शिवानंद के आरोपों पर जेडीयू का पलटवार कहा, उनकी कुछ राजनीतिक औकात नहीं!

36

पटना Live डेस्क.  महागठबंधन में अब भी संशय बरकरार है, नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव की बैठक के बाद ये कयास लगाए जा रहे थे कि मामला सुलझ चुका है. मंगलवार को कैबिनेट बैठक के बाद तेजस्वी यादव ने सीएम से मुलाकात के दौरान अपना पक्ष रखा. बैठक के बाद ये कहा गया कि सीएम तेजस्वी के पक्ष से कुछ हद तक सहमत हैं. जिससे ये उम्मीद जगी कि सरकार पर उठता खतरा फिलहाल टल गया है. बैठक के बाद राजद नेताओं के बयान भी आए जिसमें कहा गया कि अब सबकुछ ठीक हो चुका है और गठबंधन सरकार में फिलहाल संकट में नहीं है. राजद खेमे की तरफ से शिवानंद तिवारी खासा सक्रिय थे. रोजाना लालू प्रसाद के आवास पहुंचकर उनके मुलाकात कर मामले पर नजर बनाए शिवानंद तिवारी को लगा कि इस बैठक के बाद सबकुछ ठीक हो गया है. लेकिन दोनों दलों के नेताओं के ताजा बयानों को सुनकर तो ऐसा नहीं लगता कि मामला अभी ठंडा पड़ा है.

हालांकि शिवानंद तिवारी फिलहाल किसी पार्टी के सदस्य नहीं हैं लेकिन ताजा हालात पर वो अपनी भूमिका बनाए रखना चाहते हैं. सो उन्होंने राजद की तरफ से एक बड़ा बयान दिया और सीधे तौर पर सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधा. बस क्या था, जेडीयू ने भी शिवानंद तिवारी के खिलाफ कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर की. शिवानंद तिवारी ने नीतीश कुमार पर गंभीर सवाल उठाए और कहा कि,’ नीतीश कुमार को अपनी साफ-सुथरी छवि की बात नहीं करनी चाहिए. कौन नहीं जानता कि नीतीश कुमार सूरजभान जैसे नेताओं के सामने हाथ जोड़ते रहे हैं. उन्हें सत्ता का मोह है और कुछ नहीं. शिवानंद तिवारी ने कहा कि नीतीश को बीजेपी समर्थन देने की बात कर रही है लेकिन वो बीजेपी को कोई जवाब नहीं दे रहे हैं. ऐसे में चुप्पी साधने का मतलब यही है कि कब वो बीजीपी के साथ चले जाएं कुछ कहा नहीं जा सकता. शिवानंद तिवारी ने तेजस्वी यादव का भरपूर बचाव करते हुए कहा कि वो किस बात का जवाब दें और क्यों दें?तेजस्वी का जवाब मांगना ठीक नहीं है. लोग पहले अपने अंदर झांके.

शिवानंद तिवारी के इस बयान का जेडीयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने करारा जवाब दिया है. जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि शिवानंद तिवारी किसका राजनैतिक अनुष्ठान करने में लगे हैं, सबको पता है। जदयू प्रवक्ता नीरज ने शिवानंद तिवारी के बयान पर तीखा पलटवार करते हुए कहा कि शिवानंद की राजनीति में औकात क्या है?

उन्होंने शिवानंद को राजनीतिक वंशघाती और त्रिशंकु बताते हुए कहा कि तिवारी जिस थाली में खाते उसी में छेद करते रहते हैं। उन्होंने कहा कि शिवानंद राजनीतिक मोक्ष के लिए राज्यसभा जाना चाहते हैं, जबकि जनता ने नीतीश की वजह से ही संसद का मुंह दिखाया है।

 

Loading...