ताकि कोई अप्रिय घटना अथवा साम्प्रदायिक सौहार्द न बिगड़े।घटना के बाबत मिली जानकारी के अनुसार बाढ़ थाना क्षेत्र के ढेलवा गोसाई मोहल्ले में गुरुवार की देर शाम उस वक़्त सनसनी फैल गई जब एक घर से दो सगी बहनों की लाश मिली। यह वारदात मो. मुख्तार अंसारी के घर हुई है। उनकी दो बेटियों दिलखुश और दामिनी की डेडबॉडी घर के अंदर से मिली है। मो.अंसारी पास के ही मस्जिद के समीप दुकान में दर्जी का काम करते हैं। जिस वक्त इन दोनों की लाश बंद घर में मिली, उस दौरान घर में कोई नहीं था। गुरुवार को पिता अपने काम पर थे। वही, ईद के दिन यानी बुधवार को ही मां अपने एक बेटे और दो बेटियों को लेकर लखीसराय चली गई थी। गुरुवार को जब माँ वापस लौटी और घर का दरवाजा खोला तो अंदर का नजार देख उसके होश उड़ गए। सामने में उसकी दोनों बच्चियों की लाश पड़ी हुई थी।

मामले की जानकारी पुलिस को दी गई। वारदात की सूचना मिलते ही बाढ़ थाना पुलिस के साथ ही बाढ़ की एएसपी लिपि सिंह भी मौके पर पहुंच गईं। एएसपी लिपि सिंह ने बताया कि मौत के कारणों का फिलहाल पता नहीं चल सका है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत की सही वजह बताई जा सकती है।

घटना के बाद से पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है। लेकिन घटना का कारण अभी स्पष्ट नही हो पाया है। लेकिन दो सगी बहनों की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत का मामला बेहद पेचीदा है। वही,कत्ल कर दी बच्चियों में एक बच्ची की आंख खराब होने के कारण वह कुछ देख नहीं सकती थी।

                     वही, दोनों बच्चियों के शव के गले पर दुपट्टा मौजूद था। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं दुपट्टे से गला घोंटा गया हो। लेकिन सबसे बड़ा सवाल है कि आसपास पड़ोस के किसी को भी भनक तक नही लगी ना ही किसी प्रकार का शोर शराबा ही किसी ने सुना। इसका साफ मतलब है कि जिस किसी ने भी इस वारदात को अंजाम दिया है वो दोनो बच्चियों को जानता था और वो भी उसे जानती थी। उम्मीद की जा रही है कि इस कांड का खुलासा भी बेहद सनसनीखेज होगा ।

Loading...