बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

अम्बेडकर छात्रावास खाली कराने के विरोध में प्रदर्शन कर रहे छात्रों को पुलिस ने दौड़ा कर पीटा

308

पटना Live डेस्क। पटना का जेपी गोलंबर कुछ देर के लिए रणक्षेत्र बन गया। पुलिस और दलित छात्रों के बीच झड़प होने लगी। छात्र विधानसभा की ओर से बढ़ने की जिद्द कर रहे थे, जबकि पुलिस उन्हें रोक रही थी। इस दौरान कहासूनी शुरू हुई, और झड़प होने लगी। उग्र प्रदर्शन को शांत कराने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। जिस कारण भगदड़ मच गया। छात्र इधर उधर भागने लगे। जिससे थोड़ी देऱ के लिए जेपी गोलंबर पर आवागमन बाधित रहा।
दरअसल अम्बेडकर छात्रावास खाली कराने के लिए विरोध में पटना में पूरे बिहार के दलित छात्र इकट्ठा हुए थे। ये लोग तीन सूत्री मांग को लेकर विधानसभा मार्च कर रहे थे। पटना के गांधी मैदान से निकल ये लोग जेपी गोलंबर पहुंचे। जहां पर पुलिस ने आगे बढ़ने से रोक दिया। पुलिस के रोकते ही छात्र उग्र हो गए। देखते ही देखते झड़प शुरू हो गयी।
अम्बेडकर छात्रावास खाली कराने के विरोध में 25 सितम्बर को पूरे बिहार के दलित छात्र और अम्बेडकर छात्रावास में रहने वाले छात्र राजधानी में आंदोलन का एलान किया था। ऑल बिहार अम्बेडकर कल्याण छात्रावास संघ के अध्यक्ष अमर आजाद ने अंबेडकर छात्रावास को खाली कराने का आदेश वापस लेने के संबंध में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और एससी आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष को पत्र लिखा था।
उन्होंने कहा था कि अम्बेडकर छात्रावास खाली कराने का आदेश वापस नहीँ हुआ तो पटना में बड़ा आंदोलन होगा। संघ का कहना था कि पूरे बिहार के हज़ारों दलित आदिवासी छात्रों को इससे परेशानी होगी। राज्य भर के छात्रावासों में गरीब छात्रों को पढ़ाई में बाधा आ सकती है। संघ का कहना है कि प्रशासन द्वारा छात्रावास खाली नहीं करने की स्थिति में प्रमाण पत्र को रद्द करा देने की धमकी दी जा रही है। संघ का कहना है कि अभी पूरे बिहार में छात्रों की परीक्षा चल रही है, ऐसे में अंबेडकर कल्याण छात्रवास खाली कराने से परेशानी होगी।

Comments are closed.