बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News-बिहार में खाकीवाले भी नही सुरक्षित दरोगा की सारण में अपहरण कर नृशंस हत्या

सब्जी खरीदने घर से निकले और फिर लापता हो गए थे दरोगा, दूसरे दिन शाम को मिली लाश

378

पटना Live डेस्क। बिहार में सुशासन है। मतलब कानून का राज़ है। लेकिन हालात का तफ़सरा करे तो कानून के रखवाले भी सूबे मेब सुरक्षित नही रह गए है। एक दारोगा की जिस तरीके से नृशसता पूर्वक हत्या की गई है वो अपने आप मे सूबे मे अपराधियों के बेकाबू होने की मुहर लगाता है। मिली जानकारी के अनुसार सारण जिले के अवतार नगर थाना क्षेत्र के डुमरी जुअरा हाल्ट के समीप समस्तीपुर जिले के मुफस्सिल थाने में तैनात सब-इंस्पेक्टर राणा रवि रंजन प्रताप सिंह की हत्या कर दी गई। हत्या की खबर की सूचना फैलते ही इलाके में सनसनी फैल गयी। मक़तूल सब-इंस्पेक्टर मंगलवार से ही गायब थे। उनके शव को देखने से ऐसा प्रतीत होता है कि गर्दन व सिर पर वार कर हत्या की गई है।

मृतक सब-इंस्पेक्टर राणा रवि रंजन प्रताप सिंह अवतार नगर थाना क्षेत्र के नरांव निवासी देवेंद्र सिंह के 55 वर्षीय पुत्र थे। जानकारी के अनुसार सब-इंस्पेक्टर मंगलवार को दोपहर में अपनी ड्यूटी से छुट्टी लेकर घर आए थे। शाम को घर से सब्जी खरीदने धनौरा बाजार आए थे। यहां से सब्जी खरीद घर भेज दिए और खुद घर नहीं लौटे। लगभग 7 बजे परिजनों ने उनको कॉल किया तो बोले कि थोड़ी देर में आता हूँ। लेकिन जब काफी देर तक नही लौटे तो घर वालो में दुबारा फ़ोन किया तो फ़ोन स्विच ऑफ मिला। जब वो रात 10 बजे तक जब वह घर नहीं लौटे तो चारों तरफ उनकी खोजबीन शुरू की गई। रिश्तेदारों के यहां भी फोन पर पता लगाने की कोशिश की गई लेकिन कोई सुराग नहीं मिला। बेचैन घरवालों ने रात भर इंतजार किया पर वो नही लौटे तो सुबह राणा रवि रंजन प्रताप सिंह के पुत्र अमन प्रताप ने अपने पिता के अपहरण की आशंका व्यक्त करते हुए अवतार नगर थाने में एक प्राथमिकी दर्ज कराई। इसके बाद अवतार नगर पुलिस के साथ ग्रामीण भी चारों तरफ खोजबीन करने लगे।

संध्या पांच तक शक के आधार पर डोरीगंज थाना क्षेत्र के काजीपुर गांव व विभिन्न जगहों पर छापेमारी कर पता लगाने का प्रयास किया गया लेकिन कोई पता नहीं चला। छापेमारी के दौरान ही जब अवतार नगर पुलिस व ग्रामीण डुमरी जुअरा स्टेशन के समीप पहुंचे कि तभी एक युवक ने स्टेशन के समीप खेत के समीप गड्ढ़े में एक शव होने की सूचना पुलिस को दी। इसके बाद पुलिस और सैकड़ो ग्रामीण वहां पहुचे और शव की पहचान की।

एक रॉड, दाब और मिली जाली 

शव के समीप ही पुलिस को एक रॉड, दाब और मिली जाली मिली है। मक़तूल दारोगा के शव के सिर और शरीर पर तमाम जख्म के निशान है जो उनकी नृशसता पूर्वक रॉड और दाब से पीट पीटकर की गई हत्या की ओर इशारा कर रहे है। वही वारदात स्थल के समीप ही कुछ डिस्पोजल ग्लास पाए गए है जो हत्यारों द्वारा शराब पीने की गवाही दे रहे है।

हत्यारों ने पी थी शराब

वही, बकौल परिजनों व ग्रामीणों के मक़तूल दरोगा किसी प्रकार का नशापान नही करते थे। इस से स्पष्ट होता है कि हत्यारों ने शराब का सेवन किया है।मक़तूल दारोगा अपने पीछे भरा पूरा परिवार छोड़ गए है। 3 बेटियों और एक बेटे के पिता थे राणा रवि रंजन प्रताप सिंह।दो बेटियों का ब्याह हो चुका है। वही एक बेटी और बेटा अभी पढ़ाई कर रहे है।

फिलहाल पुलिस लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और मामले के उद्भेदन के लिए एसपी ने एक टीम गठित कर दिया है ।

Comments are closed.