Big Breaking – लालू यादव 10 मई को रांची से आयेंगे पटना, तेजप्रताप की शादी खातिर मिला 5 दिन का पेरोल-सूत्र

0
138

पटना Live डेस्क। राजद सुप्रीमो लालू यादव अपने बड़े पुत्र तेजप्रताप के ब्याह में शामिल होंगे या नही की अटकलों पर अब विराम लगता दिख रहा है। विश्वस्त सूत्रों का दावा है कि अब यह बात बिल्कुल स्पष्ट हो गया है कि लालू यादव अपने बेटे की शादी में शरीक होंगे। दरसअल सोमवार को लालू यादव को पेरोल पर छोड़ने के लिए नियमानुसार जेल सुपरिटेंडेंट के मार्फत वाया आईजी (कारा) झारखण्ड सरकार के पास आवेदन दिया गया है।
चारा घोटाले में सजायाफ्ता होकर रांची के होटवार जेल में सज़ा भुगत रहे है।वर्त्तमान में तबियत नासाज़ होने की वजह से रांची के रिम्स में इलाजरत है।नियमानुसार लालू प्रसाद ने अपने बड़े बेटे तेजप्रताप यादव की शादी में शामिल होने के लिए पेरोल का आवेदन दिया है। जेल सुपरिटेंडेंट को सौंपे गए लालू यादव के आवेदन को जेल आईजी को भेजा दिया गया है।
उल्लेखनीय है कि तेजप्रताप की शादी 12 मई को पटना में हो रही है।वही पेरोल के आवेदन के जरिए बकौल सूत्रों के लालू की ओर से एक माह के लिएअावेदन दिया गया। इस पर आईजी जेल को विचार करना है। पेरोल के लिए संबंधित कैदी के बारे में रिपोर्ट जेल सुपरिटेंडेंट से मांगी जाती है।इस रिपोर्ट के आधार पर ही जेल आईजी निर्णय लेते हैं। लालू के मामले में भी रिपोर्ट मांगी गई और वो रिपोर्ट भी आईजी को मिल चुकी है।
वही पेरोल अवधि के बाबत जो सूत्रों से खबर मिल रहा है उसके अनुसार झारखण्ड सरकार ने 10 मई से 15 मई तक लालू यादव को अपने बड़े बेटे तेजप्रताप यादव की शादी में शामिल होने के लिए पेरोल पर छोड़ने का फैसला ले लिया है। लेकिन इसकी अभी तक इस आशय की आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। कयास लगाए जा रहे है कि इसकी घोषणा जल्द ही कि जाएगी।
इधर, लालू यादव को पेरोल पर छोड़ने के लिए आवेदन देनेवाले राजद विधायक भोला यादव ने बताया कि मैंने उचित माध्यम से सोमवार को ही पेरोल पर छोड़ने के लिए सरकार को आवेदन दिया है। लेकिन अभी तक सरकार की तरफ से उन्हें कोई सूचना नहीं दी गई है।भोला यादव ने कहा कि उनको झारखण्ड  सरकार के फैसले का बेसब्री से इंतज़ार है।           गौरतलब है कि लालू यादव को पेरोल पर छोड़ने के पहले सरकार उनकी सेहत को लेकर  रिम्स के निदेशक से सलाह मशविरा कर चुकी है।सूत्रों के अनुसार निदेशक ने लालू यादव की सेहत सामान्य होने की रिपोर्ट सरकार को दे दी है। सूत्रों के अनुसार शादी समारोह से लौटने के तुरंत बाद लालू यादव का मेडिकल जांच कराकर झारखण्ड सरकार उन्हें यथाशीघ्र अस्पताल से जेल में जल्द से जल्द शिफ्ट करना चाहती है।

Loading...