लालु यादव के बेनामी सम्पति मामले में सूमो का नया खुलासा रेलवे के खलासी ने बेटी हेमा यादव को दान में दी 70 लाख की जमीन

104

पटना Live डेस्क। सुबे की सियासत में भाजपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने एक बार फिर से राजद सुप्रीमो की बेनामी संपत्ति काे लेकर नया खुलासा किया है। बकौल सूमो रेलवे के एक खलासी ने लालु की पांचवे नंबर की बेटी हेमा यादव को 70 लाख की जमीन दान में दे दी। साथ ही सुशील मोदी ने लालू यादव पर तंज कसते हुए कहा कि सरोगेट मदर के बारे में तो सुना है लेकिन लालू यादव के पास तो सरोगेट संपत्ति है।

मोदी ने पटना में जनता के दरबार कार्यक्रम के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा कि यादव के परिवार को जमीन दान देने वालों का सिलसिला अंतहीन नजर आ रहा है। उन्होंने कहा कि यादव की पुत्री हेमा यादव को गरीबी रेखा से नीचे जीवन बसर करने वाले ललन चौधरी ने ही केवल 62 लाख रुपए की 7.75 डिसमिल जमीन दान में नहीं दी बल्कि उसी दिन रेलवे के कोचिंग कॉम्पलेक्स स्टोर राजेन्द्रनगर पटना में कार्यरत खलासी हृदयानंद चौधरी ने भी इतनी ही जमीन दान में दी।


भाजपा नेता ने कहा कि दिलचस्प बात यह है कि सीवान के सियाढ़ी बड़हरिया के रहने वाले ललन चौधरी और गोपालगंज के उचकागांव थाना क्षेत्र के इटवा गांव निवासी हृदयानंद चौधरी ने एक ही दिन 29 मार्च 2008 को स्वर्गीय देवकी राय के दो पुत्र विशुनदेव राय और ब्रजनंदन राय से एक ही कीमत 4.21 लाख रुपए पर 7.75 डिसमिल जमीन पटना के दानापुर में खरीदी थी। इसके बाद ललन चौधरी और हृदयानंद चौधरी ने 13 फरवरी 2014 को दोनों जमीन यादव की पुत्री हेमा यादव को दान में दे दी। इसके साथ ही सुशील मोदी ट्वीट कर संबंधित दस्तावेजों को भी शेयर किया है।
सुशील मोदी ने अपनी बातों को विस्तार देते हुए आगे कहा कि लालू यादव ने बिहार की गरीब जनता को लूटा और अपने परिवार के लिए बेनामी संपत्ति बना ली  उन्होंने कहा कि लालू यादव पर लगे आरोपों की जांच करवा कर ही हम दम लेंगे। सुशील मोदी ने कहा कि राजद प्रमुख ने जो अवैध संपत्ति इकट्ठी कर ली है, उसका पर्दाफाश करना जरूरी है।