बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Super Exclusive (Interview) तेजप्रताप यादव का सरकार पर जोरदार हमला बताया गुंडा, मवाली और लुटेरे है मंत्री, कहा – शराब पीकर बवाल करने वाले मंत्री की हो फौरन गिरफ्तारी

255

पटना Live डेस्क। पूरी दुनिया और तमाम देशवासियों द्वारा जब अपने अपने ढंग से नए साल का इस्तेकबाल किया जा रहा था। ठीक उसी वक्त वर्ष के पहले ही दिन पश्चिम बंगाल की धर्मनगरी तारापीठ यानी माँ तारा के शह में बिहार सरकार के भाजपाई कोटे से नगर विकास मंत्री के पद पर आसीन सुरेंद्र शर्मा और उनके स्टाफ की होटल सोनार बंगला के भीतर लगे सीसीटीवी फुटेज न केवल फजीहत करा दी है बल्कि मंत्री के स्टाफ की गुंडागर्दी की पोल खोल कर रख दी है। इस घटना को लेकर बिहार की सियासत भी गर्म हो गई है।
बिहार सरकार के मंत्री की दबंगई भरी करतूत के  सीसीटीवी के द्वारा उजागर होने पर राजद के महुआ से विधायक सह पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव ने नीतीश सरकार को आड़े लेते हुए जबरदस्त सियासी हमला किया है। पूर्व स्वास्थ्य मंत्री ने भाजपा कोटे से मंत्री सुरेश शर्मा पर हमला करते हुये कहा कि शराब के नशे में मंत्री ने न केवल दबंगई दिखाई बल्कि कहा है कि साथ मंत्री के गार्ड और समर्थकों ने होटेल स्टाफ पर हाथ छोड़ने के बाद होटल के स्‍टाफ को गोली तक मार देने की धमकी दी। इस हरकत के लिए नीतीश सरकार द्वारा उन्हें फौरन गिरफ्तार कर लेना चाहिए।अपने बयान में तेजप्रताप ने सरकार पर जोरदार हमला करते हुए जदयू और भाजपा के मंत्रियों को गुंडा, मवाली और लुटेरा बताया .. उनका कहना रहा कि

वही तेजप्रताप ने कहा कि सीसीटीवी में साफ साफ दिखता है कि मंत्री के लोगों और कार्बाइन के साथ उनका सुरक्षा कर्मी बिहार पुलिस का जवान लगातार होटल स्टाफ के साथ बदसलूकी बदमाशी करता दिखता है। फिर मंत्री जी के स्टाफ होने की हनक और तैश में अन्य लोग भी होटल स्टाफ को रिसेप्शन काउंटर पर ही धर दबोचते और लप्पड़ थप्पड़ कर देते है। इसी बीच एक पतली स्टिक जैसी किसी चीज़ एक शख्स भी वार करता है। इस दौरान  काउंटर पर रखी फाइल भी फेकते है। फिर हाथ छोड़ते और धमकाने लगते है।
पूर्व स्वास्थ्य मंत्री ने स्पष्ट किया कि सीसीटीवी को देखकर ऐसा प्रतीत होता है कि शायद मंत्री जी का स्टाफ भूल गया था कि वो अपने सूबे में नही किसी अन्य राज्य में है।लेकिन चुकी दबंगई की आदत है। हेकड़ी दिखाने लगे और फिर जवाब में होटल वालों ने जवाबी दबंगई दिखाई तो मंत्री सुरेश शर्मा के आप्‍त सचिव संजीव कुमार अब प्रोटोकॉल और हमले की कहानी कह रहे हैं। बात रहे है कि मंत्री जी के काफिले पर हमला हुआ है।
लेकिन होटल की ओर से मीडिया से साझा किया गया 3 मिनट 43 सेकंड का सीसीटीवी फुटेज मंत्री के स्टाफ की दबंगई की पूरी कहानी ही बयान कर दे रहा है। वायरल हो रहे फुटेज ने मंत्री जी और उनके स्टाफ की दबंगई की सारी पोल ही खोल दी है।

वही दूसरी तरफ तेजप्रताप ने पश्चिम बंगाल के वीरभूम जिले के एसपी के बयान का भी उल्लेख किया जिसमें एसपी द्वारा साफ साफ लहज़े में पूरी घटना के लिए बिहार सरकार के मंत्री सुरेश शर्मा के स्टाफ को ही प्रथमदृष्टया दोषी करार दिया है। एसपी वीरभूम के बयान और होटल का सीसीटीवी फुटेज साफ साफ मंत्री के लोगो की दूसरे राज्य में जाकर दबंगई और मारकुटाई की गवाही दे रहा है।यानी साल के पहले दिन ही बिहार सरकार के भाजपाई मंत्री ने न केवल अपनी करतूतों की वजह से खुद की जबरदस्त फजीहत करवाली है बल्कि सूबे का नाम कर खराब खरब करने में कोई कोर कसर नही रखी।

 

 

Comments are closed.