BiG Breaking (Exclusive वीडियो) पूर्ण शराबबंदी का हाल देखिए,पुलिस लाइन के बैरकों में शराब तलाशती सुशासन की पटना पुलिस की टीम देखिए

513
  • पटना पुलिस लाइन का मुख्य दरवाजा बंद संतरी तैनात
  • पटना एसएसपी एसपी समेत कई पदाधिकारियों के वाहन कैम्पस में मौजूद
  • विभिन्न बैरकों की ली जा रही है तलाशी
  • नवीन आरक्षी केंद्र के रहवासियों का मोबाइल बंद या आउट ऑफ नेटवर्क 

पटना Live डेस्क। बिहार में पूर्ण शराबबंदी लागू है। इसको ज़मीनी हकीकत का अमली जामा पहनाने का जिम्मा खाकी पर है। लेकिन जमीनी हक़ीक़त क्या है इससे आवाम और सिस्टम बखूबी वाकिफ़ है। इसी क्रम में इस वक्त एक बेहद बड़ी खबर सुशासन सरकार के नाक के नीचे से आ रही है। खबर भी ऐसी जगह से आई है जो पुलिसवालों के सामूहिक निवास स्थल के तौर पर जाना जाता है यानी न्यू पुलिस लाइन (नवीन आरक्षी केंद्र) परिसर से मिल रही है। खबर बेहद चौकाने वाली है। रात के अंधेरे में आखिर जिले का पूरा खाकी अमला  कैम्पस में दाखिल हुआ है। इस कवायद से पूरे आरक्षी केंद्र में खलबली है।

मिली जानकारी के अनुसार एसएसपी समेत पटना पुलिस के तमाम वरीय अधिकारी अचानक रात्रि पहर में पुलिस लाइन में दाख़िल हुए है। पुलिस लाइन को लेकर मिल रही शिकायतें और विगत दिनों कुछ शराब सप्लायरों की गिरफ्तारी के बाद हुई पूछताछ में भी कई चौकाने वाले तथ्यों का खुलासा हुआ था जो आरक्षी केंद्र  की ओर इशारे कर रहे थे। अतः पुलिस लाइन में शराब पीने और सप्लाई किये जाने को लेकर उठ रहे सवालों की सत्यता के जांच ख़ातिर यह कार्रवाई की गई है। छापेमारी जारी है पुलिस लाइन का मुख्य दरवाजा बंद कर दिया गया है। सिटी एसपी अभी भी लाइन में मौजूद है। मीडिया का प्रवेश निषेध कर दिया गया है।

विदीत हो कि विगत दिनों सोशल मीडिया में विभिन्न मंचो पर पटना पुलिस लाइन के अंदर खराब पड़े वाहनों और कैम्पस के विभिन्न हिस्सों में बड़ी संख्या में अंग्रेजी शराब (विभिन्न ब्रांडों) की खाली बोतले बिखरे होने की तस्वीर वयरल हुई थी। जिसको लेकर भी शासन की भौहें तन गई थी। वही जब यह मामला सोशल मीडिया की सुर्खियों बना तो कई दैनिक अखबारों ने भी इस खबर को प्रमुखता से छापा। तदुपरान्त बिहार पुलिस के मुखिया डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा था कि “पुलिस लाइन में शराब का मामला बेहद गंभीर है। मामले की जांच पड़ताल कराकर दोषी पाए जाने पर पुलिस कर्मियों ओर कार्रवाई की जाएगी।”

तभी से ये कयास लगाए जा रहे थे कि लाइन में कभी भी जांच पड़ताल की जा सकती है। वही सूत्रों का कहना है कि बीते मंगलवार को भी रात के अंधेरे में पुलिस लाइन में पटना पुलिस के बुटो की खट खट हुई थी पर कुछ विशेष हासिल नही हुआ था।

खबर लिखे जाने तक पुलिस दस्ता नवीन आरक्षी केंद्र के कैम्पस के विभिन्न बैरकों में सर्च अभियान चलाया गया । साथ ही बैरक के तमाम कोनो और आसपास को भी खंगाला और टटोला पर कुुुछ हासिल नही हो सका और तमाम अधिकारी वापस लौट गए।

Loading...