बडी खबर – शराब मुक्त गाँव बनाने के नीतीश के सपने को मुजफ्फरपुर में लगा पलीता,शराब माफिया ने दंपति पर बरपाया कहर ठोका 2 लाख का जुर्माना

0
13

मनोज कुमार, ब्यूरो कोर्डिनेटर, मुजफ्फरपुर

पटना Live डेस्क। बिहार सरकार के अथक प्रयासों के उलट सूबे में पूर्ण शराबबंदी के सफलता पर लगातार प्रश्न चिन्ह लगना जारी है। हद तो ये की शराब की तस्करी और अवैध कारोबार लगातार जारी है। वही मुजफ्फरपुर में शराब माफिया ने दबंगई और रसूख का जबरदस्त मुज़ाहिरा किया है।उजागर मामले में जिले के शराब माफिया नें उत्पाद विभाग को अवैध शराब की सूचना देने वाले दंपत्ति को न सिर्फ बेरहमी से पीटा है,  बल्कि पंचायत की तरफ से दो लाख रुपये का जुर्माना भी ठोकते हुए पत्नी पति पर लागतार कहर बरपाना जारी रखा है।
यह हैरान कर देने वाली घटना मुज़फ़्फ़रपुर ज़िले के तुर्की थाना क्षेत्र का है। तुर्की थाना क्षेत्र के चोरकरिया गांव में बीते वर्ष 2017 के मई माह में उत्पाद विभाग नें छापामारी कर शिवमंगल सहनी के मुर्गी फॉर्म से भारी मात्रा में शराब जब्त किया था। इस मामले में शिवमंगल सहनी समेत गांव के ही कई लोगो को बतौर अभियुक्त जेल भी जाना पड़ा। यहा तक तो सब कुछ ठीक ठाक रहा। लेकिन विगत दिनों इस मामले में सभी अभियुक्तों को जमानत मिल गई। फिर क्या था जेल से बाहर निकलते ही दंबगई की प्रकाष्ठा का प्रदर्शन करते गांव की बेनी सहनी पर उत्पाद विभाग को सूचना देने का खुलेआम आरोप लगाते कहर बरपाना शुरू कर दिया।
दबंगई का आलम ये है कि बेनी साहनी समेत उसकी पत्नी और बच्चों को जबतब प्रताड़ित करने लगे।अभियुक्तों द्वारा बेनी और उसके परिजनों से आये दिन मारपीट गली गलौज और धमकाने का सिलसिला चल पड़ा। लगातार जारी बेनी सहनी के साथ प्रताड़ना और मारपीट के बाद भी दबंगो का जब मन नही भरा तो अभियुक्तों नें पंचायत बुलाई।
पंचायत भी अभियुक्तों के रसूख के प्रभाव में आकर उत्पाद विभाग द्वारा शराब कारोबारी से  जब्त शराब की कीमत 2 लाख 15 हजार रुपया तय करने के बाद तय राशि को बतौर जुर्माना बेनी सहनी के परिवार से वसूलने का फरमान जारी कर दिया। लेकिन जब बेनी सहनी ने शनिवार को जुर्माना देने से इनकार किया तो पीड़ित परिवार को सरेआम गाँव मे ही बेरहमी से उनकी पिटाई की गई। लागतार जारी प्रताड़ना और फिर बेरहमी से हुई मारपिटाई और जुर्माना नही देने पर मार डालने की धमकी से डरा पीड़ित परिवार अनहोनी की आशंका से डरा सहमा एसएसपी विवेक कुमार से न्याय की गुहार लगाने पहुचा।
एसएसपी नें डीएसपी वेस्ट कृष्ण मुरारी प्रसाद को जांच का आदेश दे दिया है। साथ साथ कहा है कि दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
मामला एसएसपी मुजफ्फरपुर के पास पहुचने के बाद पुलिस की कार्रवाई भी अनुमानित हैं। लेकिन सवाल उठता है आख़िर जिले में इस घटना के बाद क्या कोई भी प्रशासन को मदद करेगा? क्या नीतीश कुमार के सपने को ऐसे कभी पूरा किया जा सकेगा ?

 

Loading...