आरजू हत्यकांड – मोबाइल…मौत…मातमी माहौल … मनु महाराज और हथियार संग 2 क़ातिल गिरफ्तार

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना के फुलवारी शरीफ में महज मोबाईल पर वायरल हो रहे एक मैसेज के झगडे ने शुक्रवार की शाम खुनी शक्ल अख़्तियार कर लिया। थाना क्षेत्र के नोहसा और नवादा गाँव के लडको में विगत कई दिनो से मोबाईल पर गाली गलौज से भरे मैसेज वायरल हो रहे थे। इसी विवाद में छोटे भाई के झगडे को सुलझाने गये इंतेशार के बड़े बाई आरजू रजा (उम्र 28 वर्ष )को युवकों ने गोली मार हत्या कर दी गई। आरज़ू को बाइक सवार अपराधियों ने गोली मार कर मौत की नींद सुला दिया और हत्याकांड को अंजाम देने के बाद करीब आठ से दस की संख्या मे रहे लड़को का दल बाइक पर सवार हो कर वाल्मी की ओर फरार हो गये।इस हत्या का चश्मदीद मृतक का छोटा भाई इंतेशार के शोर मचाने के बाद नोह्सा के लोग घटनास्थल की ओर दौड़े।


सरे शाम हत्या की वारदात के बाद लोगों मे अफरा तफरी मच गयी और दुकानो का शटर बंद होने लगा। लोगों ने घायल युवक को पीएमसीएच ले गये जहां डाक्टरो ने मृत घोषित कर दिया। युवक की मौत की जानकारी मिलते ही लोग उग्र हो गये और एनएच 98 पर जम कर बवाल काटते हुये आग जनी कारने लगे। सडक जाम कर दिया स्थानीय नोह्सा मोड़ के उस चौमिन दूकान को सडक पर लाकर फूंक दिया। इतना ही नही बवाल कर रहे लोगों ने आस पास के दर्जनों घरों पर पथराव कर मामले को दूसरा रूप देने की कोशिश करने लगे। बवाल की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस पर लोगों ने पथराव करने लगे। हालात को काबू करने के लिए सिटी एसपी सेन्ट्रल अमरकेश डी , सिटी एसपी वेस्ट रविन्द्र कुमार ,एडिशनल एसपी राकेश कुमार दुबे समेत आसपास के थानेदार पहुचे और पुलिस द्वारा हत्यारों की तलाश में छापेमारी शुरू कर दिया।

घटना स्थल पर पहुचे एसएसपी मनु महाराज

मामले की गंभीरता को देखते हुए एसएसपी मनु महाराज भी घटना स्थल पर पहुचे और बवाल कर रहे लोगों से बातचीत कर पहले तो माहौल को सामान्य किया और घटना में शामिल अपराधियों के बाबत जानकारी इकट्ठा कर त्वरित कार्रवाही की पहल करते हुए छापेमारी शुरू करवा दी। साथ ही एसएसपी द्वारा अपराधियों की जल्द गिरफ्तारी के वायदे का फलाफल रहा कि गुस्साई भीड़ शांत हुई और फिर सड़क जाम समाप्त करवाया। अब बारी थी अपराधियों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी के मुहिम की। सही दिशा निर्देश और बेहतर कोर्डिनेशन ने सफलता पाई है और महज़ कुछ घंटे में ही हत्यारो की टोली अहम सदस्य और आरजु हत्त्याकांड में शामिल राहुल और गोलू नामक दो युवको को गिरफ्तार कर लिया गया और हत्या में प्रयुक्त हथियार भी बरामद कर लिया गया। साथ ही अन्य अपराधियों की गिरफ्तारी ख़ातिर ताबड़तोड़ छापेमारी जारी है।