बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

श्रीलंका पर फॉलोऑन का खतरा,आधी टीम हुई आउट

5

पटना Live डेस्क. भारतीय क्रिकेट टीम की ओर से पहली पारी में खड़े किए गए 600 रनों के विशाल स्कोर के सामने श्री लंका की शुरुआत खराब रही. पहले टेस्ट मैच के दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक श्रीलंका ने अपनी पहली पारी में महज 154 रन बनाए हैं जबकि उसके पांच विकेट आउट हो चुके हैं. गॉल अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में खेले जा रहे इस मैच में श्री लंका ने दिमुथ करुणारत्ने के रूप में अपना पहला विकेट खोया. भारतीय गेंदबाजों ने अच्छी गेंदबाजी की. मोहम्मद शमी ने एक ही ओवर में श्रीलंका को एक के बाद एक 2 झटके दिए. पहले शमी ने गुणारत्न को पहली स्लिप पर खड़े शिखर धवन के हाथों कैच कराया. इसके बाद कुसल मेंडिस अपना खाता भी नहीं खोल पाए और वह भी शमी की ही बॉल पर धवन को कैच थमा कर वापस पविलियल लौट गए. क्रीज पर जम चुके उपुल थारंगा जब अच्छी लय में नजर आ रहे थे तो उसी समय वो 64 रन बनाकर आउट हो गए. एंजेलो मैथ्यूज 54 रन पर खेल रहे हैं.

इससे पहले, अपने पहले दिन बुधवार के स्कोर तीन विकेट पर 399 रनों से खेलने उतरी भारतीय टीम ने अपने खाते में 201 रन जोड़े। पहले दिन के नाबाद बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा (153) और अजिंक्य रहाणे (57) ने चौथे विकेट के लिए 137 रनों की शानदार शतकीय साझेदारी करते हुए टीम को 423 के स्कोर तक पहुंचाया. इसी स्कोर पर नुवान प्रदीप ने पुजारा को विकेट के पीछे खड़े निरोशन डिकवेला के हाथों कैच आउट कर पविलियन भेजा. पुजारा ने अपनी पारी में 13 चौके लगाए. पुजारा के आउट होने के तुरंत बाद ही 423 के ही स्कोर पर रहाणे भी लाहेरु कुमारा की गेंद पर दिमुथ करुणारत्ने के हाथों लपके गए. इसके बाद, रविचंद्र अश्विन (47) और रिद्धिमान साहा (16) ने छठे विकेट के लिए 59 रनों की अर्धशतकीय साझेदारी से टीम का स्कोर 491 तक पहुंचाया. कप्तान रंगना हेराथ ने दिलरुवान परेरा के हाथों साहा को कैच आउट कर इस साझेदारी को तोड़ दिया.

साहा के रूप में भारतीय टीम का छठा विकेट गिरा. इसके बाद टीम के खाते में चार रन और ही जुड़ पाए थे कि श्रीलंकाई गेंदबाज प्रदीप की गेंद पर अश्विन विकेट के पीछे खड़े डिकवेला के हाथों लपके गए. अश्विन के रूप में मेहमान टीम का सांतवा विकेट गिरा. अश्विन के आउट होने के बाद टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण कर रहे हार्दिक पांड्या (50) और रविंद्र जाडेजा (15) ने आठवें विकेट के लिए 22 रन जोड़े थे कि 517 के कुल योग पर प्रदीप ने जाडेजा को बोल्ड कर पविलियन का रास्ता दिखाया.

जाडेजा के बाद मोहम्मद समी (30) ने पांड्या के साथ नौवें विकेट लिए 62 रनों की अर्धशतकीय पारी कर टीम को 579 के स्कोर तक पहुंचाया, लेकिन इसी स्कोर पर लाहिरु कुमारा ने समी को उपुल थारंगा के हाथों कैच आउट कर टीम का नौंवा विकेट भी गिराया.

इसके बाद 600 के कुलयोग पर कुमारा की गेंद पर धनंजय डी सिल्वा के हाथों पंड्या के कैच आउट होने के साथ ही भारतीय पारी समाप्त हो गई. श्री लंका के लिए नुवान प्रदीप ने सबसे अधिक छह विकेट लिए. कुमारा को तीन और रंगना हेराथ को एक सफलता हासिल हुई.

Comments are closed.