बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News – कोरोना के कहर के बीच पाक क्रिकेट में आया भूचाल दिग्गज़ वसीम अकरम पर लगा मैच फिक्सिंग का आरोप

84

पटना Live डेस्क। सभ्य जनो के खेल कहे जाने वाले क्रिकेट के दामन मैच फ़िक्सिंग के लगे दाग का रंग लगातार गहरा होता जा रहा है। एक बार फिर पाकिस्तान में मैच फिक्सिंग का जिन्न बोतल से बाहर निकल आया है। लेकिन इस बार पाकिस्तान के उस खिलाड़ी का नाम फिक्सिंग से जोड़ा जा रहा है जो न सिर्फ पाकिस्तान टीम की कमान संभाल चुके हैं बल्कि विश्व क्रिकेट में उनका एक मकाम और जलवा जलाल कायम है।

               दरअसल इस बार पाक क्रिकेट के दिग्गजो में शुमार पूर्व कप्तान वसीम अकरम पर मैच फिक्सिंग का गंभीर आरोप लगा है। पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ी अता उर रहमान ने वसीम अकरम पर मैच फिक्सिंग और उनका करियर तबाह करने का सनसनीखेज आरोप लगाकर हड़कंप मचा दिया है।

मैच फिक्सिंग में शामिल थे वसीम अकरम

पाकिस्तान में इन दिनों हर दिन मैच फिक्सिंग में एक नया नाम सुनने के लिए मिलता है। लेकिन अब पाकिस्तान के उस खिलाड़ी का नाम फिक्सिंग से जोड़ा जा रहा है जो न सिर्फ पाकिस्तान टीम की कमान संभाल चुके हैं। बल्कि विश्व क्रिकेट में उनका रुतबा आज भी बरकरार है। पूर्व कप्तान और दिग्गज गेंदबाज वसीम अकरम पर उनके साथी खिलाड़ी अता उर रहमान ने मैच फिक्सिंग का संगीन आरोप लगाया है। अता उर रहमान ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष खालिद महमूद के आरोपों को भी सही ठहराया।

खालिद महमूद ने कई दिन पहले खुलासा करते हुए कहा था कि अता उर रहमान उनके पास आए थे। रहमान ने उन्हें बताया था कि अकरम ने उन्हें पैसे दिलाने का ऑफर दिया है। इसके लिए उन्हें सिर्फ बिना ज्यादा दम लगाए गेंदबाजी करनी होगी। इसके बाद पूर्व पीसीबी अध्यक्ष खालिद महमूद ने रहमान को समझाया था कि आप कमिशन के सामने ये सारी बात रखिये। लेकिन रहमान ने अकरम के दबाव में आकर बयान बदल दिया था।

रहमान ने इन तमाम बातों को सही बताया है।साथ ही रहमान ने ये भी कहा कि वसीम अकरम के कहने पर ही मैंने बयान बदला था। मैंने स्टेंडिंग कमेटी और बोर्ड के सामने अपनी बात कही थी। रहमान ने कहा कि मैं तब तक चुप नहीं बैठूंगा जब तक वसीम अकरम सच्चाई विश्व के सामने नहीं लाते। रहमान ने कहा वसीम अकरम से पूछना चाहिए कि उन्होंने क्या कहा था जब मैच फिक्सिंग के मामले में पूछताछ हो रही थी।

राशिद लतीफ और आमिर सौहेल भी थे अवगत

वसीम अकरम पर फिक्सिंग का आरोप लगाने वाले अता उर रहमान यहीं नहीं रुके। उन्होंने कहा कि राशिद लतीफ और आमिर सौहेल जो देशभक्त बनते हैं, वो भी जानते थे कि वसीम अकरम मैच फिक्सिंग में शामिल हैं। रहमान ने दक्षिण अफ्रीका दौरे का जिक्र करते हुए कहा कि साउथ अफ्रीका दौरे पर वसीम अकमर ने उनकी कप्तानी में टेस्ट मैच खेला था। क्या उन्होंने तब तक कोई बदलाव किया था। रहमान ने कहा कि ये लोग सिर्फ अपने बारे में सोचते थे। इन्हें देश से कुछ लेना देना नहीं था।वो सिर्फ राजनीति करते थे और लोगों को ब्लैकमेल करते थे।

आपको याद दिला दें कि अता उर रहमान को साल 2000 के आस-पास सलीम मलिक के साथ लाइफ़ बैन किया गया था। इस पूरे मामले का सबसे बड़ा पेच ये है कि जिस जस्टिस कयूम की कमेटी ने मैच फिक्सिंग मामले की जांच की थी। उसने भी अपनी रिपोर्ट में सिफारिश की थी कि आने वाले समय में इंजमाम उल हक और वसीम अकरम को कोई बड़ी जिम्मेदारी न दी जाए।

लेकिन उनकी सिफारिशों को नजरअंदाज करते हुए इंजमाम उल हक और वसीम अकरम दोनों को बाद में पाकिस्तान क्रिकेट टीम की कमान सौंपी गई और अब वसीम अकरम पर ही फिक्सिंग का आरोप लगा है। लिहाजा एक बार फिर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड सवालों के घेरे में है।

Comments are closed.