बिग ब्रेकिंग -आय से अधिक संपत्ति मामले में विजिलेंस ने आईएएस दीपक आनंद के 6 ठिकानों पर किया रेड,पटना सर्किट हाउस से मिले 75 लाख की अचल संपत्ति के कागजात

पटना Live डेस्क। बिहार के छपरा के पूर्व जिला अधिकारी और 2007 बैच के बिहार कैडर के आईएएस अधिकारी दीपक आनंद के चार ठिकानों पर चल रही है स्पेशल विजिलेंस यूनिट की छापेमारी हुई। वेटिंग फ़ॉर पोस्टिंग कर तहत आईएएस दीपक  पटना सर्किट हाउस हाउस में 75 लाख की अचल संपत्ति का दस्तावेज मिला है। जिसमे किसान विकास पत्र,पोस्टल डिपाजिट 25 लाख के आभूषण खरीदने के रसीद भी मिले है।आय से अधिक संपत्ति बनाने की शिकायतों की जांच कर रही विजिलेंस आईएएस दीपक आनंद के घर तक पहुची थी स्पेशल विजिलेंस यूनिट। आईएएस दीपक आनंद के कई ठिकानों पर विजिलेंस और आर्थिक अपराध इकाई की टीम ने छापेमारी की।
छपरा के पूर्व डीएम दीपक आनंद के 6 से अधिक ठिकानों पर विशेष निगरानी इकाई और आर्थिक अपराध इकाई की टीम ने छापेमारी की। टीम ने सीतामढ़ी,पटनाऔर झारखंड के गोड्डा में रेड डाली है। इसके अलावा वैशाली जिला में एक मुखिया के ठिकाने पर भी दबिश दी गई है।               सीतामढ़ी के मूल निवासी

छपरा के पूर्व डीएम दीपक आनंद के कई ठिकानों पर रेड की गई है।सीतामढ़ी कोर्ट बाजार के मूल रूप से रहने वाले आईएएस दीपक आनंद 2007 बैच के बिहार कैडर के आईएएस पदाधिकारी हैं। आरोप है कि उनके द्वारा आय से अधिक संपत्ति अर्जित की गई थी।नोटबंदी के दौरान भी काफी रुपया इधर-उधर जमा कराने की बातें सामने आ रही हैं। सूत्रों की मानें तो वरिष्ठ नौकरशाहों के खिलाफ कार्रवाई करने वाली विशेष निगरानी की टीम ने कई ठिकानों पर छापेमारी की।इन पर आय से अधिक संपत्ति बनाने की शिकायतों की जांच काफी पहले से चल रही है।पत्नी के ठिकानों पर भी दबिश                  आईएएस दीपक आनंद की पत्नी शिखा रानी के कटिहार स्थित ठिकाने पर भी छापामारी की गई है। कटिहार मेडिकल कॉलेज से इनकी पत्नी शिखा रानी रेडियोलोजी विभाग से पोस्ट ग्रेजुएट कर रही है। मेडिकल कॉलेज हॉस्टल के रूम को भी सील कर दिया गया है। वही आईएएस दीपक आनंद के ससुराल में छापा गोड्डा के महगामा में कृष्णा कॉप्लेक्स में पड़ा छापा आईएएस के ससुर का नाम कृष्णानंद भगत है।
केंद्रीय एजेंसी कर रही है जांच                                                       सूत्रों की मानें तो आईएएस दीपक आनंद एजेंसियों के रडार पर आ गए थे।केंद्र सरकार का आयकर विभाग भी इनके खिलाफ नजर बनाए हुए थे।छपरा और बांका जिलों के डीएम रह चुके दीपक आनंद के घर रेड डालने गई विजिलेंस टीम फिलहाल कुछ बोलने से परहेज कर रही है।पहले भी रहे हैं विवादों में                                   दीपक आनंद पढ़ाई में जितने टॉपर रहे थे विवादों से भी उतना ही गहरा नाता रहा है।2007 बैच के आईएएस ने देश भर में 55 रैंक हासिल किया था लेकिन विवादों से इनका पीछा नहीं छूटा। कटिहार मेडिकल कॉलेज में पढ़ाई कर रही पत्नी को रहने की सुविधा के लिए कटिहार जिला प्रशासन द्वारा सरकारी आवास आवंटित किया गया था।हालांकि तत्कालीन कटिहार डीएम ने बताया था कि आवास आईएएस की पत्नी के नाम पर नहीं आवंटित किया गया था बल्कि किसी दूसरे अधिकारी के नाम पर आवंटित आवास का उपयोग दीपक आनंद की पत्नी शिखा रानी कर रही थी। घर में चोरी हुई तब मामला उजागर हुआ था।