बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

निवेशकों की बेरूखी पर सीएम नीतीश कुमार का छलका दर्द,कहा-‘कानून व्यवस्था ठीक होने के बाद भी नहीं आ रहे निवेशक’

178

पटना Live डेस्क. राज्य से बाहरी निवेशको की बेरुखी का दर्द मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जुबां पर छलक आया..सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार निवेश के लिए सबसे उपयुक्त जगह है लेकिन अभी भी निवेशक यहां नहीं आना चाह रहे हैं…ये बातें मुख्यमंत्री ने पटना में आईट कॉन्क्लेव 2017 को संबोधित करने के दौरान कही…

मुख्यमंत्री ने आईटी को टॉप प्राथमिकता वाला क्षेत्र घोषित करते हुए कई तरह की सुविधा देने की घोषणा भी की… और कॉन्क्लेव में आये आईटी उद्योगपतियों से निवेश का आग्रह किया. सीएम ने कहा कि नालंदा में सरकार आईटी सिटी बनाने के लिए सरकार ने 100 एकड़ जमीन की व्यवस्था की है तो बिहटा में भी आईटी उद्योग के लिए जमीन है…

मुख्यमंत्री ने उद्योगपतियों से निवेश का आग्रह किया. इस मौके पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने भी मेड इन इंडिया के तहत एक उद्योग लगाने का आग्रह उद्योगपतियों से किया… उन्होंने कहा कि बिहार को आईटी हब बनाने की तैयारी शुरु हो चुकी है…

मुख्यमंत्री नीतीश ने इस मौके पर आईटी को प्राथमिकता वाला क्षेत्र घोषित भी किया. सीएम ने कहा कि इस क्षेत्र में निवेश करने वालों को कई तरह की सुविधाएं दी जायेंगी. कॉन्क्लेव में नीतीश ने बिहार में निवेश नहीं होने पर अपनी पीड़ा भी जतायी कहा लोग कानून व्यवस्था की बात करते हैं लेकिन यहां तो वर्षों से सबकुछ ठीक लेकिन विकसित स्थानों में ही निवेश हो रहा है. उन्होंने कहा कि और जगह अरबों रुपये लगाने वाले निवेशक बिहार में करोड़ रुपये ही लगायें फिर उन्हें फर्क दिखेगा. होटल मौर्या में आयोजित कार्यक्रम में डिप्टी सीएम सुशील मोदी, उद्योगमंत्री जयकुमार सिंह सहित देश विदेश से आईटी क्षेत्र के विशेषज्ञ और उद्योगपति शामिल हुए.

Comments are closed.