सृजन घोटाले के तार ढूंढने में लगी सीबीआई,मनोरमा देवी के साथ खिंचवाई गई नेताओं की फोटो पर जांच एजेंसी की खास नजर

21

पटना Live डेस्क. भागलपुर के सृजन घोटाले में सीबीआई नेताओं की भूमिका की पड़ताल में जुटी है. सृजन की कर्ताधर्ता मनोरमा देवी के साथ कई राजनीतिक पार्टियों के नेताओं के संबंध उजागर हुए हैं. इसकी गवाह मनोरमा देवी के साथ खिंचाई गई वो तस्वीरें हैं जिसकी पड़ताल सीबीआई कर रही है. सीबीआई यह पता करने में भी जुटी है कि निलंबित बीजेपी नेता बिपिन शर्मा के साथ बीजेपी नेताओं के क्या संबंध रहे हैं. इस मामले में सृजन के लोगों से पूछताछ की जा रही है. आसपास के लोगों से भी जानकारियां जुटाई जा रही हैं.

सीबीआई यह भी पता करने में जुटी है कि बीजेपी नेता विपिन को किस पार्टी नेता के परिचय पर पार्टी में जोड़ा गया था. दरअसल बिपिन शर्मा का नाम मनोरमा देवी के बाद सबसे बड़े घोटालेबाजों के तौर पर सामने आ रहा है.

विपिन का संबंध भाजपा के बड़े नेताओं से रहा है. यही कारण था कि वह अपने भाई को 2005 में भाजपा से टिकट दिलाने में सफल रहा था. विपिन का भाई बिहपुर विधानसभा का चुनाव भाजपा की टिकट पर लड़ा था. सरकार यह पता लगा रही है कि मनोरमा देवी व विपिन शर्मा के साथ किन-किन नेताओं के संबंध थे.जिन नेताओं की तस्वीर मनोरमा व विपिन के साथ है उनसे यह पता लगाया जा रहा है कि तस्वीरों के आगे नेताओं के रिश्ते क्या थे. भाजपा से बर्खास्त विपिन शर्मा सृजन की सचिव मनोरमा देवी, प्रिया कुमार व अमित कुमार के बाद सबसे बड़े आरोपित बनते दिख रहे हैं. शर्मा की पत्नी के खिलाफ पुलिस में प्राथमिकी भी दर्ज कराई जा चुकी है. बड़े नेताओं को हैंडल करने की जिम्मेदारी शर्मा के पास ही रहती थी.

सृजन मामले में जांच कर रही सीबीआइ टीम तीन दिनों से एसएसपी आवास में फाइलों की पड़ताल कर रही है. जानकारी के मुताबिक पुलिस से सीबीआइ ने उन तसवीरों को भी अपने कब्जे में लिया है, जिनमें मनोरमा देवी के साथ अन्य लोग भी दिख रहे हैं.