Exclusive – हद है सुबे में मृतक को बाप बेटे बाइक पर ढोने को मजबूर है, वही सुबे का स्वास्थ्य मंत्री सहबाला बना घूम रहा है।

0
24

पटना Live डेस्क। सुबे की स्वास्थ्य सेवा का हाल क्या है ये महज एक तस्वीर से पता चलता है।

इस तस्वीर में एक पति अपनी पत्नी को और एक बेटा अपनी माँ के मृत शरीर को बाइक पर ढोने को मजबूर है जानते है क्यो क्योकि करोड़ो करोड़ के बजट वाला बिहार सरकार का स्वास्थ्य मंत्रालय मकतूल को एक अदद एम्बुलेंस मुहैया नही कराता है। यह घटना पुणियाँ सदर अस्पताल की है। जहां मृतक को अस्पताल प्रशासन ने ऐम्बुलेंस मुहैया नही कराया तो पिता पुत्र ने शव को मोटरसाइकिल के बीच मे रख लिया और चल पड़े।


उल्लेखनीय है कि सूबे के लोगो के स्वास्थ्य की ज़िम्मेदारी लालु यादव के ज्येष्ठ पुत्र तेजप्रताप यादव पर है। सुबे का गरीब आदमी सरकारी अस्पताल के भरोसे है। सरकारी अस्पतालों के हालात से सभी वाकिफ़ है। वही तेजप्रताप यादव अक्सर चर्चा में रहते है पर अपने मंत्री के कर्तव्यों से नही इसके इतर की हरकतों से। वही जब सुबे में मृतक को बाप बेटे बाइक पर ढोने को मजबूर है, तो दूसरी तरफ सुबे का स्वास्थ्य मंत्री सहबाला बना घूम रहा है।