13 दिन बाद आज 2 बजे पटना पहुंचेंगे राजद सुप्रीमो लालू यादव, मुम्बई के एशियन हार्ट हॉस्पिटल में चल रहा था इलाज

0
133

पटना Live डेस्क। 13 दिन बाद आज राजद सुप्रीम 2 बजे यात्री विमान सेवा से मुम्बई से पटना लौट रहे है। पटना एयरपोर्ट से लालू सीधे 10 सर्कुलर रोड स्थित अपने आवास रवाना हो जाएंगे। लालू यादव अपने ईलाज खातिर 22 मई की शाम मुंबई गए थे। 21 मई को हाईपरटेंशन की वजह से लालू की तबीयत अचानक खराब हो गई थी। इस वजह से 12 दिनों तक एशियन हार्ट हॉस्पिटल में चला लालू का इलाज।।लालू प्रसाद यादव का 22 मई को मुंबई के एशियन हार्ट अस्पताल में भर्ती हुए थे। यहां 12 दिनों तक उनका इलाज चला है। 21 मई को लालू को हाइपरटेंशन हो गया था। उन्हें तुरंत आईजीआईएमएस अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इसके अगले दिन लालू मुंबई के लिए रवाना हुए थे।लालू के पर्सनल फिजिशियन डॉ. एसके सिन्हा का कहना है कि लालू का शुगर लेवल अचानक बहुत बढ़ जाता है फिर घट जाता है।2014 में लालू का ऑपरेशन हुआ था फिर उनकी किडनी में स्टोन हो गया है।                         मेडिकल वजह से मिली थी बेलगौरतलब है कि चारा घोटाला में सजायाफ्ता लालू रांची के बिरसा मुंडा जेल में बंद थे। झारखंड हाईकोर्ट ने उन्हें इलाज कराने के लिए 6 सप्ताह का प्रोविजनल बेल दी थी।लालू यादव पिछले काफी समय से बीमार चल रहे हैं। उन्हें किडनी स्टोन, ब्लड प्रेशर और शुगर की बीमारी है।चारा घोटाला के देवघर ट्रेजरी केस में 23 दिसम्बर, 2017 को दोषी करार दिए जाने के बाद लालू यादव रांची जेल भेजे गए थे। इस केस में 6 जनवरी 2018 को लालू समेत 16 आरोपियों को साढ़े तीन साल की सजा सुनाई गई थी।तबीयत बिगड़ने पर लालू यादव को 17 मार्च को रिम्स में भर्ती किया गया था। सुधार नहीं होने पर 28 मार्च को उन्हें एम्स रेफर किया गया था।एम्स से उन्हें पुन: 30 अप्रैल को डिस्चार्ज कर रिम्स भेज दिया गया था। लालू की ओर से हाई कोर्ट में इलाज के लिए जमानत की अर्जी दी गई थी। इस पर कोर्ट ने उन्हें 6 सप्ताह का प्रोविजनल बेल दिया था। इसी बेल पर लालू 16 मई को जेल से बाहर निकले थे और पटना आए थे।

चाराघोटाले के 6 मामलों में से 4 में हुई लालू को सजा

चाईबासा ट्रेजरी का पहला केस: 30 सितंबर 2013 को कोर्ट ने लालू यादव को दोषी माना। पांच साल जेल की सजा हुई। 25 लाख रुपए का जुर्माना भी उन पर लगाया गया था। इस मामले में लालू को जमानत मिल चुकी है।देवघर ट्रेजरी केस: 23 दिसम्बर 2017 को दोषी करार। 6 जनवरी 2018 को लालू समेत 16 आरोपियों को साढ़े तीन साल जेल की सजा सुनाई गई। लालू पर 10 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया गया।
वही, चाईबासा ट्रेजरी का दूसरा केस: 24 जनवरी 2018 को लालू दोषी करार। इसी दिन उन्हें पांच साल की सजा सुनाई गई। दस लाख रुपए जुर्माना। फिर दुमका ट्रेजरी केस: मार्च 2018 में लालू यादव को दोषी माना गया। पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र बरी हुए। 24 मार्च को लालू को 7-7 साल की सजा सुनाई गई। दोनों सजाएं अलग-अलग चलेंगी। यानी कुल 14 साल। लालू पर 60 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया गया। इन तीनों मामलों में लालू सजा काट रहे हैं।

2 केस में चल रही सुनवाई

वही चारा घोटाले के 2 मामलों की सुनवाई अब भी जारी है। इनमें एक  डोरंडा ट्रेजरी केस की सुनवाई भी रांची में चल रही है। वही दूसरा मामला भागलपुर ट्रेजरी का है। इसकी सुनवाई पटना की सीबीआई कोर्ट में चल रही है।

Loading...