Big News – पैसा पहुंचाना है तो पहुंचाओ – रंगदारी नही मांगी जा रही बल्कि सुशासन के BDO साहब की धुसखोरी खातिर रंगदारी वाली भाषा है, सुने वायरल ऑडियो

0
150

पटना Live डेस्क।अमूमन हम सभी सरकारी कर्मचारियों के रिश्वतखोरी की कहानियों को पढ़ते रहे है,देखते रहे,सुनते रहे है। साथ ही इस बात से भी अवगत है कि ये लेंन देंन का व्यवहार बड़े शालीनता से गुमचुप ढंग से अंजाम पाता है। लेकिन वक्त बदला तो अब घुस की रकम भी बतौर “रंगदारी” वसूली जा रही है ये बिहार की सुशासन सरकार में वायरल हो रहा है। वायरल ऑडियो में प्रखंड विकास पदाधिकारी एक माली से रिश्वत की रकम लताडते हुए मांग रहे है। दरअसल रोहतास में एक ऑडियो वायरल हुआ है जिसमें बीडीओ और माली के बीच लेन-देन की बात हो रही है। दोनों के बीच मोबाइल पर बातचीत हो रही है। माली रिश्वत की रकम कम करने की गुजारिश कर रहा है। वो बोल रहा है कि पचास हजार ज्यादा हैं,सर कुछ कम कीजिए।

यह मामला 10 अगस्त, 2017 को प्रखंड के ODF होने पर आयोजित कार्यक्रम को लेकर फूल-पत्ती सजाने के टेंडर से जुड़ा हुआ है। उस वक्त बीडीओ सुशील कुमार रोहतास के अकोढ़ीगोला में पोस्टेड थे। वर्तमान में सुशील कुमार अरवल में पदस्थापित हैं। घुसखोरी के इस मामले को लेकर डिहरी सीजेएम यहां बीडीओ के खिलाफ परिवाद भी दायर है। पीड़ित माली अमित मालाकार का कहना है कि ओडीएफ के लिए आयोजित कार्यक्रम हेतु उसे फूल-पत्ती सजाने का टेंडर मिला, जिसके बाद उसे 10 हजार एडवांस तथा 96 हजार आरटीजीएस के माध्यम से भुगतान भी हुआ। बकाये रकम 1 लाख, 64 हजार के भुगतान के लिए बीडीओ द्वारा 50 हजार रिश्वत की मांग की जा रही थी। आप भी सुने घूसखोरी खातिर रंगदारी करते BDO साहब की वायरल ऑडियो …

इधर, बीडीओ सुशील कुमार ने फोन पर बताया कि ये बातचीत उनकी नहीं है। हालांकि उन्होंने माना कि मोबाइल पर माली से बातचीत हो रही थी। उनके एक रिश्तेदार फूल सजवाने की खातिर माली अमित से बात कर रहे थे। ये उसी का ऑडियो है। बहरहाल अब सच्चाई क्या है, ये तो जांच के बाद ही पता चलेगी।